blogid : 7629 postid : 884276

कुदरत की सजा झेल रहा है पिंजरे में कैद यह बच्चा!

Posted On: 14 May, 2015 Others में

अद्भुत दुनियारंग-बिरंगी दुनिया की अद्भुत तस्वीर और अनोखे रंग-ढंग को दर्शाता ब्लॉग

विविधा

1490 Posts

1294 Comments

सोशल मीडिया पर इस बात को लेकर बहस चल रही है कि आखिर कैसे कोई एक 10 साल के बच्चे को पिंजरे में बंद कर सकता है. यह तो सीधे बाल शोषण का मामला बनता है. तस्वीर में आप भी देख सकते हैं कि एक व्यक्ति तीन पहिए वाली साइकिल पर पिंजरे में बंद एक बच्चे को खींचकर ले जा रहा है.


child


पहली नजर में यह तस्वीर आपको प्राचीन काल में गुलामी के दिनों की याद दिलाएगी लेकिन ऐसा नहीं है जो आप सोच रहे हैं उसके ठीक विपरीत यह तस्वीर उस पिता-पुत्र की है जो खुद को एक दूसरे से अलग होते देखना नहीं चाहते.


Read: 65 वर्षीय गर्भवती के 5 पतियों से हैं 13 बच्चे और अब बनना चाहती है 17 बच्चों की मां


36 साल के ‘ली वेनमिंग’ अपने 10 वर्षीय बेटे ‘जिओ हाओ’ के साथ चीन के  ह्‍यूएंगयान में रहते हैं. वह अपने बेटे के साथ स्टेनलेस स्टील की फैक्टरी में रहते हैं. अपने पुत्र के बारे बताते हुए ली वेनमिंग कहते हैं कि जब जिओ हाओ का जन्म हुआ तब उसकी दिमागी हालत ठीक नहीं थी.


जन्म के 18 महीने होने के बाद हाओ के माता पिता ने ध्यान दिया कि उसके अंगों में अनजाने रूप से ऐंठन  है, जिसके बाद उसे चीन में तैजहो के अस्पताल में भर्ती कराया गया. अस्पताल में डॉक्टरों ने ली को बताया कि हाओ का दीमाग पूरी तरह से विकसित नहीं हुआ है.


Xiao Hao

ली वेनमिंग एक गरीब परिवार से हैं फिर भी वह अपने बच्चे का इलाज अच्छे से करवाना चाहते थे इसलिए हाओ को वह बीजिंग के एक अच्छे अस्पताल में ले गए. वहां जिओ हाओ का तीन बार इलाज किया गया और कुछ टेस्ट तथा दवाईयां भी खरीदनी पड़ी. लेकिनजिओ हाओ की स्थिति में कोई सुधार नहीं हुआ.


कुछ टेस्ट, दवाईयों और आने-जाने के खर्चे को मिलाया जाए तो जिओ हाओ के इलाज में तकरीबन 200000 युआन खर्च हुए. पिता ली ने अपनी सारी जीवन पूंजी जिओ हाओ के इलाज में लगा दी, इसके बावजूद भी जिओ हाओ ठीक न हो सका. पिता ली वेनमिंग के पास अब इतने पैसे नहीं रह गए कि वे आगे भी जिओ हाओ का इलाज करा सके.


Read: मानव बम बनने को तैयार है 7 साल का यह कश्मीरी बच्चा


ली वेनमिंग के सामने एक और बड़ी समस्या तब आई जब उनकी पत्नी ने उन्हें छोड़ दिया था. उस समय जिओ हाओ को 24 घंटे देखभाल की जरूरत थी. यह सब देखने के बाद भी ली हिम्मत नहीं हारे और अपने बेटे की जिम्मेदारी अपने उपर ले ली.


ली वेनमिंग पिंजरे की बात पर कहते हैं कि मैंने अपने बेटे के लिए पिंजरा इसलिए बनाया ताकि ‘मैं उसे अपनी आंखों से दूर नहीं होने देना चाहता’. ली समझते हैं कि इस बीमारी से उनका बेटा उनसे दूर हो जाएगा. वह यह भी कहते हैं कि ‘मैं उसे घर में कैद करके भी नहीं रख सकता’….Next


Read more:

भेड़ के गर्भाशय से निकला कुत्ते का बच्चा! देखने के लिए उमड़ी लोगों की भीड़

OMG! जब मां ने दी बच्चे को ये सजा

8 साल के बच्चे को आखिर बंदूक का लाइसेंस क्यों?


Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग