blogid : 7629 postid : 1322772

भारतीय छात्र का दावा अब पृथ्वी से चांद तक लिफ्ट से पूरा होगा सफर! नासा ने दिया सम्मान

Posted On: 5 Apr, 2017 Others में

अद्भुत दुनियारंग-बिरंगी दुनिया की अद्भुत तस्वीर और अनोखे रंग-ढंग को दर्शाता ब्लॉग

विविधा

1490 Posts

1294 Comments

बचपन में हमने चांद से जुड़ी न जाने कई कहानियां पढ़ी होंगी और उसे देख-देख कई सपने भी देखें होंगे, लेकिन उन सपनों को वहीं छोड़ हम आगे बढ़ गए. चेन्नई के 18 साल के साईं किरण की कहानी हम सब से अलग है. आप कल्पना कीजिए कि अगर चांद को किसी सीढ़ी या एलिवेटर के जरिए पृथ्वी से जोड़ दिया जाए तो. चेन्नई के रहने वाले एक 18 वर्षीय साईं किरण ने इसी दिशा में एक प्रोजेक्ट पर काम किया, उनकी कोशिश अभी भले ही एक कल्पना हो, लेकिन नासा ने उन्हें इसके लिए ‘मून प्राइज’ से नवाजा है.


cover

चेन्नई के रहने वाले एक 18 वर्षीय साईं किरण को नासा एम्स रिसर्च सेंटर, सैन जोस स्टेट यूनिवर्सिटी, और नेशनल स्पेस सोसाइटी (Nasa Ames Space Settlement Contest) की क्लास 12 की कैटेगरी में दूसरा स्थान मिला है. साईं ने प्रतियोगिता के दौरान पृथ्वी से चंद्रमा तक एक लिफ्ट का प्रस्ताव रखा, जिससे कि निकट भविष्य में इंसान के चंद्रमा पर बसने की प्रक्रिया संभव हो सके.

nasa

NASA Ames Research Center और National Space Society द्वारा सालाना आयोजित की जाने वाली इस कांटेस्ट में चेन्नई के साईं किरण ने भाग लिया था.  दुनिया भर से केवल 12वीं कक्षा तक के छात्रों ने हिस्सा लिया. आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इस कांटेस्ट में सिर्फ़ 12वीं क्लास तक के दुनिया भर के छात्रों की प्रविष्टियों को आमंत्रित किया गया था. इस साल की प्रतियोगिता का एजेंडा इंसान के लिए चांद पर मानव बस्तियों को डिज़ाइन करने का था.


geopol_elevator


जब 2013 में साईं किरण सिंगापुर में रहते थे, तब उन्होंने इस प्रोजेक्ट पर काम करना शुरू किया और इस टॉपिक पर एक विस्तृत विवरण के साथ थीसिस भी लिखी. उनका ये प्रपोज़ल, जिसका शीर्षक ‘Connecting Moon, Earth and Space’ और ‘HUMEIU Space Habitats’ था, ने इंसान को एक लिफ्ट के माध्यम से चांद तक पहुंचाने और वहां पर बसाने का था. जिसे उन्होंने अपने प्रस्ताव के जरिये NASA के सामने प्रस्तुत किया…Next


Read More:

कोका कोला पर भारी पड़ी 1 रुपए की पल्स कैंडी, कमाए इतने करोड़

ये हैं एशिया की पहली महिला डीजल इंजन ड्राइवर, राष्ट्रपति से मिला ‘नारी शक्ति पुरस्कार’

इस होटल का एक रात का किराया है डेढ़ लाख रुपए, सुविधाएं ऐसी जो आपने कभी सुनी भी नहीं होगी!

कोका कोला पर भारी पड़ी 1 रुपए की पल्स कैंडी, कमाए इतने करोड़
ये हैं एशिया की पहली महिला डीजल इंजन ड्राइवर, राष्ट्रपति से मिला ‘नारी शक्ति पुरस्कार’
इस होटल का एक रात का किराया है डेढ़ लाख रुपए, सुविधाएं ऐसी जो आपने कभी सुनी भी नहीं होगी!


Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग