blogid : 319 postid : 1395620

जानें कौन हैं लक्ष्मी अग्रवाल जिनका किरदार निभा रही हैं दीपिका, कहानी सुनकर रोने लगी थीं डीपी

Posted On: 26 Mar, 2019 Bollywood में

Shilpi Singh

खजाना मस्तीजब हों अकेले और उदास कर लें थोड़ी मस्ती से मुलाकात

Entertainment Blog

2758 Posts

670 Comments

दीपिका पादुकोण की अपकमिंग फिल्म ‘छपाक’ का फर्स्ट लुक रिलीज हो गया है। फिल्म के लिए दीपिका का ट्रांसफॉर्मेशन देख सभी हैरान हैं। फर्स्ट लुक में दीपिका हूबहू एसिड अटैक सर्वाइवर लक्ष्मी अग्रवाल की तरह दिख रही हैं। इस लुक के लिए दीपिका को बॉलीवुड स्टार्स के लेकर फिल्म क्रिटिक तक से वाहवाही मिल रही है। मेघना गुलजार के डायरेक्शन में बन रही ये फिल्म लक्ष्मी अग्रवाल की रियल लाइफ स्टोरी पर बेस्ड है। फिल्म में दीपिका के कैरेक्टर का नाम मालती है। अब अगर कुछ लोगों के मन में ये सवाल आ रहा है कि कौन है लक्ष्मी अग्रवाल? तो आइए एक नजर डालते हैं लक्ष्मी अग्रवाल के एसिड अटैक, दर्द, स्ट्रगल, चेलैंज के बाद फिर से स्ट्रांगली खड़े होने की रियल लाइफ मोटिवेशनल स्टोरी पर।

 

 

 

एसिड अटैक सर्वाइवर लक्ष्मी पर फिल्म कर रही हैं दीपिका

 

 

एसिड अटैक सर्वाइवर लक्ष्मी अग्रवाल की जिंदगी पर आधारित फिल्म छपाक में दीपिका लीड रोल निभा रही हैं। जबसे फिल्म से दीपिका का फर्स्ट लुक आया है लोग दीपिका और मेकअप आर्टिस्ट की तारीफ करते नहीं थक रहे हैं। अब बात करते हैं इस फिल्म की असली हीरो लक्ष्मी अग्रवाल की। यह कहानी एक ऐसी मासूम लड़की की है जिसके साथ हुए एक बुरे हादसे ने उसकी पूरी जिंदगी बदलकर रख दी।

 

2005 में लक्ष्मी पर हुआ हमला

 

 

दिल्ली की मिडिल क्लास फैमिली में जन्मी लक्ष्मी अग्रवाल की लाइफ साल 2005 में उस दिन बदल गई जब उनपर एसिड अटैक हुआ। लक्ष्मी रोज की तरह स्कूल से अपने घर जा रही थीं। तभी उनका पीछा करने वाले एक लड़के ने एसिड अटैक कर दिया। ये लड़का लक्ष्मी से दोगुनी उम्र का था और लंबे टाइम से उनके पीछे पड़ा था। लक्ष्मी लड़के का प्रपोजल रिजेक्ट कर चुकी थीं। इसी रिजेक्शन की भड़ास निकालने के लिए लड़के ने उनपर एसिड अटैक किया।

 

मनोहर लोहिया अस्पताल में 2 महीने तक भर्ती थी

 

 

एसिड अटैक के बाद लक्ष्मी 2 महीने तक हॉस्पिटल में एडमिट रहीं और उनको कई बार सर्जरी करानी पड़ी। लक्ष्मी उस वक्त सातवीं क्लास में थीं उन्हें दुनिया की समझ भी नहीं थी। लेकिन इस हादसे ने उनकी जिंदगी पूरी तरह से बदल दी। एसिड अटैक के बाद लक्ष्मी को तुरंत दिल्ली के राम मनोहर लोहिया अस्पताल में भर्ती कराया गया।

 

शरीर की स्किन प्लास्टिक की तरह पिघल रही थी

 

View this post on Instagram

आज आपके बारे में बहुत मन किया लिखने का खुद को रोक नही पाई, जब भी मैं आपसे मिलती हूँ एक अलग एहसास होता है, बहुत पॉजिटिव हो जाती हूँ, जब भी हम साथ होते है टाइम कैसे बीत जाता है पता ही नही चलता है, आज महसूस हुआ आपके साथ एक अलग रिश्ता है, जो ज़ाहिर भी नहीं किया जा सकता है, मैं उस ऐनर्जी को थैंक्स करती हूँ, जो हमारे साथ रहती है और हमें मिलवाती है 😍😍😍😍😘😘😘😘💞💞💞💞 #happyxmas #happynewyear2019 @meghnagulzar

A post shared by Laxmi Agarwal (@thelaxmiagarwal) on

 

लक्ष्मी ने अपने साथ हुए हादसे के बारे में बताते हुए कहा, ‘तेजाब गिरते वक्त मेरे शरीर की स्किन प्लास्टिक की तरह पिघल रही थी। इतना दर्द हो रहा था जैसे उनके सिर पर कई पत्थर रख दिए गए हो।’ जैसे ही लक्ष्मी ने अपने पिता को गले से लगाया उसके छूने से शर्ट कई जगह से जल गई थी।

 

परिवार वालों ने घर के सारे शीशे हटा दिए थे

 

View this post on Instagram

Shoot 😁

A post shared by Laxmi Agarwal (@thelaxmiagarwal) on

 

लक्ष्मी ने बताया कि उनके लिए सबसे ज्यादा खौफनाक मंजर तब था जब वो होश में थीं और डॉक्टर उनकी आंखें सिल रहे थे। वो समझ नहीं पा रही थीं कि उनके साथ क्या हो रहा है। कई सर्जरी के बाद वो अपने घर लौटीं, उनके परिवार वालों ने घर के सारे शीशे हटा दिए थे। एक दिन जब लक्ष्मी ने अपना चेहरा एक शीशे में देखा तो उनका मन किया कि वो खुदकुशी कर ले।

 

लक्ष्मी से लगता था लोगों को डर

 

 

लक्ष्मी ने बताया कि उनके लिए एसिड अटैक के बाद की जिंदगी बहुत कठिन रही। लोग या तो उनका चेहरा देखकर मुंह फेर लेते या फिर बेचारी कहते। लोग उन्हें सलाह देते कि वो चेहरा ढककर रहा करें क्योंकि वो भयानक लगती हैं। लक्ष्मी ने बताया कि एसिड अटैक ने तो एक बार उनके चेहरे को झुलसाया लेकिन अपमान से वो कई बार झुलसी हैं। लक्ष्मी ने बताया कि वो कई बार चाहती थीं कि खुदकुशी कर ले, लेकिन अस्पताल में रोते हुए मां बाप का चेहरा याद आ जाता और फिर उन्होंने ये जिंदगी जीने का फैसला किया।

 

इंटनेशनल विमेन ऑफ करेज का अवॉर्ड जीत चुकी हैं लक्ष्मी

 

 

आज लक्ष्मी एक सेलिब्रिटी बन चुकी हैं, उन्होंने एसिड अटैक से जूझ रही तमाम लड़कियों को अपनी तरह हौसले से जीना सिखाया। आज हर कोई उन्हें जानता है। वो तो इंदौर में हुए एक फैशन शो में भी भाग ले चुकी हैं, अब लक्ष्मी को हर कोई जानता है। साल 2014 में लक्ष्मी को मिशेल ओबामा ने इंटनेशनल विमेन ऑफ करेज का अवॉर्ड भी दिया है। इसके अलावा वो लंदन फैशन वीक में भी रैंप वॉक कर चुकी हैं। लक्ष्मी का शीरोज नाम का कैफे है। ये कैफे तीन राज्यों में चल रहा है।

 

अब सिंगल मदर हैं लक्ष्मी

 

 

लक्ष्मी अपने ब्वॉयफ्रेंड आलोक दीक्षित के साथ लिव इन में रहती थीं, उन दोनों की एक बेटी भी है जिसका नाम पीहू है। लेकिन तीन साल पहले ही कपल आपसी सहमति से अलग हो गया। कपल के अलग होने के बाद लक्ष्मी आर्थिक तंगी से जूझ चुकी हैं, उस दौरान अक्षय कुमार उनकी मदद को आगे आए थे।…Next

 

Read More:

23 साल बड़े एक्टर को डेट कर चुकी हैं कंगना रनौत, एक फिल्म की फीस है इतने करोड़

कभी आर्दश बहू के तौर पर स्मृति ईरानी ने बनाई थी अपनी पहचान, आज है लोकप्रिय नेता

बंगाली फिल्म से रानी मुखर्जी ने किया था डेब्यू, अभिषेक बच्चन के साथ था अफेयर

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग