blogid : 8248 postid : 50

पाक-भारत क्रिकेट मैचों में नहीं रहा अब रोमांच

Posted On: 21 Mar, 2012 Others में

खास बातजिंदगी की जद्दोजहद पर आधारित विचार

Jamuna

14 Posts

51 Comments

india and pakभारत और पाकिस्तन के बीच खेले जाने वाले अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में अब वह मजा और दर्शकों के बीच उत्साह देखने को नहीं मिलता जो कुछ साल पहले देखने को मिलता था. वह स्टेडियम का खचा-खच भरा होना, वह पूरे मैच में दर्शको के उत्साह में कोई कमी न होना, वह क्षण भर के लिए टीवी से नजरे न हटना, वह लास्ट के ओवरों में रोमांच बरकरार रहना. पूरे मैच के दौरान खिलाड़ियों के बीच टकरार की स्थिति उत्पन रहना आदि.


आज खिलाडियों के बीच टकराव बिलकुल विलुत से हो गए है. भारत का हरेक बल्लेबाज बड़ी आसानी से पाकिस्तान के गेंदबाजो की धंज्जीया उडाता है. उसे पूरे मैच में संभलने का मौका नहीं देता, उस गेंदबाज के खिलाफ मैदान के चारों तरफ शोर्ट मारकर उसे अधमरा कर देता है. लेकिन पहले की बात करें जब इमरान खान, वसीम अकरम, वकार यूनिस और अख्तर का दौर था उस समय पाकिस्तान की बॉलिग विश्वभर के गेंदबाजों के लिए आदर्श होती थी. ऐसी बहुत ही कम टीम थी जो पाकिस्तान के खिलाफ 200 से ज्यादा रन बना पाती.


अपनी बॉलिंग से विश्वभर में धांक जमाए रखना पाकिस्तान टीम की खास विशेषता थी. ऐसा नहीं है कि पाकिस्तान के खिलाड़ी केवल बॉलिंग में ही सर्वश्रेष्ठ थे. बैटिंग और फिल्डिंग के मामले में भी इनका कोई सानी नहीं था. साईद अनवर, यूसुफ युहाना, साईद अफरीदी ऐसे बल्लेबाज थे जो कभी मैच का रूख पलट देते थे. साईद अफरीदी अब भी खेल रहे हैं लेकिन उनके बल्लेबाजी में पहले जैसी धार अब नहीं दिखती.


पाकिस्तान की टीम जब भी किसी टीम खासकर भारत से भिंडती थी तो दर्शकों को उसमें जर्बदस्त रोमांच और दिल दहला देने वाला मैच देखने को मिलता था. ऐसे चुनौतिपूर्ण मैचों को भारत और पाकिस्तान के क्रिकेट प्रेमी कई दिनों तक याद रखते थे. आज के समय में ऐसे मैच बिलकुल दुर्लभ हो चुके है. अब पिछला मैच ही देख लीजिए जो बांग्लादेश के मीरपुर में खेला गया. ऐसा लगता था जैसे पाकिस्तान की टीम भारत के सामने अपने आप को सरेंडर कर दिया हो. भरतीय टीम के नौनिहाल ने पाकिस्तान की इस तरह धुंलाई करता है जिसे देख कर ऐसा लगता है कि भारत और पाकिस्तान का मैच पहले से ही फिक्स था.


Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग