blogid : 249 postid : 815

तेज – एक्शन ही है असली हीरो [ फिल्म समीक्षा ]

Posted On: 27 Apr, 2012 Others में

Entertainment BlogAll about movies and reviews!

Movie Reviews Blog

217 Posts

243 Comments

ajayहाल के दिनों में बॉलिवुड में एक्शन पैक्ड फिल्मों की बहार आई हुई है. हर दूसरी फिल्म में आपको बेहतरीन एक्शन दृश्य देखने को मिल ही जाते हैं और इसी की कड़ी में एक और नाम जुड़ा है फिल्म “तेज” का. संजय दत्त और अजय देवगन जैसे एक्शन सितारों से भरी इस फिल्म का प्रोमो तो बहुत ही हिट हुआ है लेकिन फिल्म की कहानी कहीं ना कहीं लोगों को अपनी ओर खींच पाने में बेहतरीन साबित नहीं हो पाएगी. लेकिन अगर यह फिल्म हिट हो जाए तो इसमें कोई अचरज भी नहीं होगा क्यूंकि हाल के सालों में जिस तरह से एक्शन फिल्मों का बाजार सजा है उसे देखते हुए कुछ भी कहना मुश्किल है.


निर्माता: रतन जैन


निर्देशक: प्रियदर्शन


संगीत: साजिद-वाजिद


कलाकार: अजय देवगन, अनिल कपूर, मोहनलाल, कंगना रानौत, बोमन ईरानी, समीरा रेड्डी और जायद खान


रेटिंग: ** ½


तेज की कहानी

फिल्म की कहानी एक सिस्टम से हारे हुए इंसान की है जो अपना बहुत कुछ गंवा चुका है और अब वह इसका बदला दूसरों को नुकसान पहुंचा कर लेना चाहता है लेकिन एक पुलिस अधिकारी उसे ऐसा करने से रोकता है.


आकाश राणा (अजय देवगन) ट्रेन में बैठे लोगों की जिंदगी दांव पर लगा देता है. यह ट्रेन ग्लासगो से लंदन जा रही है. दूसरी ओर काउंटर टेररिज्म कमांडर अर्जुन खन्ना (अनिल कपूर) का काम है कि किसी भी तरह से ट्रेन को रोकना. दोनों में से कोई एक ही सफल रहेगा.


फिल्म समीक्षा

18 वर्ष पहले तेज नाम की एक हॉलिवुड फिल्म आई थी. तेज उसका बॉलिवुड रीमेक है. फर्क बस यह है कि ‘स्पीड’ में बस में बम रखा है जबकि ‘तेज’ में एक ब्रिटिश ट्रेन में जिसकी स्पीड 60 मील से कम होते ही धमाका हो जाएगा. फिल्म की सबसे बड़ी कमी ही यही है कि इसका कॉंसेप्ट बहुत पुराना है. डायरेक्टर प्रियदर्शन ने एक्शन और थ्रिलर की परत के नीचे एक इमोशनल स्टोरी को भी जोड़ा है लेकिन वह बहुत ज्यादा सफल नहीं हो पाए. एक्शन से भरपूर फिल्म होने के बावजूद तेज फिल्म में थ्रिलर की कमी हर जगह खली है. लेकिन जब थ्रिलर को नजरअंदाज कर अभिनय की तरफ ध्यान देने की कोशिश करेंगे तो फिल्म बहुत लंबी लगने लगेगी.


actors of tezzसितारों का अभिनय

एंटी टेरोरिस्ट स्क्वाड के डिटेक्टिव बने अनिल कपूर से लेकर अजय देवगन और रेल ट्रैफिक कंट्रोलर बने बोमन ईरानी सभी ने एवरेज परफॉरमेंस दिया है. बोमन के दो-तीन इंप्रेसिव सीन हैं जबकि समीरा रेड्डी छोटे से रोल में भी प्रभावी रही हैं. बाकी सभी कलाकारों का अभिनय कुछ ज्यादा प्रभावी नहीं है.



तेज बुरी नहीं बल्कि एक औसत फिल्म है. अगर किसी ने स्पीड या हॉलिवुड फिल्म नहीं देखी तो उनके लिए यह एक अच्छा टाइम-पास जरूर साबित हो सकती है.


चढ़ा सितारों पर शादी का बुखार


Read Hindi News




Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (2 votes, average: 4.00 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग