blogid : 7629 postid : 770718

रेगिस्तान में निकले तालाब की अंजान हकीकत से डरे हुए हैं लोग, खौफ का कारण बन गया है इसका रहस्यमय पानी !!

Posted On: 4 Aug, 2014 Others में

अद्भुत दुनियारंग-बिरंगी दुनिया की अद्भुत तस्वीर और अनोखे रंग-ढंग को दर्शाता ब्लॉग

विविधा

1490 Posts

1294 Comments

कुदरत का करिश्मा कहीं भी, कभी भी देखने को मिल सकता है. जब भी कुछ साधारण से अलग होता है तो उसे ईश्वर का चमत्कार मान लिया जाता है. वैसे भी कहा जाता है कि ‘जो समझ नहीं आता, वह भगवान है’. भारत में ऐसे कई चमत्कारों के विषय में आपने सुना होगा लेकिन विदेशों में भी कम चमत्कार नहीं होते. सूखे में इंद्र की पूजा से बारिश होने और रेगिस्तान में अचानक निकल आए पानी के सैलाब जैसे चमत्कारों के विषय में शायद आपने पढ़ा-सुना हो लेकिन वास्तविकता में शायद ही कभी देखा हो. पर इस रेगिस्तान में जिन्हें यह चमत्कार देखने को मिला वे इसे एक त्रासदी मान रहे हैं. हमेशा 40 डिग्री तापमान के रहने वाले इस रेगिस्तानी इलाके में जब अचानक यह पानी का तालाब उभर आया तो लोगों के आश्चर्य की सीमा नहीं थी लेकिन अचानक लोगों के लिए यह अभिशाप साबित हो गया. यह रहस्यमय तालाब आम लोगों में खौफ और हर किसी के लिए एक रहस्य बन गया है.



Tunisia



उत्तरी अफ्रीका में रेगिस्तानी इलाके ‘ट्यूनिशिया’ में ‘बीच’! सुनकर थोड़ा अटपटा लग सकता है पर यह सौ फीसदी सच्ची खबर है और स्थानीय लोगों ने इसे ‘गाफ्सा बीच’ का नाम दिया है.  ऐसा भी नहीं है कि दुनिया के मानचित्र पर रेगिस्तान में ‘बीच’ रखने वाले किसी अनोखी जगह के रूप में यह दर्ज हो बल्कि हैरानी की बात यह है कि इस मरुस्थल में यह ‘बीच’ मात्र 3 सप्ताह पुरानी है. इससे पहले इस जगह पर इसका कोई नाम-ओ-निशान नहीं था.



Gafsa beach



‘ट्यूनेशिया’ में रेगिस्तान के ठीक बीचों बीच लगभग 2.6 एकड़ की बड़ी जगह में, 50 फीट गहराई के साथ अचानक निकल आया यह तालाब विशेषज्ञों के लिए भी हैरानी का विषय है. अधिकारी इस पानी का स्त्रोत जानने की कोशिश में लगे हैं लेकिन अब तक इसका पता नहीं चल सका है. वैज्ञानिक अनुमान लगा रहे हैं कि भूकंप या किसी अन्य कारण से किसी चट्टान में दरार आ जाने से वह अपनी जमीनी जगह से हट गया होगा और उसके नीचे जल स्त्रोत होने के कारण वह पानी बाहर निकल आया होगा जिससे ‘गाफ्सा बीच’ का निर्माण हुआ.


Read More: इसे नर्क का दरवाजा कहा जाता है, जानिए धरती पर नर्क का दरवाजा खुलने की एक खौफनाक हकीकत



Mysterious lake



रेगिस्तानी इलाके में पानी का इतना बड़ा तालाब स्थानीय लोगों के लिए खुशी का सबब हो सकता है लेकिन यहां के लोगों के लिए यह भय का कारण बन गया है इसका कारण है ट्यूनिशिया की जमीन में फॉस्फेट का बड़ी मात्रा में होना. ट्यूनिशिया, केमिकल्स के क्षेत्र में विश्व का सबसे बड़ा निर्यातक है और फॉस्फेट का सबसे बड़ा स्त्रोत भी. जब बीच बना था तो इसका रंग ताजे झील के पानी की तरह नीला था और लोगों ने इसमें स्नान, तैराकी आदि का भी मजा लिया लेकिन थोड़े ही दिनों में पानी का रंग हरा होने लगा. आज इसमें शैवाल के पानी की तरह हरे रंग का पानी है. एक्सपर्ट्स का मानना है कि पानी के रंग में यह बदलाव फॉस्फेट के कारण हो सकता है. उन्होंने पानी में रेडिएशन की संभावना बताकर अब स्थानीय लोगों को इससे दूर रहने की सलाह दी है लेकिन जो लोग शुरुआत में ही इस पानी का उपयोग कर चुके हैं उनके बीमार पड़ने की संभावना से लोग डरे हुए हैं. इसलिए रेगिस्तान में खुशी का यह कारण खौफ में बदल गया है. डायरेक्टर ऑफ पब्लिक सेफ्टी के अनुसार जब तक पानी के विषय में सारी जानकारी नहीं मिल जाती, लोगों की सुरक्षा के लिहाज से वार्निंग दी गई है. फिर भी लोग सप्ताह के अंत में इस बीच पर आते और एंजॉय करते हैं. लोग इसकी फोटोज और वीडियोज फेसबुक, ट्विटर जैसी सोशल साइट्स पर भी शेयर कर रहे हैं. ‘गाफ्सा बीच’ का अपना फेसबुक पेज भी है.



Read More:

उसने चांद को गोलियों से छ्लनी करना चाहा लेकिन इस कोशिश का अंजाम क्या हुआ, खुद देख लीजिए

एक चमत्कार ऐसा जिसने ईश्वरीय कृपा की परिभाषा ही बदल दी, जानना चाहते हैं कैसे?

एड्स के बाद एक और खतरनाक बीमारी इंसानी दुनिया में आतंक मचा रही है

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (3 votes, average: 2.33 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग