blogid : 7629 postid : 1184261

सांप के जहर पर ऐसे असर करता है मंत्र

Posted On: 31 May, 2016 Others में

अद्भुत दुनियारंग-बिरंगी दुनिया की अद्भुत तस्वीर और अनोखे रंग-ढंग को दर्शाता ब्लॉग

विविधा

1490 Posts

1294 Comments

गांव-कस्बों के रहन-सहन से अगर कभी आपका वास्ता पड़ा होगा तो शायद आप इस घटना के भी गवाह बने होंगे कि किसी को सांप ने काट लिया हो और फिर उसके उपचार के लिए किसी प्रशिक्षित डॉक्टर के पास ले जाने के बजाए झाड़-फूंक करने वाले ओझा या तांत्रिक के पास ले जाया गया हो. यह भी संभव हो कि ओझा ने अपने मंत्र के प्रभाव से सर्प का जहर उतार भी दिया हो. गांव और कस्बा ही नहीं बड़े-बड़े शहरों में भी ऐसे तांत्रिक मिल जाएंगे जो मंत्र की शक्ति से सर्प, बिच्छू आदि का जहर को उतारने का दावा करते हैं. इससे यह सवाल पैदा होता है कि क्या मंत्र की शक्ति से सांप का जहर उतारा जा सकता है?


6

इस प्रश्न का उत्तर जानने के लिए पहले सर्पों के बारे में यह जरूरी तथ्य जान लें. विश्वभर में  सर्पों की कुल 2600 प्रजातियां हैं  इनमें सिर्फ 270 ही ऐसी हैं, जो विषैली होती हैं. इनमें से भी सिर्फ 25 प्रजातियां ऐसी होती हैं, जिनके काटने से मनुष्य की मृत्यु होती है. अगर बात भारत की करें तो यहां करीब 270 सर्प की प्रजातियां पाई जाती हैं, इनमें से 60 के करीब प्रजातियों में विष पाया जाता है हालांकि इंसान की जान लेने में समर्थ विष मुख्य रूप से केवल 4 सांपों में ही पाया जाता है. ये सांप हैं कोबरा जिसे गेहुअन या नाग के नाम से जाना जाता है, करैत, रसैल वाईपर या दबौया और सॉ स्कैल्ड वाईपर.


दरअसल होता यह है कि आम आदमी जहरीले सांपों और विष रहित सांपों में फर्क नहीं कर पाता है.  सांप के काटने पर आदमी इतना भयभीत हो जाता है कि उसे कुछ सूझता ही नहीं. आम आदमी में सांप का भय इतना ज्यादा है कि विष रहित सांप के काटने पर भी उसे कोबरा नाग समझ लेता है.


ऐसे में उसे मानसिक रूप से आघात लगता है और वह मरणासन्न अवस्था में जा पहुंचता है. सांपों के प्रति प्रचलित इसी भय का लाभ उठाकर ओझा और बाबा लोगों को ठगते हैं. यही कारण है कि विष रहित सांप के काटने पर तो लोग ओझा के पास जाकर मनोवैज्ञानिक प्रभाव के कारण बच जाते हैं, लेकिन विषैले सांप के काटने पर मर जाते हैं. ऐसे में ओझा लोग यह कहते हैं कि आपने इसे हमारे पास लाने में बहुत देर कर दी. अगर आप थोड़ी देर पहले हमारे पास आ गये होते, तो यह जरूर बच जाता.

सांप काटने की दशा में यदि प्रभावित व्यक्ति को सांप झाड़ने वाले ओझाओं के पास जाने के बजाए यदि डॉक्टर के पास ले जाया जाए और एंटीवेनम लगवाया जाए, तो जहरीले सांप के काटने पर भी रोगी को बचाया जा सकता है…Next


read more:

बाथरूम से निकले 40 खतरनाक कोबरा सांप, ये है घटना की हैरान कर देने वाली सच्चाई

सांप की जासूसी ने पकड़वा दिया शातिर अपराधियों को!!

इन इंसानों के सामने सांपों का विष ख़त्म हो जाता है



Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग