blogid : 799 postid : 285

चीटियों की तरह रहते आदमी

Posted On: 13 Aug, 2010 Others में

सत्यमेव .....हास्य व्यंग्य एक्सप्रेस

kmmishra

29 Posts

532 Comments

आजादी के 63 साल बाद आज भी भारत में इंसान कीड़े मकोड़ों की तरह रह रहा है । ये बेचारे सड़क किनारे प्लास्टिक का टेंट बना कर रहते हैं । कल रात हुयी बारिश ने इनके घर को भिगो डाला । बैठने के लिये सूखी जमीन भी न बची थी इसलिये ये बेचारे चीटें चीटियों की तरह ऊंची जमीन की तलाश में शहर भर के चौराहों पर जमे हुये हैं ।

che

Pह है उभरते हुये विकसित भारत की तस्वीर ।


बाहर खुले में खाद्यान्न सड़ रहा है और आदमी भी । दानों को एक दूसरे की पिछले 63 साल से तलाश है । न जाने कब यह इंतजार खत्म होगा ।

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (4 votes, average: 3.75 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग