blogid : 12850 postid : 3

प्यार जिन्दगी है: एक प्यारी सी प्रेम कविता

Posted On: 6 Oct, 2012 Others में

अभी है उम्मीदजिंदगी न मिलेगी दुबारा

Lavanya Vilochan

21 Posts

42 Comments

वो पुछती है ,

मैं उससे इतना प्यार  क्यों करता हूँ ? ?


LOVE POEM IN HINDIमैंने कहा एक तमन्ना हैं

तुम्हें पाने की. . . . .

वो कहती है ,

हर वक्त उदास क्यों रहते हो ? ?


मैनें कहा कोशिश है

तुम्हें हर खुशी दिलाने की. . . . .

वो कहती है ,

हर वक्त सोचते क्यों रहते हो ? ?


मैनें कहा आदत हो गई है

तुम्हें ख्यालों में अपना बनाने की . . . . .

वो कहती है ,

मैं न मिली तो ? ?


मैनें कहा तो तम्मना है

ये जिन्दगी मिटाने की. . . . .

वो कहती है ,

तुम्हें क्या मिलेगा मर कर ? ?


मैनें कहा एक उम्मीद ,

अगले जन्म में तुम्हें अपना बनाने की . . . . .


Tag: Love, Poem, Love Poem, Love Kavita, Love Poem in Hindi, Love Kavita in Hindi, प्रेम, प्यार, प्यार की कविता, हिन्दी कविता, Poem in Hindi

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (3 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग