blogid : 2623 postid : 331

मौत के सौदागर ?

Posted On: 4 Oct, 2012 Others में

RAJESH _ REPORTERअब कलम से न लिखा जाएगा इस दौर का हाल अब तो हाथों में कोई तेज कटारी रखिये

jagojagobharat

169 Posts

304 Comments

30 वर्षीया समीना (काल्पनिक नाम ) विवाह के कई वर्षो बाद बच्चे को जन्म देने प्रसव पीड़ा को ख़ुशी ख़ुशी सहते हुए नर्सिंग होम पहुचती है लेकिन उसे क्या पता था की जिस मातृत्व सुख के लिए वो इतना दर्द सह रही है उसे कुछ पल में ही खोना पड़ेगा और उसका कारन बनेगा एक स्वार्थी डोक्टर जिसे की लोग कलयुग का भगवान समझते है/ जी हां समीना के ओप्रेसन का सौदा डाक्टर से १८०००/- (अठारह हजार) रूपये में होता है परिवार वाले रुपया जमा करते है और समीना पहुच जाती है मौत के टेबल पर जहा उसका ओप्रेसन होता है डोक्टर लता माधव के द्वारा लेकिन समीना के बच्चे की मौत हो जाती है और डोक्टर भी पल्ला झाड़ लेती है समीना और उसके परिवार वाले ऊपर वाले की मर्जी समझ चुप हो जाते है लेकिन कुछ हो घंटो बाद समीना की हालत भी बिगड़ने लगती है और ऐसा देख डाक्टर साहिबा तुरंत उसे रेफर करने की बात करती है एक तो परिवार वाले पहले से ही दुखी थे बच्चे की मौत से उसपर तुरंत ही समीना को भी रेफर करने की बात सामने आती है तो और दुखी होते है लेकिन समीना की जान बचानी थी मरता क्या ना करता परिवार वाले तुरंत मेडिकल कालेज ले गए लेकिन वहा भी चिकत्सको ने रेफर कर दिया सिलिगुरी के नर्सिंग होम में इतना कुछ होते लगभग २४ घंटे का समय बीत चूका था आनन फानन में ११० किलोमीटर सिलिगुरी ले जाया गया समीना को लेकिन सिलिगुरी से भी डोक्टर की गलती बोल उसे नर्सिंग होम में रखने से माना कर दिया गया अब बेचारी समीना जीवन और मौत के बिच जूझ रही थी उसकी आँखों में मौत का खौफ साफ देखा जा सकता था .दर्द से कराहती समीना का यह दर्द मातृत्व सुख के लिए उभरा दर्द नहीं था यह दर्द उसकी मौत का था जो की धीरे धीरे उसकी तरफ बढ़ रहा था परिवार वाले अभी भी समीना को बचाने के लिए जी जान से लगे थे और अब वो फिर उसी नर्सिंग होम में पहुच गई थी जहा से वो निकली थी और परिवार वाले डोक्टर लता माधब से समीना की जान बचाने की गुहार लगा रहे थे पर डाक्टर लता माधव अब उसे किसी भी हालत में अपने नर्सिंग होम में नहीं रखना चाहती थी ये वही डाक्टर थी जिसने अपने दलालों के माध्यम से समीना को नर्सिंग होम बुलाया था लेकिन अब समीना और उसकी जिंदगी से उसे कुछ लेना देना नहीं था खैर पुलिस आई और डाक्टर को मजबूर किया गया समीना को रखने के लिए तब जाकर समीना को पुनह नर्सिंग होम में रखा गया लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी थी समीना अब इस दुनिया में नहीं है .समीना की पूरी कहानी के पीछे स्वार्थी चिकित्सक लता माधव थी क्योकि उन्होंने समीना की सर्जरी गलत की थी और वो सर्जन नहीं है . अब डाक्टर लता माधव के ऊपर पुलिस ने गैर इरादतन हत्या का मामला दर्ज किया है इसके क्या नतीजा निकलेगा यह आप भी समझ सकते है क्योकि आये दिन पुरे देश में चिकित्सको की लापरवाही से हजारो मौत होती है हर दिन कही ना कही समीना मारी जाती है लेकिन आज तक किसी चिकित्सक पर करवाई नहीं हुई तो इसमें भी क्या करवाई होगी लेकिन कही ना कही हमें जागरूक होने की आश्यकता है ताकि समीना को मौत से बचाया जा सके .

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (2 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग