blogid : 313 postid : 3004

How to keep yourself fit in young age

Posted On: 5 Jul, 2012 Others में

जिएं तो जिएं ऐसेरफ्तार के साथ तालमेल बिठाती जिंदगी में चाहिए ऐसे जीना जो बनाए आपको सबकी आंखों का नूर

Lifestyle Blog

894 Posts

831 Comments

23 वर्षीय राहुल एक कॉरपोरेट कंपनी में कार्यरत है. कॉलेज समाप्त होते ही उसे अच्छी सैलेरी के साथ एक अच्छी कंपनी में जॉब मिल गई. उसकी पारिवारिक और प्रोफेशनल परिस्थितियां पूरी तरह अनुकूल हैं लेकिन इतना सब होने के बावजूद वह बहुत परेशान रहता है. उसकी इस परेशानी का कारण उसका गलत खानपान है. अति व्यस्त वर्किंग लाइफ के कारण वह घर का बना खाना खा ही नहीं पाता. नाश्ता भले ही वह घर में करता है लेकिन दोपहर और रात का खाना उसका बाहर ही होता है. यही वजह है कि उसे आए दिन डॉक्टर के पास जाना पड़ रहा है क्योंकि उसके पेट में रोजाना दर्द रहता है. वह ना अपने काम पर ध्यान दे पा रहा है और ना ही अपने स्वास्थ्य पर.


change your diet if you want to stay fit for long time


यह समस्या अकेले राहुल की नहीं है बल्कि उन सभी युवाओं की है जो आज अपने काम में इतना अधिक उलझ चुके हैं कि अपने खानपान पर ध्यान ही नहीं दे पाते. फास्ट फूड और जंक फूड खाने वाले युवा आज फल और सब्जियों के महत्व को दरकिनार कर चुके हैं. भूख लगने पर पिज्जा और बर्गर खाने की आदत पेट तो भर देती है लेकिन इससे शरीर में वे पोषक तत्व नहीं जा पाते जो स्वास्थ्य के लिए बेहद जरूरी हैं. युवावस्था में आप जिस तरह का खाना खाते हैं उसका प्रभाव प्रौढ़ या वृद्धावस्था में अधिक पड़ता है. अगर आप ताउम्र खुद को स्वस्थ और तंदुरुस्त रखना चाहते हैं तो निम्नलिखित सुझावों पर जरूर अमल करें:


1. स्वास्थ्य विशेषज्ञों के अनुसार युवावस्था में कार्बोहाइड्रेट्स की मात्रा 40%,  प्रोटीन की 25, वसा की 20 और विटामिस व मिनरल्स की 15% होनी चाहिए. आप इस मात्रा को ध्यान में रखकर ही आहार ग्रहण करें.


2. युवा जल्दी और फूर्ति के साथ अपने काम को पूरा करने की कोशिश करते हैं इसीलिए युवावस्था में सबसे ज्यादा ऊर्जा की जरूरत पड़ती है. शरीर में ऊर्जा की पूर्ति करने के लिए युवाओं को तेल, घी और मक्खन आदि को वरीयता देनी चाहिए. लेकिन वे युवा जिनका शारीरिक कार्य कम होता है उन्हें इन सब तैलीय चीजों से बचना चाहिए क्योंकि यह शरीर में मोटापे को भी बढ़ाते हैं.


3. युवा कभी फल और ताजी सब्जियों की गुणवत्ता या उनके उपयोग की ओर ध्यान नहीं देते जबकि सेहत के लिए यह सब बेहद जरूरी हैं. मौसमी फलों में प्रचुर विटामिन, मिनरल पाए जाते हैं जो शरीर को अंदर से चुस्त और फिट रखने में सहायक होते हैं. इतना ही नहीं यह शरीर को विभिन्न रोगों से भी बचाते हैं.


4. युवक अपने शरीर को दृढ बनाए रखने के लिए प्रोटीन के उपभोग को विशेष महत्व दें. इसीलिए युवकों को दूध, पनीर आदि जैसे खाद्य पदार्थों को वरीयता देनी चाहिए.


5. कार्बोहाइड्रेट युक्त आहार को भी प्रमुखता के साथ अपने आहार में शामिल करें.


6. शारीरिक स्वास्थ्य बरकरार रखने के लिए अंकुरित आहारों को प्राथमिकता दें. इनमें पर्याप्त मात्रा में मिनरल और विटामिन पाए जाते हैं.

importance of adding fruits and vegetables in your diet, benefits of having balanced diet, sources of vitamins and minerals in our body.


Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (2 votes, average: 4.00 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग