blogid : 355 postid : 796

Valentine Day Special: आज तेरे प्यार की कहानी लिखता हूं

Posted On: 30 Jan, 2014 Others में

थोडा हल्का - जरा हटके (हास्य वयंग्य )Shayri, jokes, chutkale and much more...

jack

248 Posts

1194 Comments

वैसे तो वैलेताइन डे खत्म हो गया है पर हमारे लायक अभी तक कोई मिली नहीं है. एक दो लड़कियों से मुलाकात भी हुई लेकिन वह भी वैलेंटाइन बनने को रेडी नहीं हुई. खैर हम भी हारने वालों में से नहीं है. हम भी अभी भी लाइन में हैं. क्या हुआ जो किसी ने हमें नहीं चाहा. हम तो सबको चाहत का मौका दे रहे हैं. इसीलिए मैं दुबारा से शायरियां याद करने में अपना समय लगा रहा हूं. इन्हीं चंद शायरियों में से हाजिर है कुछ चुनिंदा खबरें:


happy valentine dayValentine Day Special: Hindi Shayri

बातें कुछ भूली बिसरी पुरानी लिखता हूँ

आज तेरे प्यार क़ि कहानी लिखता हूँ

तुझे सोचता हूँ तो साँसे महकती हैं मेरी

दिल के खुदा को दिल क़ि जुबानी लिखता हूँ

हम तुम इतने जुदा एक होते भी कैसे

खुद को दीवाना तुझको सयानी लिखता हूँ

तेरी जुल्फों क़ि छाँव में कटती ऐ काश जिन्दगी

कुछ हसरते गुमनाम कुछ जानी पहचानी लिखता हूँ

अपने अधिकार से परे भी तेरे बारे में सोचा ह कई बार

ईमान से आज दिल क़ि सारी बेईमानी लिखता हूँ

आज तेरे प्यार क़ि कहानी लिखता हूँ..

******************

क्या आपको आपकी प्रेमिका से सच्चा प्यार है ?


Love couples _images_photos

पनाहों में जो आया हो, तो उस पर वार क्या करना ?
जो दिल हारा हुआ हो, उस पे फिर अधिकार क्या करना ? 0
मुहब्बत का मज़ा तो डूबने की कशमकश में हैं,
जो हो मालूम गहराई, तो दरिया पार क्या करना

******************




कुछ लोग यहाँ मंज़िलें पाने के लिए थे
हम जैसे फ़क़त ख़ाक उड़ाने के लिए थे !

एक उम्र गुज़रने पे खुला राज़ यह हम पर
हम लोग किसी और ज़माने के लिए थे…

******************


मिले हो आप तो मुझसे दूर मत जाना !
जिंदगी में अकेला मुझे छोर के मत जाना !!
खता हो गई हो तो माफ कर देना मुझे !
मगर दुसरो के सहारे हमे छोर मत जाना

******************

शादीशुदा से रोमांस करने के पहले…


फूलों को खिलना सिखाया नहीं जाता !
काँटों को चुभना बताया नहीं जाता…!!
कोई बन जाता हैं खुद से अपना !
वर्ना हर किसी को अपना बनाया नहीं जाता !!
******************


मेरे आगोश में मरने की दुवा करती थी !
वो मुझे अपनी जिंदगी कहा करती थी !!
बात किस्मत की हैं जो जुदा हो गए हम !

वर्ना वो मुझे अपनी तक़दीर कहा करती थी !!

******************


इश्क ने इंसान को क्या बना दिया ,
किसी को कवी तो किसी को कातिल बना दिया .
दो फूल का बोज न उठा सकती थी मुमताज़ ,और शाहजह ने उसपे ताज महल बना दिया .


Romantic Poems: मैं जिससे प्यार करता हूं…

Breakup Reasons: क्या आपका पार्टनर भी बेवफा है ?


Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (4 votes, average: 4.25 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग