blogid : 249 postid : 633

बॉडीगार्ड : सिर्फ सलमान खान (फिल्म समीक्षा)

Posted On: 31 Aug, 2011 Others में

Entertainment BlogAll about movies and reviews!

Movie Reviews Blog

217 Posts

243 Comments

भारत में रजनीकांत ऐसे अभिनेता हैं जो पर्दे पर कुछ भी कर सकते हैं. और अब रजनीकांत की यही छवि बॉलिवुड में सलमान खान की बन रही है. “वांटेड”, “दबंग” और “रेडी” जैसी फिल्मों में अगर कुछ दिखा तो वह था सिर्फ सलमान खान. इंडस्ट्री में एक ब्रांड बन चुके सलमान खान को अब लोग कहानी का मोहताज नहीं मानते. उनकी नई फिल्म “बॉडीगार्ड” भी सिर्फ सलमान खान शो ही है. सलमान खान अकेले ही दर्जनों पर भारी हैं. दुश्मनों की गोलीबारी उन पर बूंदाबादी लगती है. फैंटसी के करीब लगते स्टंट देखकर आपको जरूर रजनीकांत की फिल्मों की याद आएगी और आप भी मानने को विवश हो जाएंगे कि सलमान खान ही बॉलिवुड और हिन्दी सिनेमा के असली रजनीकांत हैं.


Salman-Khan's bodyguardफिल्म का नाम: बॉडीगार्ड

मुख्य कलाकार: सलमान खान, करीना कपूर, महेश मांजरेकर, शत्रुघ्न सिन्हा, आदित्य पंचोली, रजत रवेल, असरानी, कट्रीना कैफ, राज बब्बर, मोहन कपूर, हिमानी शिवपुरी

निर्देशक: सिद्दिकी लाल

निर्माता: अतुल अग्निहोत्री, अल्वीरा अग्निहोत्री, रिलायंस एंटरटेनमेंट

संगीत: हिमेश रेशमिया, प्रीतम

रेटिंग: ***


Bodyguardफिल्म की कहानी

फिल्म की कहानी में कुछ खास नहीं है. दिव्या (करीना कपूर) बड़े उद्योगपति सरताज राणा की बेटी है. सरताज राणा अपने व्यस्त जीवन और प्रतिद्वंदियों की वजह से अपनी बेटी की सुरक्षा का जिम्मा बॉडीगार्ड बने लवली सिंह (सलमान खान) को देता है. लवली सिंह समय का बहुत पाबंद है और काम के प्रति निष्ठावान है.


लवली सिंह (सलमान खान) दिव्या को कभी भी अकेला नहीं छोड़ता यहां तक की कॉलेज में भी उसके साथ साए की तरह रहता है. उसके ओवर प्रो‍टेक्टिव स्वभाव के कारण दिव्या परेशान हो जाती है. कॉलेज में अपनी आजादी भरी जिंदगी जीने में वह लवली सिंह को रोड़ा मानती है. लवली सिंह को रास्ते से हटाने के लिए दिव्या (करीना कपूर) एक प्लान बनाती है जिसके अनुसार वह छाया नामक एक लड़की बनकर लवली सिंह को फोन पर प्यार का इजहार करती है. लवली सिंह नहीं जानता कि फोन पर उससे प्रेम का इजहार करने वाली छाया वास्तव में उसकी मैडम दिव्या ही हैं. इसके बाद कहानी में एक टर्निग प्वॉइंट आता है जब दिव्या को लवली सिंह के बारे में ऐसी बात पता चलती है जिसकी वजह से वह उसे सच में प्यार करने लगती है. इस प्रेम कहानी के अंत में एक पेंच है, जो ‘दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे’ और ‘कुछ कुछ होता है’ की झलक देता है.


Bodyguard-movie-still-–-Kareena-Kapoor-2011फिल्म समीक्षा

निर्देशन और कहानी

सिद्दिकी मलयालम के मशहूर निर्देशक हैं. उनकी फिल्में खूब पसंद की जाती हैं. प्रियदर्शन ने उनकी कई फिल्मों का हिंदी रिमेक किया है. इस बार सिद्दिकी की शर्त थी कि उसी को हिंदी में रिमेक का अधिकार देंगे, जो उन्हें इसे हिंदी में निर्देशित करने देगा. नतीजा सामने है. सिद्दिकी और सलमान खान ने मिलकर बॉडीगार्ड को हिंदी दर्शकों के लिए फिर से रचा है. इस फिल्म में पूरी तरह से सलमान खान के प्रशंसक दर्शकों का खयाल रखा गया है और हिंदी सिनेमा के मेलोड्रामा का छौंक लगाया गया है. इस छौंक में करीना कपूर काम आ गई हैं.


बॉडीगार्ड सामान्य एक्शन फिल्म नहीं है. यह एक्शन की जबदरस्त फैंटसी है. रियल लाइफ में ऐसा मुमकिन नहीं है. रील पर अवश्य ही रजनीकांत के साथ ऐसी फैंटसी क्रिएट की जाती रही है. सलमान खान अकेले ही दर्जनों पर भारी हैं. दुश्मनों की गोलीबारी उन पर बूंदाबादी लगती है. इस फिल्म के एक्शन के लिए हैरतंगेज से आगे का कोई शब्द खोजना होगा.


फिल्म के किरदार

रफ एंड टफ लुक में सलमान खान को देखना वाकई हैरतंगेज है. फिल्म की कहानी भी सलमान खान की भोली सूरत और सुडौल शरीर को ध्यान में रखते लिखी गई है. फिल्म में सलमान खान ने बेहतरीन काम किया है और दिखा दिया है कि अब वह भी परिपक्व अभिनेताओं की श्रेणी में आते हैं. उनके अभिनय में मेहनत दिखती है.


करीना कपूर को फिल्म में बहुत ही सुंदर और चालू लड़की के रूप में दिखाया गया है. करीना कपूर ने भी अपने किरदार के साथ पूरा न्याय किया. इमोशनल सीन में उन्होंने हमेशा की तरह प्रभावित किया है.


फिल्म में अन्य सितारों ने भी अच्छा काम किया है पर सलमान खान की मौजूदगी ने सभी किरदारों को धुंधला कर दिया है. फिल्म के संवाद सपाट हैं यानि बेहद सीधे-सादे से हैं जो आम बोलचाल की तरह लगते हैं. इमोशन और एक्शन का इस फिल्म में भरपूर इस्तेमाल किया गया है.


फिल्म का संगीत पहले ही हिट हो चुका है. प्रीतम और हिमेश रेशमिया ने मिलकर लोगों को झूमने पर मजबूर कर दिया है. फिल्म में कैटरीना कैफ का एक आइटम नंबर भी है.

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (15 votes, average: 4.27 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग