blogid : 319 postid : 677412

ना प्रेमिका का साथ मिला और ना पत्नी का प्यार

Posted On: 29 Dec, 2013 Bollywood में

खजाना मस्तीजब हों अकेले और उदास कर लें थोड़ी मस्ती से मुलाकात

Entertainment Blog

2076 Posts

669 Comments

किस्मत कब क्या खेल खेलती है यह कोई नहीं जानता. जिस प्रेमिका को बेइंतहा प्यार किया उसका साथ मिलना किस्मत को गवारा नहीं था और जब उसी प्रेमिका को चिढ़ाने के लिए किसी और का हाथ थामा तो वह साथ भी कुछ समय तक के लिए ही रहा. यहां बॉलीवुड के सुपर स्टार राजेश खन्ना का जिक्र हो रहा है. राजेश खन्ना के जीवन में कई लड़कियां आईं जिनमें अंजू महेंद्रू का नाम प्रमुखता के साथ शामिल है. कॅरियर के शुरुआती दौर में ही राजेश खन्ना और अंजू महेंद्रू निकट आ गए थे पर शायद किस्मत को दोनों का साथ गवारा नहीं था.


बॉलीवुड के कुछ खास जानकार बताते हैं कि राजेश खन्ना ने अंजू महेंद्रू को चिढ़ाने के लिए डिंपल खन्ना से शादी की थी लेकिन फिर भी वह उन्हें कभी अपने साथ बांध कर नहीं रख पाए. उनके स्‍वभाव की वजह से डिंपल ने आखिरकार खुद को उनकी जिंदगी से बाहर कर लिया. दोनों ने कभी तलाक तो नहीं लिया पर हां राजेश-डिंपल ने अपने रास्तों को अलग जरूर कर लिया.


एक दौर वह था जब बॉलिवुड के पहले सुपरस्टार राजेश खन्ना की फिल्मों में आज के महानायक अमिताभ बच्चन एक सह अभिनेता की भूमिका में नजर आए थे लेकिन हर सूरज को शाम के साथ ढलना होता है, राजेश खन्ना के साथ भी यही हुआ. कामयाबी ने मुंह मोड़ा तो काका ने मयखाने में जगह ली. पब्लिक के दिलों से कब राजेश खन्ना निकल गए पता ही नहीं चला. सीधे आसमान से जमीन पर गिरने का गम राजेश खन्ना संभाल ना सके.

पत्नी किसी की थी प्यार किसी और से करती थी


जिस समय असफलता राजेश खन्ना के कदमों को आगे नहीं बढ़ने दे रही थी तब राजेश खन्ना से सभी ने नाता तोड़ लिया था. उनकी बीवी उनका साथ छोड़ गई, फिल्मकारों ने मुंह मोड़ लिया इस समय उन्होंने सहारा लिया शराब का. इसी शराब ने हिंदी सिनेमा जगत से उसका पहला सुपरस्टार छीन लिया.



जिस समय राजेश खन्ना आर्थिक रूप से कमजोर थे उस समय तो उन्हें किसी ने पूछा नहीं लेकिन जैसे ही रियल स्टेट के बिजनेस में उन्होंने मुनाफा कमाया लोगों ने उनकी तरफ ध्यान देना शुरू किया. साल 2009 में उन्हें आइफा ने लाइफ टाइम अचीवमेंट अवार्ड दिया तो इशारों-इशारों में उन्होंने अपना दर्द बयां कर दिया. शायद यह दर्द उनके दिल में 18 जुलाई  2012 तक भी रहा जिस दिन उन्होंने अंतिम सांस ली थी. राजेश खन्ना जैसे सितारे बॉलीवुड को कभी भी अलविदा नहीं कह सकते हैं क्योंकि इन्हें आज भी किसी ना किसी रूप में याद किया जाता है. कभी उनके अभिनय के लिए तो कभी उनकी फिल्में और गानों के लिए. आज राजेश खन्ना का जन्मदिन है और उनको याद करने के लिए उनकी फिल्म ‘आनंद’ के गीत के कुछ बोल ही काफी हैं ‘जिंदगी कैसी है पहेली हाय…कभी तो हंसाए, कभी रुलाए’.


अपनी रियासत को दर्शकों के लिए छोड़ चले गए काका !!

राजेश खन्ना के साथ के बाद भी अधूरी ही रहीं !!

एक प्रेमी जोड़े को देख दूसरे भी होते हैं मदहोश


rajesh khanna love life





Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग