blogid : 15051 postid : 1232032

मोदी..,नरेन्द्र(श्रीकृष्ण)से विश्वगुरु(पुरुषोत्तम)

Posted On: 24 Aug, 2016 Others में

PAPI HARISHCHANDRASACH JO PAP HO JAYEY

PAPI HARISHCHANDRA

232 Posts

935 Comments

व्यंग .….अब कलियुग है | राजतन्त्र न होकर लोकतंत्र है जिसमें सभी को पुरुषोत्तम सिद्ध करने का सामान अधिकार प्राप्त है | ….कांग्रेस युग के अनेकानेक पुरुषोत्तम होते रहे | जिन्हें पुरुषोत्तम बनने मैं लंबा समय लगा | किन्तु अब इन्टरनेट युग आ चूका है | रोबोट युग है ,टेक्नोलॉजी दिन दूनी रात चौगुनी विकसित हो रही है | अतः पुरुषोत्तम भी मात्र क्लिक से ही बन रहे हैं |……………….Image result for shri krishna images…………………………………………………………..बचपन से ही छोटे छोटे राज्यों को फतह करते श्रीकृष्ण नरेन्द्र बने | इस लोक के कंस जैसे राक्षस का नाश करके ,और अन्य असंख्य राजाओं को परास्त करते करते श्रीकृष्ण नरोत्तम बन गए किन्तु नरोत्तम उनका लक्ष्य नहीं था वे अपने को सम्पूर्ण विश्व का गुरु यानि पुरुषोत्तम सिद्ध करना चाहते थे | पुरुषोत्तम यानि विश्व गुरु …….|  अतः महाभारत ही साध्य था | जिससे पहिले विराट स्वरुप को दर्शाना और श्रीमद भगवत गीता से अर्जुन को प्रोत्साहित करना मार्ग बना | अंततः महाभारत मैं विजय से श्रीकृष्ण पुरुषोत्तम (विश्व गुरु ) सिद्ध हो ही गए | स्वर्ग के इंद्रा का दर्प नाश करके वे पृथ्वी के बाहर भी पुरुषोत्तम बन गए | विश्व ही नहीं ,इह लोक ही नहीं ,तीनों लोकों मैं भगवन स्वरुप मैं स्थापित पुरुषोत्तम कहलाये | उनकी भक्ति करना धर्म बन गया | हर प्रकार की सिद्धियों की कारक उनकी भक्ति बन गयी | …………………………………………………………………………….भगवन राम को पुरुषोत्तम सिद्ध किया गया | उन्होंने स्वयं कभी नहीं कहा की वे पुरुषोत्तम हैं | किन्तु भगवन श्री कृष्ण ने स्वयं को पुरुषोत्तम कहा भी है और सिद्ध भी किया है | श्रीमद भगवत मैं उन्होंने स्वयं को पुरुषोत्तम के साथ साथ ईश्वर परमेश्वर भी कहा है | उनके समकालीन एक और कृष्ण भी रहे थे जिन्होंने स्वयं को पुरुषोत्तम कहते परमेश्वर अवतार सिद्ध करने का असफल प्रयास किया था | ……………………………………….अब कलियुग है | राजतन्त्र न होकर लोकतंत्र है जिसमें सभी को पुरुषोत्तम सिद्ध करने का सामान अधिकार प्राप्त है | ….कांग्रेस युग के अनेकानेक पुरुषोत्तम होते रहे | जिन्हें पुरुषोत्तम बनने मैं लंबा समय लगा | किन्तु अब इन्टरनेट युग आ चूका है | रोबोट युग है ,टेक्नोलॉजी दिन दूनी रात चौगुनी विकसित हो रही है | अतः पुरुषोत्तम भी मात्र क्लिक से ही बन रहे हैं |………………………………………………………………………टेक्नोलॉजी से पुरुषोत्तम बनने के अविष्कारक अरविन्द्र केजरीवाल ने सभी राजनीतिज्ञों को पुरुषोत्तम मार्ग सुगम कर दिया |…………. जिस काम को कांग्रेस ७० वर्ष मैं न कर सकी, वह सब भारतीय जनता पार्टी ने मात्र दो वर्षों मैं करके पुरुषोत्तमी विद्या सिद्ध कर ली | भारतीय जनता पार्टी के भी धुरंधर अटल बिहारी बाजपेयी जी , लाल कृष्ण आडवाणी जी जैसे भी पुरुषोत्तम बनने मैं वर्षों लगा बैठे | ..किन्तु माननीय प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी जी इस विधा को मात्र दो वर्ष से कुछ अधिक मैं ही सिद्ध कर चुके हैं | वे इस देश के ही नहीं सम्पूर्ण विश्व के पुरुषोत्तम बनते जा रहे हैं | कोई भी धर्म हो , कोई भी जाति हो ,कोई भी पार्टी हो ,या कोई भी देश क्यों न हो उनके पुरुषोत्तम होने को मान चूका है | …………………………………………………………………….योगेश्वर श्री कृष्ण की तरह ही मोदी जी भी योगेश्वर से पुरुषोत्तम सा तेज पा चुके हैं | वे कृष्ण की तरह स्वयं भी अपने को पुरुषोत्तम कहते हैं और उनके तेज से प्रभावित विश्व भी पुरुषोत्तम की भक्ति मैं मगन होता जा रहा है | जैसे भगवन श्री कृष्ण की भक्ति लोक परलोक सुधार देती है वैसे ही मोदी जी की भक्ति भी लोक परलोक मार्ग सुगम कर रही है | …………………………………………………….जैसे भगवन कृष्ण ने अल्प समय मैं ही अनेकानेक सिद्धियों से महाभारत युद्ध जीताया था और अधर्म का नाश करके ,धर्म की स्थापना की थी | वैसे ही मोदी जी भी अल्प समय मैं विश्व विजय करते धर्म की स्थापना करते जा रहे हैं | विश्व गुरु यानि पुरुषोत्तम मान लेना ही पड़ेगा | धर्म ,अर्थ ,काम पर विजय पाते मोक्ष तो होगा ही | ……………………………………………………………….श्री कृष्ण ने योग को परलोक से भी आगे मुक्ति मार्ग कहा किन्तु मोदी जी ने उसे इसी लोकवासियों के उद्धार के लिए स्थापित कर दिया | राम मंदिर ,हिन्दू ,गाय, दलित और कश्मीर का उद्धार मार्ग सुलभ करते वे बलूचियों के उद्धार मार्ग पर चल पड़े हैं | पाप ,पापियों के साथ पाकिस्तान का नाश करते महाभारत की तरह विजय पाकर धर्म की स्थापना करनी है | इंदिरा गाँधी की तरह बांग्लादेश के बाद बलूचिस्तान की स्थापना करनी है | …..बृहद कश्मीर स्थापित करना है | ……………………………………………………………………विश्व की सबसे बड़ी सेना वाली कौरवी (चीनी )शक्ति का साथ पाकर कर्ण (पाकिस्तान ).कितना ही क्यों न उछल ले , कवच कुण्डलों (अटॉमिक पावर ) से शक्तिवान बन जाये नरेंद्र (श्रीकृष्ण) की कुशल नीतियों .और अमेरिकी शक्तियों से कभी भी पार नहीं पा सकेगा | विश्व के अन्य नेता नरोत्तम तक ही पहुँच जाएँ इतना ही बहुत है | सर्व प्रिय सर्व जन हिताय मित्रों और शत्रुओं मैं भी सामान रूप से लोकप्रिय नरेंद्र ही पुरुषोत्तम कहलायेंगे | …………………………………………………………………………………………….भगवन श्री कृष्ण कहते हैं …………मैं नाशवान जड़ बर्ग से और अविनाशी जीवात्मा से भी उत्तम हूँ इसलिए लोक मैं पुरुषोत्तम नाम से प्रसिद्द हूँ | जो ज्ञानी पुरुष मुझको पुरुषोत्तम रूप को जानता है वही सब प्रकार से मुझको भजता है | ……………………….ऐसा ही कुछ आभाष मोदी जी के रूप मैं दर्शित होता है | …………………………………………………भगवन राम और उसके बाद श्रीकृष्ण के बाद पुरुषोत्तम का ताज हमारे लोक प्रिय नरेंद्र मोदी जी ही सुशोभित करेंगे | लोक कल्याण करते वे ही पुरुषोत्तम नाम से विश्व विख्यात होंगे | ………………………………………………………………………………...ॐ शांति शांति शांति

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (3 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग