blogid : 12850 postid : 31

जनाजा रोककर वो .......

Posted On: 2 Mar, 2013 Others में

अभी है उम्मीदजिंदगी न मिलेगी दुबारा

Lavanya Vilochan

21 Posts

42 Comments

shayariजनाजा रोककर वो मेरे से इस अन्दाज़ मे बोले,

गली छोडने को कही थी हमने

तुमने दुनियां छोड दी………….

***************************************************


तुझे चाहा भी तो इजहार न कर सके,

कट गई उम्र किसी से प्यार न कर सके,

तुने माँगा भी तो अपनी जुदाई मांगी,

और हम थे की इंकार न कर सके!


***************************************************

वो इंकार करते हैं इकरार के लिए,

नफरत भी करते हैं तो प्यार के लिए,

उलटी चाल चलते हैं ये इश्क वाले,

आँखे बंद करते हैं दीदार के लिए.


***************************************************



तेरे होने पर खुद को तनहा समझू !

मैं बेवफा हूँ या तुझको बेवफा समझू !!

ज़ख्म भी देते हो मलहम भी लगाते हो !

ये तेरी आदत हैं या इसे तेरी अदा समझू !!


Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (2 votes, average: 4.00 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग