blogid : 875 postid : 150

चाचा का बाउंसर (हास्य - व्यंग)

Posted On: 15 Jun, 2010 Others में

KADLI KE PAAT कदली के पातचतुर नरन की बात में, बात बात में बात ! जिमी कदली के पात में पात पात में पात !!

R K KHURANA

81 Posts

3239 Comments

चाचा का बाउंसर

प्रिय allrounder जी, आपके बाउंसर के जवाब में हमारा बाउंसर संभालिये !
आपके पास इस बाउंसर का क्या तोड़ है निकालिए !
आप तो पहले ओवर में ही गच्चा खा गए !
6 बालों के ओवर में 7 बाल करा गए !
हमारी दयालुता को हमारी कमजोरी मत कहना !
इस मंच पर सबसे मिलजुल कर है रहना !
“कदली के पात” तो युगों-युगों से पवित्र माने जाते है !
खाने की पत्तल के साथ-साथ पूजा के काम भी आते हैं !
पानी भी बरसेगा, इंद्र देवता हैं प्रसन्न !
इस तरह से खराब मत करो अपना मन !
अब भारत आज़ाद है इस बात की ख़ुशी मनाओ !
पुरानी बातों को याद करके अपना दिल न जलाओ !
हार जीत तो जीवन का खेला है !
यह जिन्दगी दो दिन का मेला है !
हंस खेल कर यहाँ से चले जायोगे !
अच्छा काम करोगे तो सब को याद आओगे !
राम – कृष्ण ने सदा आदर्श है बनाया !
अपने बल पर सारी दुनिया को है नचाया !
यदि इज्जत करोगे तो आशीर्वाद पाओगे !
सब जगह जय जय, होगी नाम कमाओगे !

( प्रिय allrounder जी,
यह पोस्ट खास आपके लिए है ! कृपया ध्यान दीजियेगा !
यह केवल मनोरंजन के लिए है कृपया अन्यथा न लीजियेगा !
राम कृष्ण खुराना )

9988927450

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (50 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग