blogid : 11804 postid : 809313

होम्यो पैथी अप नाये रोग दूर भगाये भाग -१

Posted On: 27 Nov, 2014 Others में

kishanchopal.blogspot.comJust another weblog

kuldeepbnt

17 Posts

3 Comments

होम्यो पैथी अप नाये रोग दूर भगाये भाग -१

१-हर नीत सिह आयु ५ साल दूध पीने के बाद उल्टी हो जाती कभी उल्टी कर देता इस की दवाई है पल्सटिला ३० दूध पीने के बाद उल्टी आने पर पल्सटिला से आरम मिलता है

२-जसली न कौर आयु १० बरस का पद्गाई मे बिलकुल मन नही लगता प्यार डाट डपट का उस पर कोई असर न ही होता कोनियम १ ऎम ने जादु सा असर किया अगले दिन बह खुद अपने आप पडने लगी।

३-राजेश २८ साल दमे की शिकायत लेटने से आराम सोराइनम १ ऎम देने से रोग ठीक होगया ।

४-सनम आयु६ साल बहुत जिद्दी गुस्से वाला प्यार डाट डपट का उस पर कोई असर न ही होता ट्युवर कुलिन १० लाख {यूसी} देने से रोग ठीक होगया ।

५- सरला गुप्ता आयु ४० बरस चलते चलते अचानक गिर पडी दो चार मिनट बाद अपने आप सही होजाती । कोनिकयम १ ऎम की एक खुराक देने से हमेसा के लिये आराम होगया।

६-राजेश आयु १५ साल खाना खाता तो उस का सारा जिस्म ऐसे हो जाता जैसे कि वह सास ही न ले रहा हो सुस्त होजाता कोई काम करने की हिम्मत नही पडती
क्लीमेटस इरेक्टा-३० देने से रोग ठीक होगया ।

७-गुप्ताजी गर्मीयो की छुट्टिय़ॊ मे परिवार के साथ नैनी ताल गये वहा उनके बच्चे को दस्त लग गये डॊक्टर से इलाज कराने पर भी आराम नही मिला डुल्का मारा २०० की तीन खुराक देने से बच्चे को पूरा आराम आगया ।

८-सुनील कुमार आयु ७ बरस का नाभि से पीव निकल रहा था दर्द भी हो रहा था डुल्का मारा २०० की तीन खुराक देने से बच्चे को पूरा आराम आगया याद रहे डुल्का मारा नाभि से पीव निकलने दर्द होने की बिशेस दवा है ।

९-श्री मती सरोज २८ साल सारी रात सोना सकी दो दो मिनट पर पेशाब की हाजत दूसरी शिकायत खाना खाने की इच्छा पर खाना खाते ही दस्त लग जाते फिर भूख लग जाती लायकोपोडियम २०० की तीन खुराके लेने से रोग ठीक होगया ।

१०-नेहा आयु १४ बरस के गले मे थोडी सूजन अग्रेजी दवा के उपयोग से अल्सर दब जाता दो चार दिन बाद दोबारा उभर जाता जाच से पता चला कि उस के खून मे केन्स र का असर था । कारसीनोसिन -३० की तीन खुराके एक सप्ताह देने से दो बारा अल्सर नही हुआ पूरा आराम आ गया ।

११- राम बेटी आयु २४ बरस रुक रुक कर पेशाब आता बहुत जलन कैन्थ्रिस ३० देने से कोई आराम नही आया मिनट मिनट पर पेशाब की तीव्र इच्छा पर पेशाब आता दो या तीन बूद ऐपिस ३० देने से आराम आया बाकी की तकलीफ़ बेलाडोना ३० देने से सही होगयी दो दिन बाद जब पेशाब का बहाव सही आगया तो कैन्थ्रिस ३० की दो खुराक देने से पूरा आराम आ गया ।

१२- सुरेन्द्र सिह दुकान पर कोई भारी चीज उठने से दाये बाजू के साथ कन्धे मे दर्द पगडी बाधने मे भी मुस्किल सेगुनेरिया३० देने से उनका रोग ठीक होगया याद रहे दाये बाजू के साथ कन्धे मे दर्द बाजू ठीक तरह से ऊपर न उठ सके तब सेगुनेरिया-३० दे और जब बाजू पीछे की तरफ़ न मुडे त ब फ़ेरम मेट्ल्कम दे।

१३-अनिल के गले मे सुबह से बहुत दर्द था थूक निगलना मुश्किल लेकिन टोस चीज निगलने से नही लेचिस ३० की की तीन खुराके लेने से रोग ठीक होगया ।

१४-राखी के गले मे बहुत दर्द खाने पीने से लाचार बेलाडोना;मर्कसोल से कोई आराम नही लेचिस ३० की की तीन खुराके लेने से रोग ठीक होगया ।

१५-सावित्री तिवारी के पेट मे गैस के कारण तेज दर्द पेट सख्त चायना देने से थोडा आराम लेकिन गैस पास होने के साथ अपने आप लेस या मल बाहर निक ल जाता ओलियिण्डर ३० की तीन खुराके लेने से रोग ठीक होगया गैस पास होने के साथ अपने आप लेस या मल बाहर निकल जाये तो ओलियिण्डर ३०बिशेस दवा है।

१६-अन्शुल ५ बरस रोते हुये रात को अचानक जाग गया उसे बिस्तर से गिरने का डर लग रहा था बोरक्स-२०० की तीन खुराके लेने से रोग ठीक होगया ।

१७- तेजस्वनी ६ बरस दहिने कान मे तेज दर्द छूना भी बर्दास्त नही कैमोमिला -३० की एक खुराक देने के १० मिनट ही आराम आ गया।

१८- आरुशी ६ बरस कान मे तेज दर्द प्यार दिलासे के कारण थोडा चुप हो जाता लेकिन तेज दर्द के कारण फ़िर बेहाल हो जाती पल्सटिला-३० की तीन खुराके १५-१५ मिनट के अन्तर से लेने से कान का दर्द सही हो गया

१९-वन्दना को अक्सर सर्दी जुकाम की शिकायत रह्ती उसको टोन्सिल भी थे। जुकाम के कारण रात को उस का नाक बन्द हो जाता और उसे मुह खोल कर सास लेन पडता व ह किसी
तरह से बलगम बाहर नही निकाल पा रही थी। नाक व मुह द्वारा भी नही अमोनिम कार्ब ३० देने से आराम आ गया ।

२०-नेहा को रेशा जुकाम तो था ही लेकिन कल से सूखी खासी ने परेशान कर रखा था विस्तर पर जाने से ही खासी शुरु हो जाती बैटने को म जबूर कर देती स्टिक्टा -३० की दो खुराक देने के ३० मिनट ही आराम आ गया।

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग