blogid : 25599 postid : 1387477

अटल ! सच आप बहुत याद आओगे

Posted On: 17 Aug, 2018 Others में

Social IssuesJust another Jagran junction Blogs weblog

Sushil Pandey

34 Posts

4 Comments

कल स्वतंत्रता दिवस था न!! हां ठीक कल ही की तो बात है मेरा बच्चा आप की ही तो कविता दोहरा रहा था।

” कलकत्ते के फुटपाथों पर जो आंधी पानी सहते हैं उनसे पूछो 15 अगस्त के बारे मे क्या कहते हैं”

“आंखों मे वैभव के सपने पग मे तुफानों की गति हो”

जी हां मेरा छःह वर्ष का बच्चा जो मेरा नाम भी नही बता पाता ठीक से, उसने आपकी कवितायें कंठस्थ कर लिया था श्रीमान, हम तो जानते थे आपको पर वो तो जानता भी नही है, प्रेम तो उसे भी हो गया था आपसे।

कैसे कहूं उससे की आप नही रहे, जो मुझे आज उत्साहित होकर बता रहा था कि….

“पापा मैने जो कविता सुनाई थी उसकी मेरी शिक्षिका ने बहुत तारीफ की”

आपने तो मूह मोड़ लिया हमसे पर मै उसे कैसे बताऊं की “तुझे कक्षा मे तारीफ दिलाने वाली कविता के रचयिता ने आज ही संसार छोड़ा है”

*शाश्वत है संघर्ष तेरा कोई इन्कार नही सकता,
मन से मानव था कोई धिक्कार नही सकता।
याद बहुत आयेगा, संभव नही भुलाना तुझको,
पर काल जो है उसको कोई ललकार नही सकता।।

बहुत वर्षों बाद किसी राजनेता के मरने पर आम जनता को इतना दुखी देख रहा हूं क्योंकि तुम आम लोगों के आम नेता जो थे।

तुम्हारा जाना कवियों के लिए एक महान कवि का विदा होना है, नेताओं के लिए हरदिल अजीज एक महान नेता का जाना है, और हर एक भारतवासी के लिए उनके सर से अपने बुजुर्गों का साया उठ जाने जैसा है।

आज की राजनीति को अपने धर्म पर अडिग होते हुए अन्य धर्म के लोगो का सम्मान और समाज मे धार्मिक सद्भाव बनाना सीखाया है आपने।

“अबकी बारी अटल बिहारी” नारे के दौरान लोगो के ये पूछने पर कि अगर भा.ज.पा. हार गई तब? आपके जबाब का ये होना कि “अगली बारी अटल बिहारी” आपकी सकारात्मकता की पराकाष्ठा को प्रदर्शित करता है।

विरोधी विचारधारा को आत्मसात करना और उनको साथ लेकर चलना आपने सीखाया है दुनिया को, वो सारे राजनीतिक दल जो आज भाजपा के खिलाफ लामबंद हैं उन्ही सब दलों के साथ पूरे कार्यकाल तक सरकार को चलाना सच मे अद्भुत था, अविश्वसनीय था, कमाल था, और वो धैर्य, साहस और सहनशीलता सिर्फ आपके बुते की ही बात थी।

आप ने ही चुनौती दी पाकिस्तान को कि…

” एक नही दो नही करो बीसों समझौते पर स्वतंत्र भारत का मस्तक नही झुकेगा”

और फिर आपने ही यह भी कहा कि “दोस्त बदले जा सकते हैं पड़ोसी नही”

तुम्हारे १३ महीने के कार्यकाल के दौरान सारी दुनिया के विरोध के बावजूद दुसरो पर उपयोग न करने की दृढ़ता के साथ खुद की रक्षा के लिए पोखरण के वो परमाणु परीक्षण की गुंज संसार भूला नही पायेगा कभी।

सच मे हर भारतीय अपने दिलो मे सहेजकर रखेगा अनंत काल तक अटल आपको।

आप बहुत याद आयेंगे अटल, सच मे तुम बहुत याद आओगे।

सुशील कुमार पाण्डेय

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग