blogid : 355 postid : 950

रहीम के दोहे अर्थ सहित: Rahim ke Doha with Meaning

Posted On: 2 Dec, 2012 Others में

थोडा हल्का - जरा हटके (हास्य वयंग्य )Shayri, jokes, chutkale and much more...

jack

248 Posts

1194 Comments

rahim ke dohe with meaning in hindi

रहीम भारतीय सहित्य जगत के उच्चतम कवि हैं. उनके लिखे दोहे और उक्त्यियों को अगर जीवन में अमल करा जाए तो बहुत फायदा होगा. रहीम के कई दोहे मैं पहले भी लिख चुका हूं और अब हाजिर हैं कुछ अन्य..


रहीम के दोहे अर्थ सहित: Rahim ke Doha with Meaning

खीरा सिर ते काटिये, मलियत नमक लगाय।
रहिमन करुये मुखन को, चहियत इहै सजाय॥
अर्थ:
खीरे को सिर से काटना चाहिए और उस पर नमक लगाना चाहिए। यदि किसी के मुंह से कटु वाणी निकले तो उसे भी यही सजा होनी चाहिए।


**********************


रहीम के दोहे अर्थ सहित: Rahim ke Doha with Meaning

जे गरीब पर हित करैं, हे रहीम बड़ लोग।
कहा सुदामा बापुरो, कृष्ण मिताई जोग॥
अर्थ:
जो गरीब का हित करते हैं वो बड़े लोग होते हैं। जैसे सुदामा कहते हैं कृष्ण की दोस्ती भी एक साधना है।


**********************


रहीम के दोहे अर्थ सहित: Rahim ke Doha with Meaning

चाह गई चिंता मिटी, मनुआ बेपरवाह।
जिनको कछु नहि चाहिये, वे साहन के साह
अर्थ:
जिन्हें कुछ नहीं चाहिए वो राजाओं के राजा हैं। क्योंकि उन्हें ना तो किसी चीज की चाह है, ना ही चिंता और मन तो बिल्कुल बेपरवाह है।


**********************


रहीम के दोहे अर्थ सहित: Rahim ke Doha with Meaning

रहिमन देख बड़ेन को, लघु न दीजिये डारि।
जहाँ काम आवै सुई, कहा करै तलवारि॥
अर्थ:
बड़ों को देखकर छोटों को भगा नहीं देना चाहिए। क्योंकि जहां छोटे का काम होता है वहां बड़ा कुछ नहीं कर सकता। जैसे कि सुई के काम को तलवार नहीं कर सकती।


**********************


रहीम के दोहे अर्थ सहित: Rahim ke Doha with Meaning

जो रहीम गति दीप की, कुल कपूत गति सोय।
बारे उजियारो लगे, बढ़े अँधेरो होय॥
अर्थ:
दीपक के चरित्र जैसा ही कुपुत्र का भी चरित्र होता है। दोनों ही पहले तो उजाला करते हैं पर बढ़ने के साथ-साथ अंधेरा होता जाता है।


**********************


रहीम के दोहे अर्थ सहित: Rahim ke Doha with Meaning

बड़े काम ओछो करै, तो न बड़ाई होय।
ज्यों रहीम हनुमंत को, गिरिधर कहे न कोय॥
अर्थ:
जब ओछे ध्येय के लिए लोग बड़े काम करते हैं तो उनकी बड़ाई नहीं होती है। जब हनुमान जी ने धोलागिरी को उठाया था तो उनका नाम कारन ‘गिरिधर’ नहीं पड़ा क्योंकि उन्होंने पर्वत राज को छति पहुंचाई थी, पर जब श्री कृष्ण ने पर्वत उठाया तो उनका नाम ‘गिरिधर’ पड़ा क्योंकि उन्होंने सर्व जन की रक्षा हेतु पर्वत को उठाया था|


**********************


रहीम के दोहे अर्थ सहित: Rahim ke Doha with Meaning

माली आवत देख के, कलियन करे पुकारि।
फूले फूले चुनि लिये, कालि हमारी बारि॥
अर्थ:
माली को आते देखकर कलियां कहती हैं कि आज तो उसने फूल चुन लिया पर कल को हमारी भी बारी भी आएगी क्योंकि कल हम भी खिलकर फूल हो जाएंगे।

Kabeer ke dohe with meaning in hindi

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (32 votes, average: 4.16 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग