blogid : 313 postid : 76

प्यार में बढ़ाओ कदम : डेटिंग की अहमियत

Posted On: 12 Jun, 2010 Others में

जिएं तो जिएं ऐसेरफ्तार के साथ तालमेल बिठाती जिंदगी में चाहिए ऐसे जीना जो बनाए आपको सबकी आंखों का नूर

Lifestyle Blog

894 Posts

831 Comments


प्यार एक ऐसा अहसास है जिसे हर कोई अपनी जिंदगी में महसूस करना चाहता है फिर चाहे वह स्त्री हो या पुरुष. प्यार जिंदगी को खुशनुमा बना सकता है, प्यार जिंदगी में जीने का अलग अंदाज पैदा करता है. प्यार किसी के लिए प्रेरणा का काम करता है तो किसी के लिए यह सांस से भी जरुरी बन जाता है. प्राचीन काल से ही प्यार के बारे में कवि लिखते आए हैं. इसकी सुंदरता और महत्व को शब्दों में बयां नहीं कर सकते. प्यार ही है जिसने राधा-कृष्ण को अलग-अलग होते हुए भी इतिहास में आज तक साथ रखा, प्रेम ही है जिसकी वजह से हीर-रांझा, रोमियो-जुलियट,लैला-मजनू आज तक हमारी यादों में बसे हैं.

लेकिन प्यार का एक सच और है. यह एक रोग भी है जो इंसान को कभी-कभी खत्म भी कर देता है. प्यार में दर्द हदें पार कर देता है. साथी की चाहत ऐसी होती है जिसकी वजह से संसार से भी लड़ जाने का मन करे. किसी ने सही कहा है

“ये इश्क नहीं आसां बस इतना समझ लीजिए.

एक आग का दरिया है और डूब के जाना है,”

यानी कि अगर आपने प्यार में जरा भी चूक की तो हश्र की सोचना भी आपके बस में नही. तो क्या करें इस खट्टे-मिठ्ठे फल को खाएं ही नहीं या सब बातें दरकिनार कर हम भी कूद पड़ें इश्क की दरिया में.

जीने का लो मजा

प्यार की कश्ती में सवार होना समझदारी होगी. अगर मालूम चल ही गया कि यह आग का दरिया है तो क्यों न सुरक्षा के इंतजाम पहले ही कर लें. साथी ढूंढ़ने में जल्दबाजी न करें, सोच समझ कर साथी चुनें, साथी को पूरा समय दें.

b5बचना पहली नजर के प्यार से

क्या आप भी पहली नजर के प्यार में यकीन रखते हैं? अगर हां, तो कोई बड़ी बात नहीं. अक्सर प्यार की शुरुआत पहली नजर से ही होती है. सर्वेक्षणों से पता चला है कि पहली नजर में हमारे मस्तिष्क पर जो प्रभाव पड़ता है उसी के आधार पर हम किसी से प्रेम की बात आगे बढ़ा सकते हैं.

दरअसल पहली नजर का प्यार, किसी अजनबी से मिलने के मौके और उससे किसी ‘लगाव’ को महसूस करने से जुड़ा है. यह किसी व्यक्ति की विशेषता हो सकती है कि व्यक्ति खुद को किस तरह से प्रस्तुत करता है और अच्छी बातचीत के ज़रिए आपको पहली नजर में आकर्षित कर लेता है.  यह आपके मन में प्यार की कलियां बो सकता है. वैसे किसी को पहली नजर में ही आकर्षित करना बेहतर होता है जिसके लिए आप खुद को थोडा बेहतर ढंग से प्रस्तुत करें.

लेकिन ठीक इसी परिस्थिति में आपको पहली नजर में होने वाले धोखे से बचना भी जरुरी है, कहीं यह न हो आप किसी के धोखे में आ जाएं.

200408800-001डेटिंग क्यों है जरुरी

डेटिंग इसलिए भी जरूरी है क्योंकि इससे आपको साथी के बारे में जानने में मदद मिलती है. आप जिसके साथ अपने जीवन के इस हसीन अहसास को बांटना चाहते हैं वह कैसा है, उसकी आदतें क्या हैं, वह भी आपके प्रति संजीदा है या नहीं? और भी ऐसे कई सवालों का जवाब एक डेंटिग में होता है. ज्यादा डेट्स व्यक्ति के संयम की परीक्षा ले सकती हैं और तब आपके सामने आता है आपके साथी का असली रूप जिसे देखकर आपको यह तय करने में मदद मिलती है कि इसके साथ लम्बे समय का सम्बन्ध बनाया जाए या नहीं? लोग अपनी पहली डेट में सबसे अच्छा व्यवहार करते हैं और बाद की डेट्स यह जानने के लिए महत्वपूर्ण होती हैं कि व्यक्ति की असलियत कैसी है? बिना जाने-परखे तो हम अपने कपड़े भी नहीं खरीदते फिर किसी ऐसे को कसौटी पर क्यों न परखें जिसके साथ हम जिंदगी के ख्वाब देखना चाहते हैं. बिना सोचें-समझे किसी के साथ अपने रिश्ते बनाना आपके दिल को बाद में ऐसा तोड़ेगा कि उसका प्रभाव आपकी निजी जिंदगी पर साफ दिखाई देगा .अत: डेटिंग मजबूत सम्बन्ध बनाने में मदद करती है.

a279a46aa5c9ff109cbafb3bv0[1]कौन साबित हो सकता है आपका साथी

आप ज्यादातर उसे चुनना पसंद करते है जो लोकप्रिय हो या आकर्षक व्यक्तित्व का हो तो यह कोई समझदारी नहीं होगी. आपके लिए परफेक्ट कोई ऐसा भी हो सकता है जो काफी लंबे समय से आपका दोस्त हो और आपको समझता हो, या ऐसा भी जिसे आप अपना दुश्मन मानते हों. हो सकता है आपको पहली नजर में ही प्यार हो, लेकिन जो भी हो चुनाव करते समय निम्न बातों का ध्यान जरुर रखें :

बेहतर होगा कि किसी परिचित को ही अपना साथी चुनें: क्योंकि ऐसा करने में आपको ही फायदा होगा. एक तो आप उसको जानती होंगी और वह भी आपको समझता होगा, दूसरा, ऐसे में धोखे की संभावना भी कम रहती है. इन लोगों में आपका कोई दोस्त,ऑफिस का सह-कर्मी,आस-पास रहने वाला कोई भी हो सकता है.

अपने सोच के लोगों के साथ ज्यादा मिलें-जुलें: इससे हो सकता है आपको वह परफेक्ट मिल ही जाए जिसकी आपको तलाश है. लेकिन यह जरुरी नही कि समान विचार वाले से ही आपके रिश्ते आगे बढ़ सकते हैं, क्योंकि कहते हैं कि चुंबक के विपरीत पोल ही एक-दूसरे के प्रति आकर्षित होते हैं.

सम्मान का सवाल सबसे बड़ा होता है: आपको यह ख्याल रखना चाहिए कि आपका साथी आपका सम्मान करता हो और हां, आप भी उसको उचित सम्मान दें.

कहीं  तन्हा न होना पड़े
कहीं तन्हा न होना पड़े
जोड़ ऐसा जो चले सालों-साल: हमेशा रिश्ते लंबे समय के लिए बनाएं और बेहतर होगा अगर वह जीवन भर के लिए हो. बार-बार रिश्ते बनाने से अच्छा है एक ही बार फैसला करें और ऐसा चुनें जो आपका साथ दे हर मुसीबत, हर कठिनाई में.

तो यह तो हुईं बातें डेटिंग के आरंभिक स्तर की. किसी भी काम को एक क्रम के अनुसार करना चाहिए यानी सीढ़ी दर सीढ़ी चढ़ने से सफलता के चांस बढ जाते हैं.

इस अंक में इतना ही लेकिन इसके अगले अंक में हम आपको  बताएंगे कि आखिर किस तरह आप अपनी डेट को शानदार बना सकते हैं? तो अगले अंक को पढ़ना ना भूलें क्योंकि आधा ज्ञान हमेशा मन में भ्रम बनाए रखता है. इस अंक को पढ़कर पहले आप उस खास को चुनें फिर आगे क्या करना है हम अगले अंक में बताते हैं.

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (4 votes, average: 3.00 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग