blogid : 15051 postid : 841551

नमो ओ बा मा बसंती गणतंत्र नमः ...सपनों का भारत .

Posted On: 24 Jan, 2015 Others में

PAPI HARISHCHANDRASACH JO PAP HO JAYEY

PAPI HARISHCHANDRA

232 Posts

935 Comments

दुनियां के सर्व शक्तिशाली देश का सर्व शक्तिशाली राष्टाध्यक्ष ओ बा मा का स्वागत प्रकृति भी अपने बसंती रूप मैं स्वागत को तैयार है | गुनगुनाती धुप ,गुनगुनाती ठण्ड मैं खिले खिले फूल सब स्वयं ही बसन्ती रंग विखेर रही है | ऐसे मैं भारतीय जनता पार्टी का सर्वत्र भगवा रंग भी बसन्ती मैं मेल खाता दिखेगा | जिधर देखो बसंत ही बसंत ……| भा जा पा की मजबूत सरकार के मजबूत दहाड़ते योगेश्वर से नरेंद्र मोदी,सर्वत्र छाई जनता , जिस को देखो बसन्ती रूप मैं ही देखोगे | ओ बा मा भी अपनी दृष्टी दोष भ्रम समझते ऑंखें मलते रह जायेंगे | प्रकृति बसंती, समस्त भारतीय बसंती रंग मैं रंगे होंगे | होली दीवाली तो दुनियां मैं अपनी रंगीन छठा विखेरती मसहूर है | किन्तु गणतंत्र भी ऐसा अनोखा बसन्ती होगा इसकी कल्पना भी दुनियां ने नहीं की होगी | ऑंखें फटी की फटी रह जाएंगी ओ बा मा की | लोग नमो ओ बा मा की कल्पना कर रहे होंगे ,किन्तु ओ बा मा के मुंह से निकल ही जायेगा …...नमो नमः ………| ……ओ बा मा यह तो नमो ने चमत्कार ही कर दिया | जैसे कोई भयभीत या आश्चर्य जनक देखकर कह उठता है ओ माई गाड़…..ओ मेरे भगवन …ओ बा बा …..ओ माँ माँ …..ओ मम्मी ….ओ पापा ……| वैसे ही हम भारतीय तो कहेंगे ओ बा मा …. …जबकि ओबामा कहेंगे…..नमो नमः ..……..| ………………………………………………….अजीब मदहोस करने वाला ही होता है बसंत ….| कामदेव का तो बाण बसंत मैं अचूक होता है | सर्वत्र कामनियाँ दिल को घायल करती विचरण करती नजर आती हैं | खिले खिले फूल तो उसमें उत्प्रेरक बनते हैं | ऐसे मैं ओ बा माँ कैसे अपने मन मष्तिष्क को घायल होने से रोक पाएंगे | शायद नमो का गीता ज्ञान ,योगी शरीर अपने योगासन से , गृहष्ट के माया मोह को त्याग करने की सन्यासी शक्ति से संयमित करने की सीख देंगे | कामदेव को तो केवल भगवन शिव ही भष्म कर सके थे किन्तु नमो ने यह सिद्धी भी प्राप्त कर दुनियां को दिखा दिया | नमो अपने ज्ञान से प्रकृति जन्य भावों से भटकाने के लिए ही ओ बा माँ को भगवा रंगों की और आकर्षित करेंगे | हमें विकास चाहिए ,विकास के लिए ही तो हम प्रयासरत हैं और सर्व शक्तिमान अमेरिका के सर्व सक्तिमान व्यक्ति ओ बा माँ को बसन्ती स्वागत कर रहे हैं |बसन्ती लहर मैं कहीं पथ भ्रष्ट न कर दे कामदेव ,इसी लिए भगवा वस्त्र आवश्यक होता है | गीता मैं कहा भी है की त्याग से ही भगवत प्राप्ति होती है | इसीलिये पहिली श्रेणी का त्याग गृहस्थाश्रम का त्याग कर दिया | क्यों की भगवन कृष्ण ने कहा है की काम ही सब बुराईयों का जनक होता है | इस काम को मार डालो | अपने लक्ष और विकास मार्ग का बाधक होता है यह काम | इसीलिये राम राज्य की स्थापना हेतु भगवन राम का अनुसरण करते पत्नी का त्याग करते भगवा वस्त्र धारण किया | महात्मा गांधी का अनुसरण करते लोगों ने देश आजाद किया | नमो का अनुसरण करते भारतवर्ष भगवा वस्त्र धारण करते देश काम मुक्त हो जायेगा | फिर कोई बलात्कार जैसी घृणीत घटनाएँ नहीं होंगी देश मैं चरम विकास होगा | ओ बा माँ आपका महान शक्ति शाली देश विकसित कहा जाता है किन्तु काम का नाश करके भारत विश्व गुरु बन जायेगा | हमारा एक लक्ष्य है इसलिए यदि राम के साथ सीता आतिथ्य मैं न दिखे तो अन्यथा न लेना | हमारा पूरा देश ही नहीं सम्पूर्ण प्रकृति भी अपनी बसन्ती स्वागत करेगी | हिंदुस्तान के सन्यास योग आत्म शांति का भगवत दर्शन का अनोखा योग है जिसका अनुसरण करोङो सन्यासी कर रहे हैं | योग गुरु स्वामी रामदेव जी कितने संतोषी सन्यासी हैं उनको किसी पद्म विभूषण जैसे पुरस्कारों की आकांक्षा नहीं है वे माया मोह को त्याग २००० करोड़ नश्वर माया के सन्यासी हैं उनके पास आत्म शांति पूर्ववत भंडारित है | माया मोह को त्यागो भगवा वस्त्र धारण करो और बसन्ती नरक के द्वारों(काम क्रोध मद लोभ मोह ) को भूल जाओ | ओम शांति शांति का कितना सुगम मार्ग है | नमो ने अपनाया यदि ओ बा माँ जी यदि आप ने अपनाया तो इसमें कोई संसय नहीं रहेगा की विश्व भी भगवा वस्त्र धारण कर माया मोह को त्याग कर शांति पाता जायेगा | .ताज महल फिर माया मोह से फिर जुड़ने का ही तो लोभ देगा त्याग भावना के लिए ऐसे मोहकारक तत्वों से दूर ही रहना उचित होगा | ………………………………………………………….. हर हिन्दुस्तानी ही नहीं सम्पूर्ण विश्व शहीद फिल्म का यही गीत गता भगवा धारण कर लेगा ………………………………मेरा रंग दे बसन्ती चोला मेरा रंग दे …………………………………..ओम शांति शांति

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग