blogid : 7629 postid : 844725

इस गांव के हर घर में की जाती है ‘कोबरा’ के रहने की व्यवस्था

Posted On: 30 Jan, 2015 Others में

अद्भुत दुनियारंग-बिरंगी दुनिया की अद्भुत तस्वीर और अनोखे रंग-ढंग को दर्शाता ब्लॉग

विविधा

1490 Posts

1294 Comments

अगर आपको लगता है कि भारत को बेवजह ही विदेशी सांप और सपेरों का देश समझते हैं तो इस आर्टिकल को पढ़िए. पर इससे पहले हम यह स्पष्ट कर देना चाहते हैं कि सांप और सपेरों के देश के वासी कहलाने में हमें किसी प्रकार का शर्म महसूस नहीं करनी चाहिए क्योंकि ये हमारे देश की विशेषता है. हम आज दुनिया से गर्व के साथ कह सकते हैं कि हां हम सांप सपेरों के देश से हैं, पर यह भी सच है कि हम दुनिया की चौथी बड़ी अर्थव्यवस्था हैं. हम सांपों के साथ भी खेलते हैं और मंगल ग्रह तक पहुंचने का माद्दा भी रखते हैं.


unusualvillagesindia6


इस आर्टिकल में हम भारत के एक ऐसे गांव के बारें में बताएंगे जिसके बारे में अगर कोई विदेशी जानेगा तो सहसा कह उठेगा, ‘देखा, कहते थे न कि भारत सांपों का देश है.’ खैर भारत सांपों का देश है या नहीं यह तो हमें नहीं पता पर हम इस गांव के बारे में यह जरूर कह सकते हैं कि यह सांपों का गांव है वह भी किसी ऐरे गैरे सांपों का नहीं बल्कि भारत के सबसे जहरीले सांपों में से एक कोबरा सांप का जिसे भारत में नाग भी कहा जाता है.


Read: मुर्गी, बकरी नहीं… सर्प पालन है इस गांव का मुख्य व्यवसाय


यह गांव है महाराष्ट्र के शोलापुर जिले का शेतपाल गांव. पूणे से करीब 200 किमी दूरी पर शेतपल अन्य मामलों में भारत के किसी अन्य गांव सा ही है. विकास की रोशनी से दूर एक सोया हुआ गांव पर यह गांव इस मामले में विशेष है कि इस गांव के हर घर में कोबरा सांप के रहने के लिए विशेष व्यवस्था है. कोबरा के विश्राम के लिए यह स्थान छत के पास बनाया जाता है और इस स्थान को देवस्थानम यानी देवताओं का निवास स्थल कहा जाता है. गौरतलब है कि हिंदू मान्यता अनुसार सर्प को भगवान शंकर से संबंधित माना गया है.


baby_cobra


इस गांव में घरों में सांप कुछ ऐसे घूमतें हैं जैसे वे कोई खतरनाक जीव न होकर परिवार का हिस्सा ही हों. लोग भी सांपों की उपस्थिति से बेपरवाह अपना-अपना काम करते रहते हैं पर खास बात यह है कि इस गांव में इतने सारे सांपों के होने के बावजूद आजतक इस गांव में सांपों के काटने के कारण किसी की मौत नहीं हुई. इस गांव के लोग सांपों को कभी नहीं मारते. इतना ही नहीं स्कूल और अन्य सार्वजनिक स्थलों पर भी सांप स्वच्छंद विचरण करते हैं.

तो अगली बार आपका कोई विदेशी मित्र आपसे यह कहे कि अब भारत सांप और सपेरों का देश नहीं रहा तो उसे यह गांव घुमाने ले जाएं!! Next…


Read more:

जब इंसान के काटने पर अस्पताल पहुंच गया सांप !!

शिव भक्ति में लीन उस सांप को जिसने भी देखा वह अपनी आंखों पर विश्वास नहीं कर पाया, पढ़िए एक अद्भुत घटना

बाप रे! भारत में कहाँ से आया उड़ने वाला सांप ?


Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग