blogid : 12313 postid : 699873

जीवन से जुड़ गयी हूँ - वैलेंटाइन कांटेस्ट

Posted On: 7 Feb, 2014 Others में

जिन्दगीमेरी अभिव्यक्ति

kantagogia

70 Posts

50 Comments

तुम्हारी दो बाँहों के
घेरे में
बसा हुआ मेरा संसार
तुम्हारे बिना मैं
हूँ तो कहाँ हूँ ?
दूर जहाँ तक दृष्टि जाती है
वहाँ तुम ही तुम हो
तुमसे परे मैं
कुछ भी नहीं ,
मैं तुम मय हो गई हूँ !
तुम्हारे बिना जो जिया
वह भी कोई जीना था,
तुमसे जुड़कर मैं
जीवन से जुड़ गई हूँ !

– कान्ता गोगिया

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग