blogid : 7629 postid : 757221

पापियों का संहार करने आए हैं हनुमान! कलियुग में यह चमत्कार आपको हैरान कर देगा

Posted On: 21 Jun, 2014 Others में

अद्भुत दुनियारंग-बिरंगी दुनिया की अद्भुत तस्वीर और अनोखे रंग-ढंग को दर्शाता ब्लॉग

विविधा

1490 Posts

1294 Comments

दुष्टों का संहार करने के लिए समय-समय पर ईश्वर अवतार लेते रहते हैं और कलयुग जिसका पर्याय ही पाप और अधर्म से हैं वहां तो ईश्वर के अवतार लेने की जरूरत भी है. पुराणों में तो लिखा है कि कलयुग में विष्णु कल्कि अवतार लेकर धरती पर आएंगे. लेकिन लगता है विष्णु के कल्कि अवतार लेने से पहले रामभक्त हनुमान ही दुष्टों और पापियों का संहार करने के लिए डायरेक्ट स्वर्ग से पृथ्वी लोक पर लैंड कर चुके हैं और वह भी पंजाब में.



पूरा मामला दरअसल ये है कि पंजाब में एक बच्चे की पूंछ निकल आई है और लोग उसे हनुमान का अवतार मानकर ‘बालाजी’ नाम से पुकारने लगे हैं. 13 वर्षीय अरशद अली खान एक विकलांग बालक है और बिना व्हील चेयर की सहायता से ही कहीं आता-जाता है, लेकिन अब उसकी पहचान बस यहीं तक सीमित नहीं है क्योंकि अब उसे लोग पूजते हैं और आशीर्वाद लेने के लिए आते हैं.

Balaji


अपनी 7 इंच की पूंछ की वजह से वह आसपास के लोगों के लिए भगवान का अवतार बन गया है और बड़ी ही सहजता के साथ अपने भक्तों पर अपनी कृपा बरसाता है.



Balaji

अरशद का कहना है कि ये पूंछ उसे भगवान ने दी है और लोग उसकी पूजा इसलिए करते हैं क्योंकि वो भगवान की पूजा करता है. उसकी बात भगवान जल्दी सुन लेते हैं और उसके भक्तों की इच्छा पूरी करते हैं. इस पूंछ का होना अरशद के लिए अच्छा भी नहीं है और बुरा भी नहीं, इसलिए वह ऑपरेशन के जरिए इसे हटाने के मूड में भी नहीं है.



पिता के देहांत और मां के दूसरे विवाह करने के पश्चात अरशद अपने दादा इकबाल कुरेशी और चाचा के साथ रहता है. पेशे से म्यूजिक इंस्ट्रक्टर इकबाल का कहना है कि “एक वर्ष की उम्र में जब अरशद ने पहली बार बोलना शुरू किया था तब उसने विभिन्न धर्मों के भगवानों का ही नाम लिया था, तभी मुझे यकीन हो गया था कि यह ईश्वरीय दूत ही है.”


Balaji

आप यकीन नहीं करेंगे कि जहां अरशद रहता है उस घर को पूजा स्थल में तब्दील कर दिया गया है. आसपास के लोग तो अपना माथा टेकने और अपनी मनोकामना पूरी होने की मन्नत मांगने अरशद के पास आते ही हैं परंतु अब तो दूर-दूर से भी लोग यहां आने लगे हैं.



अरशद स्कूल भी जाता है और जिस दिन उसकी छुट्टी होती है करीब 20-30 लोग उसके घर उसका आशीर्वाद लेने आते हैं. अरशद को उसकी पूंछ के लिए कोई चिढ़ाता भी नहीं है पर सब उसकी पूंछ एक बार देखना जरूर चाहते हैं.


Read: मां लक्ष्मी को मिली धरती पर रहने की सजा, ऐसी क्या भूल हुई थी धन व समृद्धि की देवी से?



वैसे तो भारत में ऐसे चमत्कारों के पीछे दिए जाने वाले चिकित्सकीय तर्कों को कोई पूछता नहीं है लेकिन फिर भी अपनी ड्यूटी पूरी करने के लिए डॉक्टरों का कहना है कि ऐसा अरशद की नाजुक हड्डियों की वजह से हुआ है वहीं कुछ डॉक्टर्स का मानना है कि रीढ़ की हड्डी के उभार से ऐसा दिखता है.


Young-Balaji

अरशद की फैमिली को ऑपरेशन की सलाह भी दी गई है लेकिन उसके परिवार का कहना है कि किसी जटिल ऑपरेशन की प्रक्रिया से गुजरने से अच्छा है कि यह पूंछ उसके साथ रहे.



अब अरशद पवनपुत्र हनुमान का अवतार हैं या नहीं ये कहना हमारा डिपार्टमेंट नहीं है. ये तो उनके भक्तों और डॉक्टरों के बीच का मसला है.


Read:

मक्का-मदीना में गैर-मुस्लिम का जाना सख़्त मना है फिर भी इन्होंने मुस्लिम ना होते हुए भी मक्का में प्रवेश किया, जानिए कौन हैं ये

अपनी मारक दृष्टि से रावण की दशा खराब करने वाले शनि देव ने हनुमान को भी दिया था एक वरदान

विष्णु जी की दूसरी शादी से स्तब्ध लक्ष्मी जी ने जो किया उस पर विश्वास करना मुश्किल है, जानिए एक पौराणिक सत्य

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (2 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग