blogid : 355 postid : 256

हिन्दी शायरी – प्यार की मस्ती में

Posted On: 17 Feb, 2011 Others में

थोडा हल्का - जरा हटके (हास्य वयंग्य )Shayri, jokes, chutkale and much more...

jack

248 Posts

1194 Comments

heart_broken_in_two

जी ढूंढ़ता है घर कोई दोनों जहां से दूर
इस आपकी जमीं से अलग, आसमां से दूर

*********************

आती है किस तरह से मेरी कब्ज-ए-रूह को
देखूं तो मौत ढूंढ़ रही है बहाना क्या

*********************

pink-heart-love--

सरे महशर यही पूछूंगा खुदा से पहले
तूने रोका भी था मुजरिम को खता से पहले

*********************

न मेरे जख्म खिले हैं न तेरा रंग-ए-हिना
मौसम आए ही नहीं अब के गुलाबों वाले

*********************

ये शबे फिराक ये बेबसी, हैं कदम-कदम पे उदासियां
मेरा साथ कोई न दे सका, मेरी हसरतें हैं धुआं-धुआ

*********************

हमको तो गर्दिश-ए-हालात पे रोना आया
रोने वाले तुझे किस बात पे रोना आया

*********************

हर शम्आ बुझी रफ्ता रफ्ता हर ख्वाब लुटा धीरे – धीरे
शीशा न सही पत्थर भी न था दिल टूट गया धीरे – धीरे

*********************

अय मौत, उन्हें भुलाए जमाने गुजर गए
आजा कि जहर खाए जमाने गुजर गए

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (22 votes, average: 3.32 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग