blogid : 7629 postid : 1187377

सबसे अलग है इस व्यक्ति का खून, बचा चुका है 20 लाख जान

Posted On: 8 Jun, 2016 Others में

अद्भुत दुनियारंग-बिरंगी दुनिया की अद्भुत तस्वीर और अनोखे रंग-ढंग को दर्शाता ब्लॉग

विविधा

1490 Posts

1294 Comments

कोई किसी भी जाति, धर्म या समुदाय से सम्बध क्यों न रखता हो सभी का खून का रंग लाल होता है, क्योंकि कुदरत किसी के साथ भेदभाव नहीं करती. लेकिन कभी-कभी दुनिया में कुछ अजूबे ऐसे होते हैं जिसे देखकर विज्ञान भी कोई सटीक तर्क नहीं दे पाता. कुछ ऐसी ही घटना घटी जेम्स हेरीसन नाम के एक व्यक्ति के खून के साथ. दरअसल, जेम्स हेरीसन नाम के इस व्यक्ति का जन्म 27 दिसम्बर 1936 में हुआ था.


james

महज 14 साल की उम्र में जेम्स की छाती में दर्द की शिकायत हुई जिसके बाद उन्हें चेस्ट सर्जरी के लिए अस्पताल ले जाया गया. इस दौरान इन्हें 13 लीटर खून चढ़ाया गया. 3 महीने अस्पताल में रहने के दौरान जेम्स ने जिदंगी और मौत के बीच फर्क को बहुत करीब से अनुभव किया. असल में अलग-अलग लोगों द्वारा दिए गए 13 लीटर खून से जेम्स के दिल में रक्त दान करने का जज्बा आया. उस वक्त उनकी उम्र महज 14 साल थी, इसलिए उन्होंने सोच लिया कि 18 साल की उम्र से ही रक्त दान शुरू कर देंगे.


blood antigen


Read : यह वायरस ब्राजील में मचा रहा है उत्पात, भारत में भी है सावधानी की जरूरत


इस तरह दूसरे लोगों के खून से अलग था जेम्स का खून

जब जेम्स 18 साल की उम्र में पहली बार ब्लड डोनेट करने के लिए पहुंचे तो डॉक्टर उनका खून देखकर हैरान रह गए. असल में उनके खून में एक तरह के रेयर एंटीजन पाए गए जिससे एक खतरनाक बीमारी रेसस का इलाज होता था. इस तरह रेसस नाम की बीमारी से जूझ रहे किसी व्यक्ति के लिए जेम्स का थोड़ा-सा खून ही किसी दवा के समान था क्योंकि उसमें दुर्लभ एंटीजन थे.


james 2


1000 बार किया ब्लड डोनेट और बचाई 20 लाख लोगों की जान

जब जेम्स को अपने खून की इस खूबी के बारे में पता चला तो उन्होंने दुगुनी तेजी से खून डोनेट करना शुरू कर दिया. अब वो रेसस बीमारी से पीड़ित लोगों को खून देने लगे. अभी तक वो अपना खून देकर 20 लाख से ज्यादा लोगों की जान बचा चुके हैं. साथ ही अभी तक 1000 बार ब्लड डोनेट करने का वर्ल्ड रिकार्ड भी उन्हीं के नाम है…Next


Read more

पहली ‘ब्लड रेव पार्टी’ जहां मेहमानों को खून से नहलाकर लिया जाएगा मजा!

आंसू की जगह आंख से निकलता है खून, सिरदर्द बना हुआ है इस बीमारी का इलाज ढूंढना

खूनी चांद से 28 सितंबर को खत्म हो जाएगा पूरा विश्व?

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग