blogid : 1810 postid : 8

शिक्षित समाज के लिए बहुआयामी प्रयास की जरूरत

Posted On: 26 May, 2010 Others में

All About Education

jagranjosh

68 Posts

59 Comments

सही समय पर सूचना एवं जानकारी का उपलब्ध होना जीवन में आगे बढ़ने की अनिवार्य शर्त है. एक समय था जब शिक्षा और करियर के सम्बन्ध में जानकारी कुछ नगरों में ही उपलब्ध हो पाती थी. इस सूचना या जानकारी का स्वरुप भी बड़ा ही अनौपचारिक था. इस सम्बन्ध में कोई प्रणाली नहीं थी. सूचना क्रांति के बाद सूचना की बाढ़ आ गयी. परन्तु इसने एक नई समस्या को जन्म दिया. उपयुक्त और सही जानकारी का चुनाव करना मुश्किल हो गया. ऐसी स्थिति में निजी क्षेत्र के मंहगे स्कूलों में तो कौंसिलर आदि ने समस्याओं का समाधान कर दिया परन्तु सरकारी और पिछड़े क्षेत्रों के स्कूलों में पढ़ने वाले छात्रों की समस्यायें जस की तस बनी रहीं. पिछड़े और असुविधायुक्त छात्रों के थोड़े बहुत प्रयास भी कोई रंग नहीं ला पाते थे. ऐसे ही समय में इन्टरनेट के तेजी से विस्तार ने एक रोशनी दिखाई और ऐसा लगने लगा कि इस तकनीक के माध्यम से अमीर-गरीब के बीच बढती खाई को कम किया जा सकता है. इन्टरनेट के सहारे शिक्षा और व्यक्तित्व निर्माण से सम्बंधित जानकारी आम छात्रों तक पहुंचाई जा सकती है. तेजी से इन्टरनेट का स्वयं में विस्तार इस प्रयत्न को सफलता दिलाने में बहुत ही सहायक सिद्ध होगा. एक बात और, हम समर्थन करें या विरोध परन्तु यह बात साफ है कि निजी क्षेत्र के बढ़ते कदम को रोका नहीं जा सकता. अतः इस पर यह जिम्मेदारी भी है तथा लोगों की अपेक्षा भी कि यह ज्ञान आधारित समाज के निर्माण में अपनी महती भूमिका अदा करे.

अब यह स्वीकार किया जा चुका है कि शिक्षा का उद्देश्य बहुआयामी व्यक्तित्व को तैयार करना है, जो तेजी से बदलती दुनिया में तालमेल बैठाकर विकास की गति को प्रवाहमान रख सके. बहुआयामी व्यक्तित्व को तैयार करने के लिये विभिन्न स्तरों तथा कई प्रकार के प्रयासों की जरूरत पड़ती है. अतः अब शिक्षा के माध्यम के रूप में केवल स्कूल/कॉलेज ही पर्याप्त नहीं होंगे, बल्कि समस्त माध्यमों का अलग-अलग और संयुक्त रूप से उपयोग करना होगा. नई पीढ़ी में इन्टरनेट के प्रति अगाध आकर्षण को उन्हें शिक्षा देने, उनकी जरूरत की जानकारी को उपलब्ध कराने में भी बेहतर तरीके से प्रयुक्त किया जा सकता है. बच्चे, विद्यार्थी ही नहीं बल्कि स्कूल/कॉलेज, शिक्षक तथा शैक्षिक प्रयास में लगे लोग भी इन्टरनेट के माध्यम से उपलब्ध जानकारी को शिक्षा एवं ज्ञान के  के माध्यम प्रसार के रूप में प्रयुक्त कर सकते हैं.

इस सम्बन्ध में आप सभी क्या सोचते हैं, अवगत कराएँ तथा इस विषय पर एक बहस की शुरुआत करें. किसी भी विषय पर सही समझ के लिए स्वस्थ वार्तालाप की अनिवार्यता होती है.

संपादक-करेंट अफेयर्स, एम. एम. आई  ऑनलाइन

English Translation: Concentrated effort for an educated society

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (3 votes, average: 3.33 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग