blogid : 2824 postid : 785441

kyaaगरबा खेलना इस्लाम के खिलाफ नहीं है !!-सुभाष बुड़ावन वाला

Posted On: 16 Sep, 2014 Others में

koi bhi ladki psand nhi aati!!!Just another weblog

सुभाष बुड़ावन वाला

805 Posts

46 Comments

1:- दशहरे पर राम भरत मिलाप के
समय रथ अगर मस्जिद से छु जाए
तो मस्जिद नापाक ।

लेकिन गरबा खेल सकते
है !!!!!!!!!!!!!!!!!!
2:- होली पर अगर रंग पड़ जाए
तो दंगा क्योंकि इस्लाम में वर्जित
है रंग ।
लेकिन गरबा खेल सकते
है !!!!!!!!!!!!!!!!!!
3:- गौहर खान दिवाली पर और
हमीद अंसारी दशहरे पर आरती करने से मना करते
है
क्योंकि इस्लाम इजाज़त
नहीं देता ।
लेकिन गरबा खेल सकते
है !!!!!!!!!!!!!!!!!!
4:- केरल सरकार के मंत्री समाहरोह में
माँ सरस्वती के
सामने दीप नहीं जला सकते
क्योंकि सेकुलरिस्म और इस्लाम
को खतरा हो सकता है ।
लेकिन गरबा खेल सकते
है !!!!!!!!!!!!!!!!!! 5:- कोई मुस्लिम अगर गणेश
पूजन करता है तो ज़ाकिर नाईक
उसे ” काफिर ” बोलता है ।
लेकिन गरबा खेल सकते
है !!!!!!!!!!!!!!!!!!
6:- राष्ट्रवादी काँग्रेस पार्टी ने अपने चुनाव
प्रचार की शुरुआत
“साम्प्रदायिक पद्धति” से
नारियल फोड़कर की और पार्टी के
एक ” मुस्लिम ” नेता को नारियल
फोड़ना इस्लाम के खिलाफ लगा ।
लेकिन गरबा खेलना इस्लाम के खिलाफ
नहीं है !
!-सुभाष बुड़ावन वाला18,शांतीनाथ कार्नर,खाचरौद[म्प]*

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग