blogid : 4937 postid : 585672

अयोध्या

Posted On: 24 Aug, 2013 Others में

Laharमै और मेरी तन्हाई .....

Pankaj Kumar

28 Posts

340 Comments

अयोध्या, एक ऐसा नाम जिसके माथे पर कलंक उसके चाहने वालों ने ही लगाया। राम के नाम पर मस्जिद तो तोड़ दी लेकिन मंदिर आजतक नहीं बना, हां मंदिर के नाम पर पिछले 23 सालों से सियासत जरुर कर रहे है। ऐसा नही है कि सियासत के ठेकेदार सिर्फ मंदिर के नाम पर ही सियासत कर रहे है मस्जिद और मुस्लिमों पर भी सियासत करने वाले कम नही हैं। उनके भी अपने रहनुमा है जो उनमे सांप्रदायिकता का खौफ पैदा करके अपने लिए जगह बनाते है। पिछले 50 सालों में अयोध्या में 84 कोसी परिक्रमा नहीं हुई। विश्व हिंदू परिषद ने एक नई परंपरा की शुरुआत करने का निर्णय लिया। हो सकता है इसके राजनीतिक निहितार्थ हो, लेकिन 200 संतो को रोकने के लिए प्रदेश सरकार ने
रैपिड एक्शन फोर्स की 4 कंपनीयां,
पीएसी की 14 कंपनीयां,
1 फ्लड पीएसी कंपनी,
4500 होमगार्ड,
400 सब इंस्पेक्टर,
1400 सिपाही,
150 इंस्पेक्टर

तैनात किया है जिन्होने अबतक 25 गिरफ्तारियां की है। पुलिस बलों की ये भारी भरकम संख्या प्रदेश को संप्रदायिकता के आग से कितना बचाएगी यह तो वक्त ही बताएगा लेकिन ये संख्या बल अल्पसंख्यकों में खौफ जरुर पैदा करेगी और उनके डर पर सियासत जारी रहेगी।

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (3 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading...

  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग