blogid : 249 postid : 621

फिल्म समीक्षा: नॉट ए लव स्टोरी

Posted On: 19 Aug, 2011 Others में

Entertainment BlogAll about movies and reviews!

Movie Reviews Blog

217 Posts

243 Comments

बहुचर्चित नीरज ग्रोवर हत्याकांड से प्रेरित होकर निर्देशक राम गोपाल वर्मा ने अपनी नई फिल्म “नॉट ए लव स्टोरी” बनाई है. एक बंद कमरे के अंदर आखिर क्या-क्या हुआ, जब नीरज की हत्या की गई थी, इसी सोच पर आधारित है यह पूरी फिल्म. दरअसल नीरज ग्रोवर हत्याकांड में कोर्ट का फैसला आ चुका है लेकिन फिर भी इस पर कई तरह के कयास लगाए जा रहे हैं कि आखिर उस दिन हुआ क्या था. सबकी अपनी-अपनी सोच है और इसी सोच को रामू ने अपनी फिल्म में दर्शाया है. माही गिल, दीपक डोबरियाल व अजय गेही अभिनीत यह फिल्म लो बजट की है और बहुत जल्द पूरी भी हो गई. निर्देशक राम गोपाल वर्मा पहले ही कह चुके हैं कि यह फिल्म नीरज ग्रोवर हत्याकांड से प्रेरित होकर बनाई गई है ना कि पूरी की पूरी उसी हत्याकांड पर आधारित है. लेकिन फिल्म देखने के बाद आपको लगेगा कि कहीं ना कहीं फिल्म को वास्तविक कहानी में जरा से बदलाव और मसाला लगा कर बेहतरीन तरीके से पेश किया गया है.


फिल्म: नॉट ए लव स्टोरी

कलाकार: माही गिल, दीपक डोबरियाल, अजय गेही, जाकिर हुसैन, रसिका जोशी

निर्देशकः राम गोपाल वर्मा

संगीत: संदीप चौटा

निर्माता: सुनील बोहरा, शैलेश सिंह

रेटिंग: **


Not a love story movie reviewफिल्म की कहानी

वैसे फिल्म की कहानी में कुछ खास नहीं है. वही एक हिरोइन है जो अपने प्रेमी को मनाकर मुंबई अपने सपनों की उड़ान पूरी करने आती है और यहां सहारे के लिए “वो” से मिलती है और फिर उसका प्रेमी अपनी प्रेमिका को किसी और के साथ देखकर आगबबूला होकर उस लड़के का कत्ल कर देता है.


फिल्म में अभिनेत्री बनने की ख्वाहिश रखने वाली अनुषा चावला की भूमिका माही गिल ने अदा की है. अनुषा चावला(माही गिल) अपने प्रेमी रॉबिन फर्नांडिस(दीपक डोबरियाल) को मनाकर मुंबई अभिनेत्री बनने आती है लेकिन यहां उसे अपनी मंजिल हासिल करने में बेहद परेशानी होती है. पर अंत में एक फिल्ममेकर आशीष भटनागर(अजय गेही) माही की बहुत मदद करता है. आशीष अनुषा को एक फिल्म में रोल दिला देता है पर उसके बदले अनुषा से कुछ चाहता है. अनुषा भी लालच में आकर खुद को आशीष को सौंप देती है. फिल्म के इसी मोड़ पर बेहद बोल्ड सींस हैं जिनकी वजह से पिछले दिनों माही गिल चर्चा में रहीं.


लेकिन एक सुबह रॉबिन फर्नांडिस(दीपक डोबरियाल) माही को ढूंढ़ते हुए उसके फ्लैट पर पहुंच जाता है. फ्लैट पर अपने प्रेमिका के साथ किसी पराए मर्द को देखकर वह आगबबूला हो जाता है. अनुषा(माही गिल) भी खुद को बचाने के लिए परिस्थितिवश यह कह देती है कि फिल्ममेकर आशीष भटनागर(अजय गेही) ने उसके साथ जबरदस्ती की.


इसके बाद रॉबिन आशीष को मार देता है और फिर दोनों इस मौत को छुपाने के लिए लाश के टुकड़े-टुकड़े करके फेंक देते हैं. पर कानून के हाथों से अनुषा और रॉबिन बच नहीं पाते. आगे क्या होता है यह सबको पता ही होगा.


nals14-1_1313574035_lफिल्म की समीक्षा

अगर वास्तविक घटनाओं को फिल्मों के माध्यम से उतारने की बात की जाए तो राम गोपाल वर्मा ने बेहतरीन काम किया है पर शायद इस बार वह कलाकारों से उनका बेहतरीन काम निकालना भूल गए. अपराध और हॉरर राम गोपाल वर्मा के पसंदीदा सब्जेक्ट हैं लेकिन पिछले काफी समय से राम गोपाल वर्मा फ्लॉप पर फ्लॉप दिए जा रहे हैं और अगर लोगों ने इस फिल्म का साथ नहीं दिया तो यह भी उसी लिस्ट में शामिल हो जाएगी.


कलाकारों की बात की जाए तो माही गिल ने रो-रोकर लोगों की सहानुभूति जीतने की कोशिश की जिसमें वह असफल रहीं पर पर्दे पर बेहद बोल्ड दृश्य देकर उन्होंने सबको चौंका जरूर दिया. दीपक डोबरियाल भी अपने अभिनय से कोई खास छाप नहीं छोड़ पाए.


पर फिल्म में अजय गेही ने बेहद अहम और बेहतरीन रोल अदा किया. अपने छोटे से रोल में उन्होंने सराहनीय काम किया है. फिल्म में जाकिर हुसैन ने भी इंस्पेक्टर की भूमिका में अच्छा काम किया है.


अगर आप राम गोपाल वर्मा की धीमी फिल्मों को झेल सकते हैं तो यह फिल्म आपको जरूर पसंद आएगी. पर अगर आप आज के जमाने की तेज-तरार्र फिल्में देखना चाहते हैं तो फिल्म को सिनेमाघर की बजाय टीवी पर आने तक का इंतजार करें.

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (3 votes, average: 3.67 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग