blogid : 8098 postid : 15

टीम अन्ना समस्या है या समाधान ?

Posted On: 28 Mar, 2012 Others में

युवामंचसत्यमेव जयते

Govind Bharatvanshi

69 Posts

19 Comments

आदरणीय मित्रों ,सादर अभिवादन  .जनलोकपाल क़ानून के लिए  टीम अन्ना फिर से मैदान में कूदने के लिए तैयार है |पूर्व के आंदोलनों चाहे वो जंतर मंतर का अप्रैल अनशन हो या रामलीला मैदान की अगस्त क्रान्ति का लालीपाप जश्न हो, भ्रष्टाचार से मुक्ति के लिए आम नागरिक की हैसियत से मैं सभी आंदोलनों का समर्थन करता रहा ,इनके ऊपर अक्सर प्रश्न भी उठते रहते हैं लेकिन उनको दुर्भावना से ग्रसित बताया जाता है | फिर  इनका समर्थन करने से पहले एकबार इनको समझना चाहता हूँ ,  अपने अल्पज्ञान से कुछ प्रश्नों का उत्तर खोजने का प्रयास करता हूँ ,मूल प्रश्न यही है कि टीम अन्ना समस्या है या समाधान ?

क्या है टीम अन्ना ?..इंडिया अगेंस्ट करप्शन के बैनर तले और प्रख्यात समाजसेवी अन्नाहजारे जी के चेहरे के पीछे कुछ लोगों ने एक संगठन बनाया जिसे टीम अन्ना कहा जाता है ,मुख्य चेहरों को देखें तो पायेंगे कि अधिकतर लोग एन जी ओ से जुड़े हैं ,जो विदेशों से भी मोटा चंदा/अनुदान प्राप्त करते हैं , आज की तारीख में एन जी ओ भ्रष्टाचार का सबसे उन्नत रास्ता है ,कह सकते हैं कि हींग लगे ना फिटकरी रंग निकले चोखा !  नेताओ, अधिकारिओं , दलालों का असली साइड बिजनेस यही एन जी ओ हैं ,एन जी ओ समाजसेवा की आड़ में स्वार्थसिद्धि के सबसे बड़ा माध्यम बन चुके हैं ,आश्चर्य तब होता है जब भ्रष्टाचार को मिटाने के लिए सबकुछ समर्पित करने का दावा करने वाली टीम अन्ना एन जी ओ को लोकपाल से बाहर रखने पर अडिग रहती है !….आखिर क्यों ?

क्या चाहती है टीम अन्ना  ? टीम अन्ना अभी तो केवल जनलोकपाल की बात करती है ,उसके लिए आंदोलनरत है ,यह क़ानून बनने के बाद  फिर चुनाव सुधार और कई मुद्दों पर आन्दोलन करने की बात करती है , ये दूसरी आजादी की बात भी करते हैं , अब यदि दूसरी आजादी के लिए इनके तौर तरीके अपनाये जायेंगे तो कम से कम चालीस पचास साल लग जायेंगे और तब तक  दुनिया पूरी बदल जायेगी ! क्या तब तक भारत देश लुटता रहेगा ?

कौन हैं टीम अन्ना में ? टीम अन्ना के मुख्या चेहरे अरविन्द केजरीवाल ,प्रशांतभूषण ,शशिभूषण ,किरण बेदी ,कुमार विश्वास ,मनीष शिशौदिया आदि हैं ,सबका काम एन जी ओ के इर्द गिर्द ही है , जो भ्रष्टाचार का सबसे सुरक्षित रास्ता माना जाता है ,कुमार विश्वास एक प्रतिभाशाली कवि और वक्ता हैं , भूषण पिता पुत्र प्रख्यात वकील हैं जिनका प्रगाढ़ सम्बन्ध प्रमाणित और स्वघोषित दलाल अमर सिंह से रहा है ,कई मामलों में अदालतों को अपने प्रभाव और लेनदेन से प्रभावित करने की बातें भी सामने आती रहती हैं | देश  इनके ऊपर विश्वास क्यों करे ?

अब बड़ा प्रश्न यह है कि जब स्वामी रामदेव जी देश में लुटेरी व्यवस्था परिवर्तन की जन जागृति ला रहे थे तभी इन्होने आंदोलन किया ! उसकी सफलता में स्वामी जी का बहुत बड़ा योगदान रहा है , फिर भी टीम के कई सदस्यों ने अलग अलग स्वामी जी का अपमान क्यों किया ?

शाही इमाम बुखारी जो खुद को पाकिस्तानी मानते हैं, उनको मनाने के लिए टीम अन्ना क्यों गयी ?

हरबार स्वामी जी से पूरा समर्थन मिलने के बावजूद इन्होने सदैव उनसे निश्चित दूरी ही बनाये रखी ! अब फिर उनसे सहयोग लेने का प्रयास करने लगे हैं ,क्या ये अवसरवादी नही हैं ?

मैं शुरू से ही यह मानता रहा हूँ कि अन्नाजी स्वामीजी के सहयोगी हैं , अभी भी अन्नाजी के प्रति पूरा सम्मान है लेकिन मैं यह समझ नही पा रहा हूँ कि देश में व्यापक सार्थक परिवर्तन के रास्ते में टीम अन्ना समस्या है या समाधान ? यदि किसी के पास इसका उत्तर है तो कृपया अवश्य बताएं ,बहुत आभारी रहूँगा .

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (2 votes, average: 3.50 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग