blogid : 9819 postid : 6

बजट की थर्ड डिग्री

Posted On: 17 Mar, 2012 Others में

ummeedJust another weblog

Saurabh Sharma

16 Posts

17 Comments

बजट आने के बाद विभोर तोमर का परिवार चिंता में पड़ गया है. एक और महंगाई के डर से सपने टूटते नजर आ रहे हैं. तोमर जी ने नए वित्तीय वर्ष में कई तरह की प्लानिंग कर रखी थी. सोचा था टेलीविजन बदल देंगे, बिटिया के लिए ज्वैलरी बनवा लेंगे लेकिन उन्हें बजट के बाद धक्का सा लगा है. अब यही सोच रहे हैं कहां से कटौैती करें? आइये जरा हम भी देखें वो क्या करने जा रहे हैं.
बाहर का खाना बंद
तोमर साहब ने आराम कुर्सी से बैठे-बैठे परिवार के सभी सदस्यों को कह दिया है अब हर हफ्ते रेस्टोरेंट में खाना नहीं खाया जाएगा. हफ्ते में एक बार घर पर ही कुछ स्पेशल बनाइये. कोई फिजूल खर्च करने की जरुरत नहीं है. वैसे भी इस बजट ने तो सिगरेट और तंबाकू खाने पर भी बोझ बढ़ा दिया है. मैं भी इसे कम करूंगा.
सिर्फ दो हजार
इनकम टैक्स में क्या रियायत दी है. विभोर तोमर ने अपने बेटे से पूछा? पापा, सिर्फ अब सीमा दो लाख कर दी है. तोमर बोले, इससे कहीं ज्यादा तो एक्साइज और सर्विस टैक्स से ले लेंगे. अमित ने कहा, मगर दवाएं थोड़ी सस्ती होंगी. लेकिन इसका भी कोई फायदा नहीं होने वाला है. न तो हमारे घर में किसी को कैंसर है न ही एचआईवी है.
पॉकेट मनी में कटौती
तोमर मुन्नी और छोटू की ओर देखते बोले, पॉकेट मनी 500 से 200 रुपए ही मिलेंगे. राहुल (सबसे बड़ा पोता) कुछ महीने और कॉलेज सिटी बस में ही जाओ. बाइक अभी नहीं मिलेगी. वैसे भी बजट में बाइक काफी महंगी हो गई है और टीना (तोमर की बेटी) तुम पार्लर जाना बंद करो. सिंपलीसिटी में ही खूबसूरती है.
सोना छोड़ देते
सोने में भी आग लगा दी है. पहले ही सोना 30 हजार से ऊपर जा रहा है. लगता है ब्लड प्रेशर बढ़ जाएगा. टीना की शादी करनी है. सोचा था इस बार सरकार से थोड़ी रियायत मिलेगी. लेकिन उन्होंने तो हमारी कमर ही तोड़ दी. ये बजट नहीं सरकार कर मिडिल क्लास फैमिली पर थर्ड डिग्री है.

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 4.00 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग