blogid : 249 postid : 683

इस हफ्ते की फिल्में

Posted On: 14 Oct, 2011 Others में

Entertainment BlogAll about movies and reviews!

Movie Reviews Blog

217 Posts

243 Comments

दीवाली आने को है और इस वजह से बॉलिवुड के फिल्मकार पर्दे पर बड़ी फिल्में लाने से बच रहे हैं. इसका ताजा उदाहरण है इस हफ्ते रिलीज हुई फिल्में जिसमें माई फ्रेंड पिंटो, जो डूबा सो पार – इट्स लव इन बिहार, अजान और मोड़ जैसी फिल्मे हैं जिसमें बड़े कलाकारों का कोई नाम नहीं है.


इस हफ्ते रिलीज हुई फिल्मों में अधिकतर लो बजट हैं. विनय पाठक, रजत कपूर, आयशा टाकिया, प्रतीक बब्बर, कल्कि कोचलिन जैसे सितारे ही इस हफ्ते पर्दे पर दिखाई देंगे. आइए एक नजर में देखते हैं इस हफ्ते रिलीज होने वाली फिल्मों को.


Jo Dooba So Paar - It`s Love In Bihar!जो डूबा सो पार-इट्स लव इन बिहार (रोमांटिक कॉमेडी)

यह फिल्म बिहार के भ्रष्टाचार और हिंसा पर आधारित है. बिहार का एक सामान्य लड़का है किशु. बेपरवाह और अपनी जिंदगी में उलझे किशु को अमेरिका से बिहार आई एक लड़की सपना से प्यार हो जाता है. सपना मधुबनी पेंटिंग्स पर रिसर्च कर रही है. प्यार में डूबे किशु की नैया पार लगने के पहले ही सपना का अमेरिकी ब्वॉयफ्रेंड टपक पड़ता है. इसी बीच सपना का अपहरण भी हो जाता है.


इसके बाद की पूरी कहानी सपना को ढूंढ़ने में ही गुजर जाती है. फिल्म में रजत कपूर पुलिस अफसर के रोल में हैं और विनय पाठक पूरी फिल्म में बढ़ी सफेद दाढ़ी और हाथ में दारू की बोतल लिए हुए हैं.


फिल्म में अगर कुछ देखने लायक है तो वह है बिहारी स्टाइल का प्यार.


My friend Printo माई फ्रेंड पिंटो (कॉमेडी)

अगर इस हफ्ते आपको कम बजट में हंसना पसंद है और आप बिना किसी बड़े कलाकार को पर्दे पर देखे बिना भी हंस सकते हैं तो “माई फ्रेंड पिंटो” आपके लिए एक बेहतरीन फिल्म है. प्रतीक बब्बर, कल्कि कोचलीन जैसे युवा कलाकारों के साथ यह फिल्म आपको हंसा-हंसा कर पागल बना देगी.


गोवा निवासी माइकल पिंटो (प्रतीक बब्बर) की जिंदगी म्यूजिक और मां तक सिमटी रहती है. पिंटो का दोस्त समीर बहुत पहले मुंबई चला गया था. पिंटो ने उसे दर्जनों पत्र लिखे, मगर एक का भी जवाब नहीं आया. सीधा-सादा पिंटो मुसीबतों में फंसता रहता है. मां के निधन के बाद अकेला हो गया पिंटो दोस्त समीर की खोज में मुंबई जाता है. अब मुंबई जैसे बड़े शहर में पिंटो (प्रतीक बब्बर) अपने दोस्त समीर को ढूंढ़ पाता है या नहीं यही फिल्म की कहानी है.


हास्य से भरपूर इस फिल्म में कल्कि कोचलीन ने कुछ बोल्ड दृश्य भी दिए हैं जो हल्की कॉमेडी के लिहाज से आप पचा सकते हैं. इसके अलावा मनीषा कोइराला और नसीरुद्दीन शाह सरीखे कलाकारों ने छोटे-छोटे दृश्यों में दर्शकों को खूब हंसाया है.


Azaanअजान (थ्रिलर)

जासूसी, एक्शन और आतंकवाद की पृष्ठभूमि पर बनी अजान एक नए एक्टर सचिन जोशी की फिल्म है. प्रशांत चड्ढा के निर्देशन में बनी इस फिल्म की शूटिंग कई देशों में की गई है. पर बड़े नामों की गैरमौजूदगी और जरूरत से ज्यादा एक्शन की वजह से फिल्म कुछ खास नहीं बन पाई.


फिल्म की कहानी अजान (सचिन जोशी) के ईर्द-गिर्द घूमती है जो रॉ के लिए काम करता है. वह अपने भाई की तलाश में है जिसे लोग आतंकवादी मानते हैं. अपने भाई को ढूंढ़ने के दौरान ही उसे भारत के खिलाफ कई षड़यंत्रों का पता चलता है. आगे की कहानी पूरी तरह फिल्मी है कि किस तरह एक अकेला हीरो अपने देश को विदेशी दुश्मनों से बचा लेता है.


Modमोड़ (ड्रामा)

अभिनेता रणविजय सिंह को इससे पहले आप छोटे पर्दे पर कई बार देख चुके होंगे. अब मौका है उन्हें एक बड़ी फिल्म में देखने का. फिल्म का नाम है मोड़. निर्देशक नागेश कुकनूर की मोड़ एक कस्बे में घटी अनोखी प्रेम कहानी है. फिल्म में मुख्य भूमिका मॉडल और अभिनेता रणविजय सिंह, आयशा टाकिया, रघुवीर यादव, तन्वी आजमी, अनंत महादेवन ने निभायी है.


फिल्म अरण्या (आयशा टाकिया) और एंडी (रणविजय सिह) के ईर्द गिर्द घूमती है. अरण्या की घड़ी सुधारने की दुकान है, जो कभी उसकी मां की थी. अरण्या और उसके पिता का गुजारा इसी से होता है. एक दिन एंडी नामक अजनबी अरण्या की दुकान पर अपनी घड़ी सुधरवाने आता है. उसे अपनी घड़ी बनवाने के लिए दुकान पर बार-बार आना पड़ता है और इसी दौरान उसे अरण्या से प्यार हो जाता है.


फिल्म में हिमाचल की हसीन वादियां देख आप रोमांचित हो उठेंगे. इसके अलावा और कुछ भी आपको ऐसा नहीं लगेगा जिसकी वजह से आप अपनी जेब हल्की करना चाहें.


Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (2 votes, average: 4.00 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग