blogid : 11804 postid : 643347

अचूक नुस्खॆ

Posted On: 10 Nov, 2013 Others में

kishanchopal.blogspot.comJust another weblog

kuldeepbnt

17 Posts

3 Comments

अचूक नुस्खॆ
कमजोरी दूर करने का अचूक नुस्खा
सितोपलादि चूर्ण १०० ग्राम आमलकी रसायन ५० ग्राम शतावरी चूर्ण ५० ग्राम तथा मुलहटीचूर्ण५० ग्राम इन सबको  मिला कर इस में २५० ग्राम शह्द मिला कर चटनी जैसा बना लें इस की १-१ चम्मच मात्रा दूध के साथ दिन में ३ बार दें कम से कम  दो माह तक सेवन करें कमजोरी दूर करने का अचूक चमत्कारी नुस्खा है
पीलिया
सरसों के तेल की खली १०० ग्राम  का चूर्ण बना लें इस चूर्ण की १ चम्मच  मात्रा१०० ग्राम   दही में   मिलाकर सुबह ८ – ९ बजे लें स्वाद अनुसार नमक या चीनी भी डाल सकते है एक सप्ताह लगातार लेने से पीलिया मल मार्ग से बाहर निकल जायेगा घीतेल में तली चीजो से १० दिनो तक परहेज करें एक सप्ताह में पीलिया जड से समाप्त  हो जायेगा
असमय  हुए सफ़ेद बालों को रोकने  का  नुस्खा
काला तिल कुटा हुआ आंवला चूर्ण ,त्रिफ़ला चूर्ण  मुलहटीचूर्ण  भ्रंगराज चूर्ण पांचों १००-१०० ग्राम तथा  लौह भस्म ५० ग्राम  सबको अचछी  तरह मिला कर  ईसमें ५०० ग्राम मिश्री मिला कर   एक एयर टाईट  डिब्बे में बन्द कर के रक्खें इस की १-१ चम्मच मात्रा सुबह शांम पानी से लें  मधु मेह के रोगी बगैर  मिश्री मिलाये इस चूर्ण  की आधी -आधी चम्मच मात्रा मात्रा सुबह शांम पानी से लें
यह  चूर्ण  ५ से ६ माह तक धैर्य पूर्वक लें दो माह में इस का असर  दिखने लगेगा  यह चूर्ण बालों को  पोसण प्रदान  करने के अ लावा पेट  व त्व्चा के लिये भी लाभ दायक है
सिर में लगाने के लिये तैल
लौह भस्म ,ब्राहमी, लाल चन्दन , सभी १०-१० ग्राम आंवला चूर्ण ,भ्रंगराज चूर्ण , काफ़ी चूर्ण ,सभी २५-२५ ग्राम मेंहदी के पत्ते -२० ग्राम , जैतून का तैल- ५० ग्राम , अरण्डी का तैल -५० ग्राम ,नारियल का तैल -५०० ग्राम,तैलो को छॊड कर सभी चूर्ण का पेस्ट बना लें रात में पेस्ट बना  कररख दें. सुबह लोहे की कडाही में तीनों तेल डाल कर यह पेस्ट डाल दें  इस में -२५० ग्राम पानी डाल दें.अब धीमी आंच पर पकाएं कि पानी  जल जाये  और सिर्फ़ तेल बचे उसके बाद भी लगभग १० मिनट और पकाएं फ़िर ठण्डा होने पर सूती कपडॆ की चार तह बना कर उस में से निचोड कर छान लें छने हुए तेल को एक बार फ़िर दो तह के सूती कपडॆ से छानकर रख  लें सप्ताह में कम से कम दो बार इस तेल से रात को हाथों  की अंगुलियों से बालों  की जडॊ में अच्छी तरह से लगायें जिस से तेल त्वचा के अन्दर समा जाए सारी रात तेल लगा रह ने दें सुबह साफ़  पानी  से बालों को धो लें बाजार के शैम्पू का प्रयोग न करें
शैम्पू-  आंवला(सूखा), रीटा, शिकाकाई, सम भाग मिला कर रख लें एक बार के प्रयोग के लिये २० ग्राम मिश्रण को एक गिलास में लेकर रात को भिगो कर रख दें  सुबह इसे  उबालें  एक उबाल दे कर रख लें  ठण्डा होने पर छान कर इससे सिर साफ़ करें.

अचूक नुस्खॆ

कमजोरी दूर करने का अचूक नुस्खा

सितोपलादि चूर्ण १०० ग्राम आमलकी रसायन ५० ग्राम शतावरी चूर्ण ५० ग्राम तथा मुलहटीचूर्ण५० ग्राम इन सबको  मिला कर इस में २५० ग्राम शह्द मिला कर चटनी जैसा बना लें इस की १-१ चम्मच मात्रा दूध के साथ दिन में ३ बार दें कम से कम  दो माह तक सेवन करें कमजोरी दूर करने का अचूक चमत्कारी नुस्खा है

पीलिया

सरसों के तेल की खली १०० ग्राम  का चूर्ण बना लें इस चूर्ण की १ चम्मच  मात्रा१०० ग्राम   दही में   मिलाकर सुबह ८ – ९ बजे लें स्वाद अनुसार नमक या चीनी भी डाल सकते है एक सप्ताह लगातार लेने से पीलिया मल मार्ग से बाहर निकल जायेगा घीतेल में तली चीजो से १० दिनो तक परहेज करें एक सप्ताह में पीलिया जड से समाप्त  हो जायेगा

असमय  हुए सफ़ेद बालों को रोकने  का  नुस्खा

काला तिल कुटा हुआ आंवला चूर्ण ,त्रिफ़ला चूर्ण  मुलहटीचूर्ण  भ्रंगराज चूर्ण पांचों १००-१०० ग्राम तथा  लौह भस्म ५० ग्राम  सबको अचछी  तरह मिला कर  ईसमें ५०० ग्राम मिश्री मिला कर   एक एयर टाईट  डिब्बे में बन्द कर के रक्खें इस की १-१ चम्मच मात्रा सुबह शांम पानी से लें  मधु मेह के रोगी बगैर  मिश्री मिलाये इस चूर्ण  की आधी -आधी चम्मच मात्रा मात्रा सुबह शांम पानी से लें

यह  चूर्ण  ५ से ६ माह तक धैर्य पूर्वक लें दो माह में इस का असर  दिखने लगेगा  यह चूर्ण बालों को  पोसण प्रदान  करने के अ लावा पेट  व त्व्चा के लिये भी लाभ दायक है

सिर में लगाने के लिये तैल

लौह भस्म ,ब्राहमी, लाल चन्दन , सभी १०-१० ग्राम आंवला चूर्ण ,भ्रंगराज चूर्ण , काफ़ी चूर्ण ,सभी २५-२५ ग्राम मेंहदी के पत्ते -२० ग्राम , जैतून का तैल- ५० ग्राम , अरण्डी का तैल -५० ग्राम ,नारियल का तैल -५०० ग्राम,तैलो को छॊड कर सभी चूर्ण का पेस्ट बना लें रात में पेस्ट बना  कररख दें. सुबह लोहे की कडाही में तीनों तेल डाल कर यह पेस्ट डाल दें  इस में -२५० ग्राम पानी डाल दें.अब धीमी आंच पर पकाएं कि पानी  जल जाये  और सिर्फ़ तेल बचे उसके बाद भी लगभग १० मिनट और पकाएं फ़िर ठण्डा होने पर सूती कपडॆ की चार तह बना कर उस में से निचोड कर छान लें छने हुए तेल को एक बार फ़िर दो तह के सूती कपडॆ से छानकर रख  लें सप्ताह में कम से कम दो बार इस तेल से रात को हाथों  की अंगुलियों से बालों  की जडॊ में अच्छी तरह से लगायें जिस से तेल त्वचा के अन्दर समा जाए सारी रात तेल लगा रह ने दें सुबह साफ़  पानी  से बालों को धो लें बाजार के शैम्पू का प्रयोग न करें

शैम्पू-  आंवला(सूखा), रीटा, शिकाकाई, सम भाग मिला कर रख लें एक बार के प्रयोग के लिये २० ग्राम मिश्रण को एक गिलास में लेकर रात को भिगो कर रख दें  सुबह इसे  उबालें  एक उबाल दे कर रख लें  ठण्डा होने पर छान कर इससे सिर साफ़ करें.

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग