blogid : 7629 postid : 1154

तो क्या अब कभी नहीं होगा एलियन से सामना

Posted On: 4 Sep, 2012 Others में

अद्भुत दुनियारंग-बिरंगी दुनिया की अद्भुत तस्वीर और अनोखे रंग-ढंग को दर्शाता ब्लॉग

विविधा

1490 Posts

1294 Comments

फिल्म ‘कोई मिल गया’ का ‘जादू’ तो सभी को याद ही होगा. बहुत स्वीट और फ्रेंडली दिखने वाले इस एलियन को दोस्त बनाने में बिल्कुल भी समय नहीं लगता था. वह बच्चों के साथ-साथ बड़ों से भी फटाफट दोस्ती कर लेता था. फिल्म में वह अच्छे लोगों के लिए अच्छा था और बुरा काम करने वाले लोगों को सबक भी सिखाता था. वैसे कहा तो यह जाता है कि दूसरे ग्रह के रहने वाले इन लोगों का धरती पर आना-जाना लगा ही रहता है लेकिन जरा सोचिए अगर कभी इंसानों और दूसरे ग्रह के इन नागरिकों का आमना-सामना हुआ तो क्या मानव के प्रति उनका व्यवहार वैसा ही रहेगा जैसे कोई मिल गया फिल्म में जादू का होता है?


alienएलियन का इंसान से सामना होने जैसी बातें कई बार सुनी गई हैं लेकिन कोई भी इससे संबंधित पुख्ता साक्ष्य उपलब्ध नहीं करवा पाया है लेकिन अगर कभी वास्तव में ऐसा होता है तो आम आदमी के लिए बहुत अच्छी स्थिति नहीं होगी. भौतिकशास्त्र में नोबेल पुरस्कार विजेता ब्रायन पी. श्मिट का कहना है कि एलियन के साथ इंसानों का सामना एक भयावह अनुभव भी बन सकता है. इसीलिए अगर लोग यह सोचते हैं कि इंसानों के साथ एलियन की मुलाकात एक सुखद वाकया होगा तो उन्हें अपनी यह उम्मीद छोड़ देनी चाहिए. ब्रायन का यह साफ कहना है कि इंसान के साथ एलियन का आमना-सामना किसी भी रूप में सुखद नहीं होने वाला.


वर्ष 2011 में अंतरिक्ष के तेज गति से होते विस्तार से जुड़े साक्ष्य प्रस्तुत करने के बाद ब्रायन पी. श्मिट को सॉल पर्लमटर और एडम रीस के साथ भौतिकशास्त्र का नोबेल पुरस्कार प्रदान किया गया था.


जब एक मिनट में हो गए 61 सेकेंड


ब्रायन का कहना है कि एलियन को अपनी ओर आकर्षित करना या उन्हें अपने स्थान के बारे में बताना किसी भी रूप में सही नहीं कहा जाएगा क्योंकि हम नहीं जान सकते कि उनका इंसानों के प्रति व्यवहार कैसा रहेगा. उनका आमना-सामना सुखद ही होगा इसकी कोई संभावना नहीं है. हालांकि ब्रायन का यह भी कहना है कि एलियन का अस्तित्व और उनका धरती पर आना संदेहास्पद ही है क्योंकि वह अंतरिक्ष के एक कोने में हैं और हम दूसरे, जहां से आना-जाना बिल्कुल आसान नहीं है.


आपको यह जानकर हैरानी होगी कि ब्रायन, पार्लमटर और रीस के इन प्रमाणों से पहले यह माना जा रहा था कि अंतरिक्ष का विस्तार धीमा पड़ गया है लेकिन तीनों वैज्ञानिकों ने मिलकर यह स्पष्ट कर दिया है कि डार्क एनर्जी आकाशगंगा को धकेलती जा रही है जिससे अंतरिक्ष का विस्तार तेज होने लगा है. ब्रायन का यह भी कहना है कि एक निश्चित विस्तार के बाद ब्रह्मांड का विस्तार होना समाप्त हो जाएगा लेकिन तेज गति से होते इस विस्तार के कारण एक ग्रह से दूसरे ग्रह तक पहुंचना बहुत मुश्किल होगा. इसीलिए ऐसा कुछ भी सोचना कि मंगल या किसी अन्य ग्रह के प्राणी धरती पर विचरण करेंगे, असंभव सा प्रतीत होता है.

भारतीय ने खोजा था गॉड पार्टिकल का फॉर्मुला


ब्रायन की मानें तो ब्रह्मांड का भविष्य अंधकार से भरा हुआ है इसीलिए एलियन से जुड़ी खोज में यह एक चुनौतीपूर्ण कदम है. बहुत हद तक यह भी संभव है कि भविष्य में भी कभी एलियन और इंसान का सामना ना हो.


हैवानियत का सबसे बड़ा नमूना ….!!


Post Your Comment : एलियन का धरती पर विचरण करने जैसी बाते हम अकसर सुनते रहते हैं. आपको क्या लगता है एलियन के अस्तित्व में कोई सच्चाई है भी या यह मात्र एक कल्पना है?


Tags: aliens and their identity, universe, latest scientific researches, alien vs men, UFO, Nobel prize winners.


Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (4 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग