blogid : 319 postid : 1337479

90 के दशक का गाना ‘दीवाने तो दीवाने हैं’ याद है? अब गायिका श्वेता करती हैं ये काम

Posted On: 29 Jun, 2017 Bollywood में

खजाना मस्तीजब हों अकेले और उदास कर लें थोड़ी मस्ती से मुलाकात

Entertainment Blog

2076 Posts

669 Comments

पुराने गानों की बात ही कुछ और होती है,  वो गाने आज भी लोगों को याद है या यू कहें जब भी गानों की बात हो तो लोग अक्सर अपने दौर के उन्ही गानों को गुनगुनाते हैं. 1990 को वो दौर था जब पॉप सिंगर्स और एल्बम ने खूब धमाल मचाया था, इस दौर में एक महिला सिंगर ने अपनी छाप छोड़ी थी जिसका नाम था श्वेता शेट्टी, तो चलिए जानते हैं आखिर इतने साल बाद श्वेता हैं कहां.


cover shweta02



दीवाने… दीवाने तो दीवाने हैं से मिली सफलता


shweta-shetty


पॉप सिंगर्स के नाम से मशहूर श्वेता अपनी अलग और बुलंद आवाज के लिए जानी जाती थी. 1993 में आया उनका एल्बम ‘जॉनी जोकर’ उस दौर में बेहद मशहूर हुआ था. उसके बाद 1997 में आए उनके एल्बम ‘दीवाने… दीवाने तो दीवाने हैं..तो आपको जरूर याद होगा. इस गाने की करीब 1.5 मीलियन कॉपी उस दौर में बेची गई थी. श्वेता उन सिंगर को तौर पर जानी जाती हैं जिन्होंने उस दौर में पॉप सिंगर के नाम पर शोहरत पाई थी.


बॉलीवुड के कई सुपरहिट गानों में दी आवाज


shweta


श्वेता ने बॉलीवुड की कई फिल्मों में भी अपनी आवाज दी थी, श्वेता ने ‘बिच्छू’ फिल्म का ‘टोटे टोटे हो गया दिल’ और ‘जमीन’ फिल्म का ‘दिल्ली की सर्दी’ गाना गाया था और ये दोनों ही गाने सुपरहिट हैं. 1994 में रोजा का ‘रुक्मिणी रुक्मिणी’ आया, इसे टाइम मैगजीन ने ऑल टाइम 10 बेस्ट साउंड ट्रैक में रखा गया, जो किसी भी सिंगर के लिए बहुत बड़ी बात थी. फिल्म रंगीला के गाने ‘मांगती है क्या’ ने भी उन्हें खूब पहचान दिलाई. श्वेता उस दौरान एआर.रहमान जैसे संगीतकार के साथ काम कर रही थी.



क्लासिकल म्यूजिक में है महारथ हासिल


shweta-shetty_1


कॉलेज के दिनों से ही श्वेता को थिएटर का बहुत शौक था, श्वेता ने 14 साल की उम्र में क्लासिकल म्यूजिक में ट्रेनिंग लेनी शुरू की. कर्नाटक म्यूजिक में वो ट्रेन्ड हैं. इनका पहला एल्बम 1990 में आया था. इसके बाद 1991 में ‘लंबाड़ा’ नाम की एक और एल्बम आया. 1992 में श्वेता एक रॉक कॉन्सर्ट के लिए गा रही थी जहां पर उनके काम को कुछ लोगों ने सराहा और इसके बाद वो मैग्नम के लिए गाने लगीं. उसके बाद श्वेता ने कभी पिछे मुड़कर नहीं देखा और उन्होंने 1993 में आई ‘जॉनी जोकर’ म्यूज़िक एल्बम से खूब सफलता पाई.

फीमेल पॉप आर्टिस्ट का जीत चुकी हैं अवॉर्ड


Shweta Shetty


उन्हें 2 बार बेस्ट फीमेल पॉप आर्टिस्ट का एमटीवी अवार्ड मिल चुका है. एक बार ‘जॉनी जोकर’ और दूसरी बार ‘दीवाने तो दीवाने हैं’ के लिए. श्वेता इंगलिश सिंगर सारा ब्राइटमैन के साथ हरम नाम की एल्बम में काम कर चुकी हैं.

जर्मनी  में सिखाती हैं योगा



shweaty01


1996 में ‘कान’ फंक्शन के दौरान श्वेता की मुलाकात क्लेमेन्स ब्रैंडट से हुई और वहीं पर दोनों ने एक दूसरे का साथ आने का फैसला कर लिया और एक साल बाद 1997 में श्वेता ने जर्मनी के क्लेमेन्स ब्रैंडट से शादी की और फिर हैम्बर्ग में सेटल हो गईं.  श्वेता जर्मनी में अपना योग स्कूल चलाती हैं, इसका नाम है श्वेतासना. अब वो बहुत कम या फिर किसी काम के सिलसिले में भारत आती हैं…Next


Read More:

किसी ने 17 तो किसी ने 29 साल में निभाया मां का किरदार, ये अभिनेत्रियां खुद से ज्यादा उम्र के बच्चों की मां

बचपन में धमाल मचाने वाले ये चाइल्ड आर्टिस्ट, बड़े होकर नहीं कर पाए कोई कमाल

बॉलीवुड में सुपरहिट रहने वाली ये अभिनेत्रियां छोटे पर्दे पर हुईं फ्लॉप

किसी ने 17 तो किसी ने 29 साल में निभाया मां का किरदार, ये अभिनेत्रियां खुद से ज्यादा उम्र के बच्चों की मां
बचपन में धमाल मचाने वाले ये चाइल्ड आर्टिस्ट, बड़े होकर नहीं कर पाए कोई कमाल
बॉलीवुड में सुपरहिट रहने वाली ये अभिनेत्रियां छोटे पर्दे पर हुईं फ्लॉप


Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग