blogid : 4582 postid : 551

जनमत : जल सकंट देश की कहानी

Posted On: 31 May, 2011 Others में

मुद्दाविविध राष्ट्रीय मुद्दों-समस्यायों पर विचार-विमर्श, संवाद, सुझाव और समाधान देता ब्लॉग

जागरण मुद्दा

442 Posts

263 Comments

pai chart-1

क्या जल संरक्षणों के कानूनों को लागू करने में राज्य सरकारें गंभीर है?


हां : 84%


नहीं : 16


pai chart-2क्या जल संरक्षण को लेकर स्थानीय एजेंसिया और निकायों की भूमिका केवल सरकारी रस्म की अदायगी की तरह ही है?


हां : 75%

नहीं : 25%


आपकी आवाज :


जल संरक्षणों के कानूनों को लागू करने में राज्य सरकारों ने उदासीनता बरती है. – प्रमोद कुमार (देहरादून)


जल संरक्षण की मुहिम में स्थानीय एजेंसिया और निकायों की भूमिका केवल सरकारी रस्म की अदायगी की तरह ही है. – हरीश चतुर्वेदी (इंदिरा नगर, बांद्रा).


29 मई को प्रकाशित मुद्दा से संबद्ध आलेख “कहां गया पानी!” पढ़ने के लिए क्लिक करें.

29 मई को प्रकाशित मुद्दा से संबद्ध आलेख “जल संकट: देश की कहानी” पढ़ने के लिए क्लिक करें.

29 मई को प्रकाशित मुद्दा से संबद्ध आलेख “थोड़ा है स्वच्छ जल” पढ़ने के लिए क्लिक करें.

29 मई को प्रकाशित मुद्दा से संबद्ध आलेख “प्रदेशों की परेशानी” पढ़ने के लिए क्लिक करें.


साभार : दैनिक जागरण 29 मई 2011 (रविवार)

नोट – मुद्दा से संबद्ध आलेख दैनिक जागरण के सभी संस्करणों में हर रविवार को प्रकाशित किए जाते हैं.

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग