blogid : 319 postid : 1397236

अस्‍पताल में भर्ती लता मंगेशकर की तबियत में सुधार, यहां सुनिये संघर्ष करने की प्रेरणा देने वाले दीदी के 5 गाने

Posted On: 19 Nov, 2019 Bollywood में

Rizwan Noor Khan

खजाना मस्तीजब हों अकेले और उदास कर लें थोड़ी मस्ती से मुलाकात

Entertainment Blog

2763 Posts

670 Comments

सुर साम्राज्ञी लता मंगेशकर पिछले कई दिनों से अस्‍पताल में इलाज के लिए भर्ती हैं। उन्‍हें सांस लेने में तकलीफ के चलते अचानक अस्‍पताल में भर्ती कराया गया था। उनके इलाज के लिए अमेरिका से आए एक चिकित्‍सकीय दल जांच के बाद हालत में सुधार की बात कही है। दुनियाभर में फैले लता मंगेशकर के प्रशंसक उनकी सलामती की दुआ कर रहे हैं। लता दीदी के वह 5 गाने जो जिंदगी के सबसे कठिन और उदासी भरे दिनों में भी संघर्ष करने और अच्‍छे की उम्‍मीद बनाए रखने की प्रेरणा देते हैं।

 

 

Image result for Lata Mangeshkar jagran.com

 

 

अमेरिका से बुलाए गए डॉक्‍टरों ने जांच की
लता मंगेशकर के परिजनों के मुताबिक लदा दीदी की तबियत में अब सुधार हो रहा है। दिग्‍गज अभिनेता धर्मेंद्र ने सोशल मीडिया पर पोस्‍ट शेयर करते हुए लता दीदी के जल्‍द स्‍वस्‍थ्‍य होने की कामना की है। आरपीजी इंटरप्राइजेज के चेयरमैन हर्ष गोयनका ने ट्वीट कर बताया है कि लता दीदी की हालत में अब सुधार है। उनकी चिकित्‍सकी जांच के लिए अमेरिका की क्‍लीवलैंड क्‍लीनिक के एक चिकित्‍सीय दल ने लदा मंगेशकर की जांच की है। चिकित्‍सकों ने बताया है कि उनकी स्‍थति में अब सुधार हो रहा है।

 

 

 

 

तेरे बिना जिंदगी और लग जा गले
लता मंगेशकर के यह दोनों गाने जिंदगी के संघर्ष को झेलने का सबक देते हैं। लता मंगेशकर और किशोर कुमार के गाए गीत ‘तेरे बिना जिंदगी से कोई शिकवा नहीं’ को 1975 में रिलीज किया गया था। बाद में इसे अल्‍का यागनिक, आरडी बर्मन और हरिहरन ने भी गाया। 2016 में इस गाने को सनम बैंड ने भी रीमेक किया। इसके अलावा लता मंगेशकर का गाना ‘लग जा गले’ भी लोगों को खूब पसंद आया। इस गाने को 1964 में आई फिल्‍म वो कौन थी के लिए फिल्‍माया गया था। इस गाने को राजा मेहंदी अली खान ने लिखा था जबकि मदन मोहन ने इसे अपने म्‍यूजिक से संवारा था।

 

 

 

 

अजीब दास्‍तां, तुझसे नाराज नहीं और इक प्‍यार का नगमा
लता मंगेशकर ने 1960 में कई गाने गाए लेकिन उनके दो गाने लोगों की जुबान पर चढ़ गए। इनमें एक था अजीब दास्‍तां है ये और दूसरा था इक प्‍यार का नगमा है। अजीब दास्‍तां है ये गाने को 1960 में आई फिल्‍म दिल अपना और प्रीत पराई के लिए फिल्‍माया गया था। फिल्‍म में राजकुमार और मीना कुमार की प्रेमकहानी को दर्शकों ने खूब पसंद किया। गाने को शैलेंद्र ने लिखा था और शंकर जयकिशन ने म्‍यूजिक दिया था। इसके बाद 1960 में ही आई सुपरहिट फिल्‍म मासूम के गीत तुझसे नाराज नहीं जिंदगी हैरान है को भी खूब पसंद किया गया। 1972 में फिल्‍म शोर में लता मंगेशकर ने इक प्‍यार का नगमा गाया था। इस गान को संतोष आनंद ने लिखा था और लक्ष्‍मीकांत प्‍यारेलाल ने म्‍यूजिक दिया था।…Next

 

 

Read More:

केबीसी का वो सवाल जिसका उत्‍तर एक्‍सपर्ट भी नहीं दे पाए, कंटेस्‍टेंट को क्विट करना पड़ा गेम

अमिताभ बच्‍चन ने पूछा केबीसी के इतिहास का सबसे कठिन सवाल, कंटेस्‍टेंट को लेनी पड़ीं एक साथ तीन लाइफ लाइन

आयुष्‍मान खुराना की फिल्‍म की इसलिए बदली जा रही बार बार रिलीज डेट, एक साथ रिलीज हो रही हैं ये 7 धांसू फिल्‍में

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग