blogid : 7629 postid : 643579

इस तस्वीर में छिपा है एक रहस्य जो देखने वाले को अलग ही दुनिया में ले जाता है

Posted On: 11 Nov, 2013 Others में

अद्भुत दुनियारंग-बिरंगी दुनिया की अद्भुत तस्वीर और अनोखे रंग-ढंग को दर्शाता ब्लॉग

विविधा

1490 Posts

1294 Comments

तस्वीर खूबसूरत आर्ट का एक हिस्सा है. कई बार तस्वीर कुछ ऐसा भी कहती है जो आप समझ नहीं पाते लेकिन जिन तस्वीरों की बात यहां कर रहे हैं उसमें हर तस्वीर के साथ एक नई दुनिया नजर आती है. न ऐसी तस्वीर आपने देखी होगी, न तस्वीरों में बसी ऐसी सजीव दुनिया से कभी आपका वास्ता पड़ा होगा.


Oleg Shuplyak Painting



तस्वीरें किसी चीज को याद बनाकर रखने का एक माध्यम होती हैं लेकिन तस्वीर हमेशा एक जो चीज बयां वह करती है वह उसमें मौजूद कल्पना या असलियत का वजूद होता है. यूक्रेन के पेंटर ओलेग की पेंटिंग देखकर शायद आप अचरज में पड़ जाएं. इस पेंटिंग में छुपे भावों को समझना एक नजर तो सबको आसान लग सकता है लेकिन इसकी एक तस्वीर में छुपी एक नई कहानी जो होगी तो तस्वीर का हिस्सा लेकिन तस्वीर से बिल्कुल जुदा होगी, को समझकर शायद आप यकीन न कर पाएं.


Painting of Oleg Shuplyak


बदसूरत औलाद के पीछे छिपा हैरतंगेज रहस्य


कभी कोई पेड़ आपको किसी चेहरे से मिलवाती है, कोई चेहरा किसी और चेहरे से मिलवाती है. यूक्रेन के पेंटर ओलेग शूप्लायक की पेंटिंग अब तक देखे अन्य किसी भी पेंटिंग से आपको एकदम अलग लगेगी. खूबसूरत और कहानी हर बात में दुनिया की किसी भी पेंटिंग से एकदम अलग ये तस्वीरें आपको किसी और ही दुनिया में खींच ले जाएगी. हैरत पैदा करने वाली इनकी पेंटिंग में आप एक तस्वीर के पीछे छुपी एक और दूसरी तस्वीर पाएंगे. लेकिन ऐसा कैसे संभव है. एक तस्वीर में केवल ही कथानक हो सकता है, एक विषयवस्तु होगी. आम पेंटिंग में ऐसा होता है लेकिन ओलेग शूप्लायक की पेंटिंग कुछ अलग है.


shuplyak painting


ओलेग शूप्लायक ने अपनी अनोखी पेंटिंग को ‘मेटामॉर्फिक’ नाम दिया है. तस्वीरों में हमने यहां जो नमूने लगाए हैं, उनमें आप देख सकते हैं कि हर तस्वीर में एक तस्वीर के पीछे एक और दूसरी तस्वीर है जो तस्वीर का ही एक हिस्सा है लेकिन इसके बावजूद इसका हिस्सा नहीं है. मतलब एक तस्वीर में दो तस्वीर और दोनों का अपना अलग वजूद है. ओलेग की पेंटिंग की यह विशेषता है जो हर किसी को आकर्षित करता है. ओलेग शूप्लायक की इन पेंटिंग्स में चार्ल्स डार्विन और विलियम शेक्सपीयर जैसी शख्सियतों को भी देखा जा सकता है.


Italian Painter Oleh Shuplyak



23 सितंबर, 1967 को यूक्रेन के टर्नपॉल में जन्मे ओलेग शूप्लायक को बचपन से ही पेंटिग का शौक था. लेकिन आम पेंटिंग के शौक से अलग ओलेग अपनी कलाकृतियों में हमेशा नए प्रयोग करते रहे. यूक्रेन में ही लिविव पॉलिटेक्निक इंस्टिट्यूट से आर्किटेक्चर की पढ़ाई करने के बावजूद पेंटिंग के अपने शौक को उन्होंने अपना कॅरियर बनाया. हालांकि अपने आर्किटेक्चर की तकनीकी शिक्षा का इस्तेमाल भी उन्होंने अपनी पेंटिंग में किया. शायद यही वजह रही कि इतनी खूबसूरती से दो तस्वीरों के मेल के साथ इस अद्भुत पेंटिंग्स कला का इजाद वे कर सके. अपने आप में अद्भुत आलगे की ये कृतियां देखकर आप अनायास ही कह उठेंगे वाह!

Unique And Beautiful Paintings

क्या सचमुच ऐसा भी हो सकता है…

मौत के बाद भी वह हर पल साथ रहती थी

हैरत होगी जब खुलेंगे अनछुए राज

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 1.00 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग