blogid : 7629 postid : 845015

यहां एक ही युवती बनती है सभी भाईयों की दुल्हन

Posted On: 31 Jan, 2015 Others में

अद्भुत दुनियारंग-बिरंगी दुनिया की अद्भुत तस्वीर और अनोखे रंग-ढंग को दर्शाता ब्लॉग

विविधा

1490 Posts

1294 Comments

बहुपति प्रथा को अक्सर हम अपवाद समझते हैं और इस प्रथा का एक मात्र उदाहरण महाभारत की द्रौपदी के रूप में जानते हैं जिन्होंने पांचों पांडव भाईयों से विवाह किया था. पर हमारे देश का एक क्षेत्र ऐसा भी है जहां लगभग हर घर में द्रौपदी है. हिमाचल प्रदेश का एक क्षेत्र ऐसा है जहां एक ही युवती सभी सगे भाईयों से शादी रचाती है. इस परंपरा के पीछे इस क्षेत्र के लोगों के अपने तर्क हैं.



500x500xajabgajab-amazing-marriage-tradition-in-himachal-1-94112-94112-bhu-vivah-1.jpg.pagespeed.ic.f2q5NKXdH8



यह प्रथा है हिमाचल प्रदेश के किन्नौर जिले की. यहां के लोग का कहना है कि यह परंपरा का पांडवों के अज्ञातवास के समय से चली आ रही है. किन्नौर के निवासी बताते हैं कि यह प्रथा इसलिए चली आ रही है क्योंकि अज्ञातवास के दौरान पांचों पांडवों ने यहां समय बिताया था. इस जिले में होने वाले विवाह की परंपरा आपको अजीब लग सकती है. यहां जब किसी युवती की शादी होती है तो लड़की के परिवार वाले लड़की के भावी ससुराल के सभी लड़कों के बारे में पूरी जानकारी जुटाते हैं. विवाह में सभी भाई दूल्हा बनकर सम्मलित होते हैं. पर दुल्हन किस भाई के साथ रहेगी उसका निर्धारण टोपी करती है.


Read: शादी से पहले मां बनो, तभी होगा विवाह !!


अगर कोई भाई दुल्हन के साथ कमरे में होता है तो कमरे के दरवाजे पर अपनी टोपी रख देता है. सभी भाई इस परंपरा का सम्मान करते हैं और दरवाजे पर टोपी रखी होने के स्थिति में दूसरा कोई भाई कमरे में प्रवेश नहीं करता. सर्दियों के दौरान बर्फबारी की वजह से यहां की महिलाएं और पुरूष घर में ही रहते हैं. इस मौसम में यहां के लोगों के पास कुछ खास काम नहीं होता और यहां कि पुरूष और महिलाएं एक दूसरे के साथ मौज-मस्ती में दिन-रात गुजारतें हैं.



Mahabharata



इस जिले में समाज मातृसत्तात्मक है यानी घर की मुखिया कोई पुरूष नहीं बल्कि महिला होती है. इनका दायित्व होता है पति व संतानों की सही ढंग से देखभाल करना. परिवार की सबसे बडी स्त्री को गोयने कहा जाता है और उसके सबसे बडे पति को गोर्तेस यानी घर का स्वामी.



8979142_f520



यहां के समाज की एक और खास बात यह है कि यहां खाने के साथ शराब अनिवार्य होती है औऱ शराब को यहां बुरा नहीं माना जाता.  यदि पुरूषों का मन दुखी होता है तो वह शराब और तम्बाकू का सेवन करते हैं वहीं जब महिलाओं को किसी बात को लेकर दु:ख होता है तो वह गीत गाकर अपना दिल बहलाती हैं. Next…



Read more:

क्या है जीसस क्राइस्ट के रहस्यमयी विवाह की हकीकत, इतिहास के पन्नों में दर्ज एक विवादस्पद घटना

हनुमान जी की शादी नहीं हुई, फिर कैसे हुआ बेटा? जानिए पुराणों मे छिपी एक आलौकिक घटना

क्या भीष्म पितामह ने कभी विवाह किया था? जानिए भीष्म की प्रतिज्ञाओं का रहस्य

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (2 votes, average: 3.00 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग