blogid : 319 postid : 1396483

मां से 500 रुपए लेकर घर से मुंबई भाग गए थे रविकिशन, कभी रामलीला में सीता बनकर तो कभी दूध बेचकर कमाते थे पैसे

Posted On: 17 Jul, 2019 Bollywood में

Pratima Jaiswal

खजाना मस्तीजब हों अकेले और उदास कर लें थोड़ी मस्ती से मुलाकात

Entertainment Blog

2766 Posts

670 Comments

कहते हैं वक्त हर इंसान का बदलता है बल्कि हर इंसान को जीवन में एक मौका ऐसा मिलता है, जिससे वो अपने बुरे दिनों को अच्छे दिनों में बदल सके। संघर्ष के दिनों में सभी को वो चीजें झेलनी पड़ती है, जो वो कभी झेलना नहीं चाहता लेकिन इन दिनों की सबसे सकरात्मक बात यह भी है कि  उदासीन दिन हमें मजबूत बनाते हैं। हमारे आसपास ऐसी बहुत-सी कहानियां हैं, जो इस बात का जीवंत उदाहरण है। ऐसी ही कहानी है भोजपुरी एक्टर से सांसद बने रविकिशन की, जिनकी जिंदगी की कहानी किसी फिल्म से कम नहीं है। आज उनका जन्मदिन है, आइए एक नजर उनकी जिंदगी के सफर पर-

 

 

गरीबी में बीता बचपन, कमाई के लिए रामलीला में किया सीता का रोल
रवि किशन का जन्म मुंबई में ही हुआ थालेकिन उनके पिता का बिजनेस बंद हो गया जिस वजह से उन्हें वापस अपने गांव जौनपुर जाना पड़ा। उस दौरान वो कच्चे घर में रहे और उनके पिता ने खेती करनी शुरू कर दी। रवि किशन शुरू से ही फिल्मों के शौकिन थे और अमिताभ की फिल्में देखा करते थे। उन्हें एक्टिंग का इतना शौक था कि उन दिनों वो पैसे कमाने के लिए रामलीला में सीता का रोल भी किया करते थे।

 

 

पिताजी को नहीं था नाच-गाना पसंद
जहां एक तरफ रवि खुद को अभिनेता के तौर पर निखार रहे थे, वहीं उनके पिताजी को ये काम बेहद खटक रहा था। उनके पिता चाहते थे कि रवि किशन उनके कामों में मदद करे। वो एक्टिंग को नाच-गाने का काम कहा करते थे। जब रवि 17 साल के हुए तो उन्हें उनकी मां 500 रुपये देकर मुंबई भाग जाने को कहा और रवि किशन ने भी अपने सपनों को पर देने के लिए अपना घर और परिवार छोड़ दिया। किशन मुंबई पहुंच गए थे और उसी चॉल में जाकर रहे, जहां उनका परिवार पहले रहा करता था। लेकिन उनके पास काम नहीं था। कभी-कभी तो उन्हें भूखे पेट सड़कों पर रातें गुजारनी पड़ती थी। इस दौरान उन्होंने दूध बेचने से लेकर कई छोटे-छोटे काम किए। कई जगहों पर धक्के खाने के बाद आखिरकार रवि को 1991 में फिल्म ‘पितांबर’ में काम करने का मौका मिला। हालांकि, यह एक बी ग्रेड फिल्म थी लेकिन रवि किशन का काम करने से मतलब था जो उन्हें मिला।

 

 

भोजपुरी फिल्मों से बॉलीवुड का सफर
रवि किशन को धीरे-धीरे ही सही पहचान मिलने लगी थी और अब उन्हें टीवी सीरियल ‘हैलो इंस्पेक्टर’ में काम मिला। रवि किशन की किस्मत तब खुली, जब उन्हें सलमान की सुपरहिट फिल्म ‘तेरे नाम’ में काम करने का मौका मिला। इस फिल्म में उन्होंने पंडित का किरदार किया था और यहीं से उनका एक नया सफर शुरू हुआ। रवि ने कई भोजपुरी ब्लॉकबस्टर फिल्मों में काम किया और स्टार बन गए।

 

 

लोकसभा चुनाव 2019 में चमकी किस्मत
रवि किशन को लोकसभा चुनाव में जीत मिली। रवि अब गोरखपुर से सांसद हैं। रवि किशन को 3 लाख से भी अधिक वोटों से जीत मिली।…Next

 

Read More :

मैक्स चैनल पर क्यों आती है बार-बार ‘सूर्यवंशम’ हंसी-मजाक से अलग अब असली वजह जान लीजिए

कभी गरीबी में जीने वाला लड़का ऐसे बना ‘क्वीन हरीश’ बॉलीवुड ही नहीं विदेशों में भी छोड़ी थी अपने नृत्य की छाप

हनी सिंह के नए गाने के इन शब्दों की वजह से हुआ केस, इन 4 विवादों में भी आया नाम

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग