blogid : 249 postid : 626682

चटपटे मसालों के बीच नमक भूल गए

Posted On: 16 Oct, 2013 Others में

Entertainment BlogAll about movies and reviews!

Movie Reviews Blog

217 Posts

243 Comments

एक्शन, ड्रामा, रोमांस इन तीन चीजों के मिलन से कोई भी फिल्म बॉक्स ऑफिस पर सुपरहिट हो जाती है पर अगर यह तीन बातें फिल्म में नहीं हैं तो फिल्म की कहानी काफी जोरदार होनी चाहिए. एक इंटरव्यू की याद आती है जिसमें अक्षय कुमार ने स्वयं कहा था कि किसी भी फिल्म को सुपरस्टार के जरिए बॉक्स ऑफिस पर सुपरहिट नहीं कराया जा सकता है. कुछ ऐसा ही इस बार उनके साथ भी हुआ है. ‘बॉस’ फिल्म दर्शकों को काफी आकर्षित कर रही थी क्योंकि इसमें अक्षय कुमार एक्शन करते हुए नजर आ रहे हैं पर फिल्म के निर्देशन और कहानी को देखने के बाद ‘बॉस’ फिल्म से लगाई गई उम्मीदें व्यर्थ ही नजर आती हैं.


फिल्म: बॉस

निर्देशक: एंथनी डिसूजा

अभिनेता: अक्षय कुमार, रोनित रॉय, मिथुन चक्रवर्ती, शिव पंडित, अदिति राव हैदरी, डैनी डेन्जोंगपा, जॉनी लीवर, परीक्षित साहनी, प्रभु देवा (गेस्ट एपीयरेंस) योयो हनी सिंह (गेस्ट एपीयरेंस) सोनाक्षी सिन्हा (गेस्ट एपीयरेंस)
रेटिंग:  **1/2

लता दी को क्यों था शादी से परहेज ?


बॉस की कहानी

बॉस फिल्म की कहानी शुरू होती है एक लड़के की कहानी से जिसे उसके सत्यवादी पिता सत्यकांत शास्त्री (मिथुन चक्रवर्ती) ने घर से निकाल दिया. बस यहीं से क्लैश ऑफ इंटरेस्ट शुरू हो जाता है. अपने पिता की आंखों में फिर से खुद के लिए प्यार देखने को बेताब रहता है बॉस मतलब अक्षय कुमार. अक्षय कुमार की शानदार फाइट, चेज सीन और जोर-जोर से डायलॉग बोलने वाले सीन काफी दमदार हैं पर इसके बावजूद भी वो दर्शकों को हंसाने में कामयाब नहीं रहे. हां, फाइट के दौरान डैशिंग खूब लगे. रोनित राय उस कठोरता को बरकरार रख पाए, जिसकी उनके किरदार से उम्मीद की जा सकती थी.


बॉस का निर्देशन

निर्देशक डिसूजा ने फिल्म बॉस से पहले एक और झेलम फिल्म बनाई थी फिल्म ब्लू. उसके बाद वह गुमनामी में गुनगुना रहे थे और अब एक बार फिर से बॉस फिल्म लेकर आए जिसके निर्देशन में बात करने से पहले कहानी के बारे में बात की जाए तो वो ही हाल है जैसे खाने को चटपटे मसालों के साथ बनाया गया हो पर नमक ही ना हो तो मसालों का क्या फायदा.


क्यों देखें: अक्षय कुमार का एक्शन देखना पसंद है तो.

क्यों ना देखें: मारधाड़ के शौकीन नहीं तो फिल्म को ना देखें.


जरा कैट से तो पूछिए वो किसे चाहती हैं

क्या 60 साल बाद भी ‘आवारा’ फिल्म दिल जीत पाएगी?


Web Title: boss movie review akshay kumar




Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग