blogid : 12455 postid : 1378305

ख़बरें कुछ इधर की कुछ उधर की

Posted On: 23 Jan, 2018 Others में

jagate rahoJust another weblog

harirawat

427 Posts

1015 Comments

कम्युनिष्ट का मतलब कौम के दुश्मन, ये सही शब्द इस्तेमाल कर ही नहीं सकते ! इनको तोड़ना आता है जोड़ना नहीं ! ये लोग वही हैं जिन्होंने संन बासठ में चीन का समर्थन किया था ! कल कांग्रेस की बुराई करते थे आज मोदीजी की बुराई कर रहे हैं ! उधर कांग्रेस का प्रिंस “भाजपा झूटी है, मोदीजी के सारे काम अधर में लटक रहे हैं, उन्होंने नोट बंदी करा के कही धन पतियों के अरबों दबाये हुए धन को बाहर निकलवा करके उनकी निजी जिंदगी में दखलंदाजी की है, जो अच्छी बात नहीं है”, इस तरह की भाषण वाजी करके अपना रुतवा बढ़ाना चाहता है ! लालू को कोर्ट ने उसके दुष्कर्मों की सजा दी है, तो कांग्रेसी बहती गंगा में डुबकी लगाने की जुगत भिड़ा रहे हैं ! ये भूल गए हैं की वे कांग्रेसी ही थे जिन्होंने १९८४ के दंगों में पंजाब में कितना गुंडागर्दी मचाई थी ! बोफोर्स में जो लूट मचाई थी उसकी फाइल अभी निकलनी बाकी है ! कांग्रेस अब उन लोगों की मरहम पट्टी करने लगा है जो अपनी अयोग्यता के कारण जनता द्वारा दुद्कारे गए हैं, जिनका कैरियर उनके दुष्कर्मों के धुंवे की लपटों में ढक गया है ! विश्व हिन्दू परिषद् का परवीन तोगड़िया आँखों में आंसू भरकर कहता है की “आईबी मेरा एनकाउंटर करना चाहती है, तथा ये सारी कार्यवाही दिल्ली के बॉस के इशारे पर की जा रही है”, जैसे दिल्ली में बैठे बॉस को प्रवीण तोगड़िया के बारे में सोचने के अलावा कोइ और काम नहीं है ! मेरी ये समझ में नहीं आ रहा है की ये नेता जो अब करीब करीब हासिए पर आ चुके हैं, इनका इनकाउंटर करके किसको फ़ायदा होने वाला है ! ये मीडिया में अपनी सूरत को दिखाने के लिए ऐसे हथकंडे अपनाते हैं ! मैं ठहरा फौजी ऐसे हथकंडे अपनाना अपने बस के बाहर है ! आज तक आपने हिन्दू धर्म की काफी सेवा की है, अब राम का नाम जपो और अपनी आत्मा को शुद्ध करो ! रही लालूजी के केस की बात तो, शायद जनता भूली नहीं होगी, कांग्रेस के राज में ही “मवेशी चारा घोटाला कांड ” खुला था, जिसके कारण लालू जी को जेल हुई थी और उन्होंने अपने पत्नी राबड़ी देवी को मुख्य मंत्री की कुर्सी पर बिठा दिया था और स्वयं जेल चले गए थे ! अब जब कोर्ट ने सारे सबूतों को माध्यम बनाकर लालूजी को जेल भेजा तो वो अपने को “मर्यादा पुरुषोतम” की पदवी से विभूषित कर रहे हैं, तथा जेल जाने की वजह मोदी जी को बता रहे हैं ! कहाँ तक झूट बोलोगे, अरे यमराज के डंडे से डरो ! लालू जी ‘भगवान् श्री राम अपने शुभ कर्मों से मर्यादा पुरुषोत्तम बने हैं, मुख्य मंत्री बनकर भ्रष्टाचार करके नहीं ! भारत की जनता ने देश के सारे भ्रष्टाचारी नेताओं तथा इनको सरंक्षण देने वाली पाटियों को नकार दिया है ! सरकार ने इस साल से मुसलमानों को हज यात्रा पर दी जाने वाली सहायता बंद कर दी है तथा ये पूरा पैसा मुस्लिम गरीब बच्चों के भविष्य को सुधारने के लिए खर्च करने का निर्णय लिया है ! बहुतों ने सरकार के इस कदम का स्वागत किया है ! मैं सरकार के इस फैसले का तहे दिल से स्वागत करता हूँ ! धार्मिक यात्रा अगर अपने बल बुते पर की जाती है तो वही फलदायक होती है ! चंदे से या दूसरों के द्वारा दी गयी खैरात से की गयी यात्रा का फल नहीं मिलता है !

हरियाणा राज्य में होने वाले रेप और हत्याकांडों की खबरें रोज समाचार पत्रों के मुख्य पृष्ठों पर नजर आ रही हैं ! मानव का मुखोटों में दुर्दांत राक्षस तीन तीन साल की बच्चियों को हवस का शिकार बनाते हैं और निर्दयता से उनकी हत्या कर देते हैं ! ऐसे दुर्जनों को तुरंत फांसी पर चढ़ा दिया जाना चाहिए ! हरियाणा विधान सभा के भूतपूर्व अध्यक्ष ने तो मुख्य मंत्री खट्टर से त्याग पत्र तक की मांग की है ! कानून व्यवस्था दुरुस्त होनी चाहिए, सुरक्षा कर्मियों को नन्नी नन्नी बच्चों की रक्षा का भार वाहन करना चाहिए अपनी खुद की बच्ची समझ
कर !

कांग्रेस पार्टी के लोग आजकल मोदी जी की स्टाइलिस्ट कपड़ों पर शोर मचा रहे हैं ! इनके नेता जानना चाहते थे की आखिर मोदी जी रोज नए नए वस्त्र पहिनते हैं आखिर इन फैशनपरस्त ड्रेसों के लिए वे कहीं सरकारी पैसों का दुरुप्रयोग तो नहीं कर रहे हैं ! इन्होने या किसी दूसरी पार्टी वालों ने कभी किसी प्रधान मंत्री के कपड़ों पर कभी ऊँगली नहीं उठाई ! फिर भी आरटीआई वालों ने इसकी छान वीन की लेकिन सरकारी खजाने से एक सिंगल पैसा भी मोदी के निजी खर्चे में मिला ! राहुल गाँधी के जीजी व दीदी के ऊपर करोड़ों के हेर फेर के मामले बाहर निकालके आ रहे हैं, इस पर सब मौन हैं, विपक्ष भी और मीडिया भी ! ” बुराई कर बुरा होगा, भलाई कर भला होगा, कोई देखे नहीं देखे खुदा तो देखता होगा” !
हाल ही में सुप्रीम कोर्ट के चार न्यायधीशों ने अपने मुख्य न्यायधीश के खिलाफ प्रेस कांफ्रेंस की और परम्पराओं को ताक में रखकर एक तरह से अपने बॉस की कार्यप्रणाली पर ही उंगली उठा दी ! हिन्दुस्तान की उच्चतम न्यायपालिका में न्यायधीशों द्वारा अनुशासन हीनता दिखाने का पहला अवसर है ! न्यायपालिका न्याय का मंदिर बताया जाता है और वहां न्याय की कुर्सी पर बैठने वालों को न्याय देने वाला धर्मराज की उपाधी दी जाती थी ! इस दुर्घटना से जनता का विश्वास भी डगमगाने लगा है !
जम्मू काश्मीर में पाकिस्तान बार बार सीज फायर संधि का उल्लंघन करके भारतीय सीमा के अंदर घुस कर अचानक भारतीय पोस्टों पर अटैक कर देता है ! साथ ही आतंकवादियों को हत्यारों से लैश करके सीमा के अंदर निर्दोष नागरिकों की ह्त्या करवा कर दहसत गर्दी फैलाता है ! भारतीय सेना ने भी “टिट फॉर टाइट” की तर्ज पर पाकिस्तानी सीमा के अंदर जाकर नए साल में उनके सैनिक और आतंकियों के बड़े बड़े नामी गरमी खूंखार सरगनाओं को जहन्नुम पहुंचाफिर तरस आजाय और आने वाले चुनाव में आपकी पार्टी के उम्मीदवारों दिया है !
अभी हाल ही में एक नया धमाका दिल्ली की राजनीति में और हुआ है, केजरीवाल सुरक्षित आम आदमी पार्टी के २० विधायकों को अयोग्य घोषित किया गया ! इस फरमान पर भारत के सर्वोत्तम सिरमौर राष्ट्रपति जी की मोहर लग चुकी है ! उधर केजरीवाल तथा इनके चमचे अपने गुनाहों पर पर्दा डालते हुए केंद्र सरकार, मुख्य चुनाव अधिकारी को इसका जिम्मेदार बता रहे हैं, जनता को गुमराह करने के लिए ! केजरीवाल जी चाहे जितना भी सर पैर मार लो, अब तो सत्ता और आम आदमी का विश्वास आपने अपने कुकर्मों से खो दिया है !, जितने अपशब्द आपके शब्द कोष में हैं, सबको निकाल लो, क्यों की अच्छे शब्द तो आपके शब्द कोष में हैं ही नहीं और आगे से आपको कहने का मौक़ा भी नहीं मिलेगा ! संविधान के प्रति आपकी गुस्ताखी के लिए क़ानून आपको तथा आपके अशिक्षित चमचों को कभी माफ़ नहीं करेगा ! रही सही इज्जत बचानी है तो मेरी बात मानों इस्तीफा दो और दुबारा जनता में जाकर अपने गुनाहों की माफ़ी मांगो ! हो सकता है जनता को आपकी पार्टी पर तरस आजाय और काम से काम आपि पार्टी के उम्मीदवारों की जमानत बच जाय ! ऐसे समाचार पढ़ते पढ़ते जी उकता जाता है, इजाजत हो तो जरा मुस्करा लें ?

पंडितजी – जजमान, केवल दो हजार रुपयों में पूजा करके आपको स्वर्ग का राज दिला दूंगा !
जजमान – पंडित जी आप केवल एक सौ रुपए देदो मैं आपको सोने की लंका का राज पाठ दे दूंगा !
पंडित जी – लंका क्या आपकी है ?
जजमान – और स्वर्ग क्या आपके बाप का है ?

मध्य प्रदेश बैतूल में पुलिस को देखकर मुर्गों पर दाव लगाने वाले भाग खड़े हुए और मुर्गे सरकारी मेहमान बन गए !

शादी के बाद बीबी को लगता है की पति को उसकी माँ भड़काती होगी,
उधर माँ को लगता है की बेटा बीबी का गुलाम बनता जा रहा है !

एक मनचला – नौकरी और बीबी एक ही सिके के दो पहलू हैं, लेने के बाद छोड़ नहीं सकते, एक के रहते दूसरी कर नहीं सकते,
हाँ इनमें एक बात कॉमन जरूर है की अपनी के मुकाबले दूसरे की सुन्दर लगती है !

सुनने पढ़ने के लिए धन्यवाद ! अगर आप चाहेंगे तो अगली बार फिर मुलाक़ात होगी ! जयहिंद !

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग