blogid : 311 postid : 28

Hindi Lovers Joke : इश्क

Posted On: 2 Dec, 2012 Others में

Hindi JokesJoke in Hindi, Chutkule, चुटकुले, Chutkule Hindi, Pati Patni SMS Vyangya

Hindi Jokes Blog

1036 Posts

1313 Comments


टीचर की बात मानों

मां- मैं तो तंग हो गई हूं तुमसे. एक के बाद एक गलतियां करते रहते हो. कब सुधरोगे?

बेटा- सुधरने के लिए क्या करना होगा मां?

मां- मम्मी-पापा और टीचर की हर बात माननी होगी.

अगले दिन जब मां कमरे में आई तो बेटे पर नजर पड़ते ही गुस्से से चिल्ला उठी.

मां (डांटते हुए)- किताब के पन्ने क्यों खा रहे हो?

बेटा (मासूमियत से)- सुधरने के लिए मां. तुम्हीं ने तो कहा था सुधरने के लिए टीचर की बात माननी होगी. मैडम ने कहा है, खाते-पीते-सोते बस किताबों में ही लगे रहो. वही तो कर रहा हूं.

**********************************
17239_1197147969877_1263817708_30464759_6105144_n
प्यार और इश्क में फर्क

शिक्षक (राजू से)- प्यार और इश्क में क्या फर्क है?

विद्यार्थी (शिक्षक से)- प्यार वो है जो आप अपनी बेटी से करते हैं और इश्क वो है जो मैं आपकी बेटी से करता हूं.

**********************************
do_sardar
पूरे शरीर में दर्द है

एक बार संता सिंह दर्द की शिकायत लेकर डॉक्टर के पास गया
“आपको कहां दर्द है?” डॉक्टर ने पूछा.
“सब जगह दर्द है, कृपया मेरी मदद कीजिये .” संता ने कहा.
“सब जगह….. क्या मतलब? जरा साफ-साफ बताइये .” डॉक्टर ने पूछा.
संता ने अपनी अंगली से घुटने को छुआ और चिल्लाया – “ओह, यहां दर्द है.” फिर उसने उंगली से ही अपने गाल को छुआ और बताया – “ हे भगवान, यहां भी दर्द है.” फिर उसने अपने कान को छुआ और चीखा – “यहां भी दुखता है . प्लीज मेरा इलाज कीजिये .”

डॉक्टर ने कुछ देर तक ध्यानपूर्वक उसका परीक्षण किया फिर कहा – ”आपकी उंगली टूट गई है.”

**********************************


800px-Lion_waiting_in_Nambia
छेड़ने की सजा

एक जनाब अक्सर अपनी बीबी को छेड़ा करते थे. जब भी वे काम पर जाते तो बोलते:
“गुड बाय! चार बच्चों की अम्मा.”
बीबी बहुत परेशान, एक दिन उसने भी जवाबी हमला बोल दिया. जैसे ही पति बोला,
“गुड बाय! चार बच्चों की अम्मा.
बीबी बोलो : “बाय-बाय, दो बच्चो के बापू.”

**********************************


बाथरूम
सिंगर हूं

प्रेमी तुम गाना बहुत अच्छा गाती : हो
प्रेमिका: ,नहीं मै तो बस बाथरूम सिंगर हूं
प्रेमी : अच्छा, बहुत बढ़िया, तो बुलाओ ना कभी, महफिल जमाते हैं.

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (5 votes, average: 3.60 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग