blogid : 12850 postid : 29

गोदी में थी इसलिए अब तू भी मेरी पत्नी है

Posted On: 18 Feb, 2013 Others में

अभी है उम्मीदजिंदगी न मिलेगी दुबारा

Lavanya Vilochan

21 Posts

42 Comments

ppppजिस तरह आज कल महिलाओं के साथ जुल्मों की घटना बढ़ती जा रही हैं. उसे देख कर तो ऐसा लगता है कि अगर इस पर जल्द ही कोई कठोर कदम नहीं उठाए गए तो आने वाले समय में हम महिलाओं के बारे में सिर्फ किताबों में पढ़ेगे. समाज की जो हालत हैं उस को देख कर तो ये नहीं लगता हैं कि समाज कभी भी नारीयों की मदद करेगा या फिर उनके तकलिफ को समझेगा . अब महिलाओं को खुद अपने बारे में सोचना होगा उन्हें खुद अपने हिम्मत को बढ़ना होगा .. क्योंकि अगर वो ऐसा नहीं करेगी तो उनका खुद का अस्तित्व खतरे में पड़ जाएगा या यह कहे की पड़ गया हैं.



ऐसा नहीं है कि महिलाएं अपनी रक्षा खुद नहीं करती हैं. या फिर समाज के खिलाफ आवाज नहीं उठाती हैं. वो करती है पर उनकी संख्या इतनी कम होती हैं या फिर ये कहे की उनकी आवाज इतनी धीमी होती हैं कि कोई सुन नहीं पाता हैं.ऐसी ही एक सच्ची घटना आज हम आपको बताने जा रहे है .


भरतपुर में एक नाबालिक लड़की रहती है वह शहर के एक राजकीय विद्यालय की सैकंडरी कक्षा की छात्रा है. एक दिन इस छात्रा ने सुबह में समाचार पत्र में एक पिता द्वारा नाबालिग से दुष्कर्म संबंधित खबर पढ़ी.इसे पढ़ने के बाद उसे अपने पिता के खिलाफ शिकायत करने की हिम्मत आई. फिर उसने ये बात अपनी टीचर को बताई क्यूकीं वो जानती थी कि एक वह ही है जो उसकी मदद कर सकती है और वही हुआ उसकी टीचर ने उसकी मदद की उसे लेकर पुलिस के पास गई और उसके पिता के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई. उस लड़की ने जो पुलिस को बताया . उसे सुनकर वहां मौजूद जितने भी लोग थे. वह पानी पानी हो गए. कि किसी बाप की सोच इतनी गन्दी भी हो सकती है.


लड़की ने कहा की उसका सौतेला पिता यह कहकर पिछले पांच साल से दुष्कर्म कर रहा था कि उसकी मां के साथ उसने भी गोद में फेरे लिए हैं और वह भी इस प्रकार से उसकी पत्नी ही है. उसके पिता का कहना है कि जब मेरी शादी हुई थी तो तू तेरी मां की गोद में थी और तेरे साथ भी मेरे फेरे हुए है.इसलिए मैं तेरे साथ  कुछ भी कर सकता हूं .


लेकिन जब उससे दर्द नही सहा गया तब उसने सोचा की अगर मैं इसी तरह डर कर इनकी बात मानती रही तो ये हर रात मेरे साथ यही करेगें इस लिए उसने हिम्मत कर के उनके खिलाफ आज उठाई. जिसका नतिजा ये हुआ कि आज वो दरिंदा जो उसका सौतेला ही सही पर बाप है पुलिस के हिरासत में है


पुलिस प्रशासन ने इसे गंभीरता से लेते हुए बयान लिया और महिला थाना में मामला दर्ज कर आरोपी सौतेले पिता को पूछताछ के लिए हिरासत में ले लिया. पुलिस ने पीडि़ता को फिलहाल बाल कल्याण समिति को सौंपा है. ताकी वो सुरक्षित रह सके .


आज हमारे समाज में रिश्तों की जो दुर्दशा हो रही है. वो काफी शर्मनाक है.लेकिन सवाल ये उठता है कि हर बार रिश्तों की  दुर्दशा से शर्मसार हो कर औरत ही क्यूं चुप रहे . क्यूं वह कभी बाप के हाथों तो कभी भाई के हाथों बेआबरू होती है . लेकिन जिस तरह से भरतपुर की उस लड़की ने वक्त रहते आवाज उठाई उसी प्रकार हर औरत को अपने पर हो रहे अत्याचार के खिलाफ वक्त रहते आवाज उठाना चाहिए.तभी ये पुरूषवादी समाज औरत पर अत्याचार करने से पहले सौ बार सोचेगा .

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (2 votes, average: 4.50 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग