blogid : 7629 postid : 1260455

इस कॉलेज में लड़कों को इस तरह किया जाता है प्रेंग्नेट, एडमिशन लेने के लिए लगती है लाइन

Posted On: 22 Sep, 2016 Others में

अद्भुत दुनियारंग-बिरंगी दुनिया की अद्भुत तस्वीर और अनोखे रंग-ढंग को दर्शाता ब्लॉग

विविधा

1490 Posts

1294 Comments

हाल ही में ‘पिंक’ फिल्म ने समाज का दोहरा चेहरा इस कदर दिखाया कि बहुत-से लोग सोचने को मजबूर हो गए कि वो कहां गलत हैं. फिल्म में अमिताभ बच्चन ने एक डायलॉग बोला है ‘हमारे देश में शराब करेक्टर को आंकने का एक तरीका है सिर्फ लड़कियों के लिए, लड़कों के लिए नहीं’. इस छोटे से डायलॉग में समाज के दोहरे चेहरे की सच्चाई छुपी हुई है, जहां लड़कियों को पैदा होते ही बेहतर इंसान नहीं बल्कि अच्छी बहू और पत्नी बनने की ट्रेनिंग देनी शुरू कर दी जाती है. जबकि लड़कों के साथ ऐसा कुछ नहीं है वो जो बनना चाहें, अपनी मर्जी से बन सकते हैं.


university

अब भारत में हालात जो भी हो लेकिन एक देश ऐसा भी है जहां लड़कों को सबसे अच्छा पति बनाने के लिए ट्रेनिंग दी जाती है. जापान में कुछ ऐसा ही नजारा देखने को मिल रहा है, जहां पर नौजवान लड़के परफेक्ट पति बनने के लिए ट्रेनिंग लेते दिख रहे हैं. आपको जानकर हैरानी होगी कि यहां परफेक्ट पति बनने के लिए कोई डिप्लोमा या सर्टिफिकेट कोर्स नहीं बल्कि बैचलर डिग्री करवाई जा रही है. जापान की ‘ईकुमेन यूनिवर्सिटी’ में बैचलर डिग्री के कोर्स में बच्चों को नहलाने, ड्राइपर बदलने, खाना खिलाने और बच्चों को हंसाने जैसी कई बातों की ट्रेनिंग दी जाती है.


mann6

इस कोर्स की सबसे दिलचस्प बात ये है कि इसमें लड़कों को प्रेंग्नेट होने के अनुभव से भी गुजरना पड़ता है. कुछ लड़कों को 70 किलो का एक प्रेग्नेंट मदर सूट पहनाया जाता है ताकि वो गर्भावस्था के दौरान एक महिला की शारीरिक और मानसिक स्थिति को बेहतर तरीके से समझ सकें. इन लड़कों को ये भी सिखाया जा रहा है कि औरतों को लड़कों में क्या आदतें बिलकुल पसंद नहीं होतीं और कौन सी बातों का उन्हें ध्यान रखना चाहिए.



man 8


इन लोगों का मानना है कि अभी तक सिर्फ लड़कियों को शादी के लिए फिट बनाया जाता था, अब ये लड़कों के लिए ज़रूरी है कि वो शादी को लेकर उतने ही अच्छे पार्टनर बनें. जब ये लड़के अपनी डिग्री पूरी कर लेते हैं तो इनके नामों को मैरिज ब्यूरों में भेजा जाता है ताकि इन्हें बेहतर रिश्ते मिल सके. भारत में जहां लड़कों को एक गिलास पानी भी खुद लेना नहीं सिखाया जाता, वहां जापान में इस कॉलेज में घरेलू काम-काज सीखने के लिए, एडमिशन लेने के लिए लड़कों की लम्बी लाइन लगती है…Next


Read More :

खुल गया है सांता विश्वविद्यालय, नामांकन के लिए इच्छुक छात्र आवेदन करें

8 साल के बच्चे को आखिर बंदूक का लाइसेंस क्यों?

पत्नी की अदला-बदली करता था मशहूर उद्योगपति का बेटा!

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग