blogid : 7629 postid : 747075

मनोरोगियों के लिए रामबाण बन गया था यह जादुई यंत्र, सत्रहवीं शताब्दी का यह चमत्कार देख हैरान हो जाएंगे आप

Posted On: 29 May, 2014 Others में

अद्भुत दुनियारंग-बिरंगी दुनिया की अद्भुत तस्वीर और अनोखे रंग-ढंग को दर्शाता ब्लॉग

विविधा

1490 Posts

1294 Comments


संगीत का शौक रखने वाले लोगों में हमेशा ही कुछ नया करने की चाह रहती है. ऐसे लोग संगीत की नई धुन कहां से मिले, इसकी तलाश में हमेशा लगे रहते हैं. उनमें से कुछ खुद धुन बनाते हैं तो कुछ आसपास के वातावरण से उठाते हैं जैसे- पक्षियों और जानवरों की आवाज को संगीत का रूप देना, लेकिन आप कभी नहीं सोच सकते हैं कि यही जानवर मन के विकारों के लिए संगीत यंत्र बन सकते हैं.


piano11


यह सुन कर आपको काफी अजीब लग रहा होगा लेकिन यह सच है. इस यंत्र का नाम है कैटजेनलैवियर. इसका परिचालन 17वीं शताब्दी में एथनैसियस किर्चर नाम के एक जर्मन व्यक्ति ने मेडीसिन, ओरिएंटल स्टडी और जियोलॉजी के क्षेत्र में किया था.


Read: जानना चाहेंगे इस सबसे पुरानी पहाड़ी का रहस्य जहां सबसे पहले च्यवनप्राश की उत्पत्ति हुई



athanasius kircher


कैटजेनलैवियर की रूपरेखा कुछ इस तरह से तैयार की गई है जो देखने में एकदम पियानों यंत्र की तरह लगता है. पियानों की तरह ही इसमें की-बोर्ड है. इसके आगे वाले हिस्से में एक पिंजरे नुमा घर बना है जिसके अंदर सात से नौ बिल्लिया कैद हैं. पिंजरों में बंद बिल्लियों की पूंछ को फैलाकर की-बोर्ड में लगी कील के सामने रख दिया जाता है. इसके बाद जब व्यक्ति की-बोर्ड के ‘की’ के जरिए बिल्लियों को पिंच करता है तो बिल्लियां पिनपिनाती और चिल्लाती हैं.


Read: यह 10 फैक्ट्स बताते हैं कि आप भी बन सकती हैं सीरियल की बहू



katzenkavalier 1


यह यंत्र उन व्यक्तियों के लिए ज्यादा कारगर साबित होता था जो मानसिक रोग पीड़ित थे और जो किसी वजह से अपने कामों में ध्यान नहीं लगा पाते . मानसिक रोग से पीड़ित व्यक्ति को उस पियानों के सामने बैठाया जाता और फिर उस दौरान मनोचिकित्सक उस पियानों को बजाना शुरू करता था.


Read More:

कमसिन लड़कियों की टोली ने अपने पैर किराए पर दे दिए, लेकिन कैसे

एक बुजुर्ग को सेक्स के लिए मना करना उसका अपमान करना है

सोशल मीडिया पर नेताओं की कैसे-कैसे खिल्ली उड़ाई गई, देखिए और मजा लीजिए



Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (2 votes, average: 4.50 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग