blogid : 313 postid : 2700

विवाह के लिए भी लेना होगा लाइसेंस !!

Posted On: 6 Mar, 2012 Others में

जिएं तो जिएं ऐसेरफ्तार के साथ तालमेल बिठाती जिंदगी में चाहिए ऐसे जीना जो बनाए आपको सबकी आंखों का नूर

Lifestyle Blog

894 Posts

831 Comments

license to marryप्राय: सभी को अपने जीवन में एक ऐसे व्यक्ति के आने का इंतजार रहता है जो हर कदम पर उनका साथ निभाए, उन्हें समझे और मार्गदर्शन करने के साथ-साथ एक दोस्त की भांति उन्हें समर्थन भी दे. यही वजह है कि कॅरियर और आत्मनिर्भर बनने के साथ-साथ युवाओं के लिए विवाह रूपी संबंध में बंधना भी बहुत महत्वपूर्ण होता है. प्राय: देखा जाता है कि एक उपयुक्त आयु में पहुंचने के बाद माता-पिता और परिवार के अन्य सदस्य बच्चों पर विवाह करने का दबाव डालने लगते हैं. कुछ बच्चे इसके लिए तैयार हो जाते हैं वहीं कुछ कॅरियर की दुहाई देते हुए उनकी बात को टालने का प्रयत्न करते हैं.


उल्लेखनीय है कि बच्चे के विवाह के प्रति माता-पिता की उत्सुकता इतनी अधिक बढ़ जाती है कि बिना यह विचारे कि उनका बच्चा अपने परिवार का पोषण करने व उनकी जरूरतों को पूरा करने के योग्य है भी या नहीं, वह केवल उसके लिए एक अच्छे जीवनसाथी की तलाश में जुट जाते हैं. बच्चे की कमियां छिपाकर किसी तरह वह उसके लिए साथी तलाशने में सफल भी हो जाते हैं लेकिन इसके बाद के परिणामों के विषय में सोचना उनके लिए शायद जरूरी नहीं होता.


वहीं कुछ प्रेम विवाह के चक्कर में पड़कर बिना सोचे-समझे विवाह कर लेते हैं, लेकिन जब वैवाहिक जीवन से जुड़ी परेशानियां और जिम्मेदरियां उनके सामने आती हैं तो वह खुद को असहाय ही पाते हैं.


मानव स्वभाव और उसकी भावनाओं को तो बदलना बहुत मुश्किल है लेकिन सऊदी अरब सरकार ने इस दिनोंदिन बढ़ती समस्या का हल ढूंढ़ निकाला है. पारिवारिक विवादों की बढ़ती संख्या को कम करने के लिए यहां एक प्रस्ताव रखा गया है जिसका अध्ययन अभी किया जा रहा है. इस प्रस्ताव के अंतर्गत सभी जोड़ों के लिए शादी करने से पूर्व पारिवारिक प्रबंधन लाइसेंस हासिल करना अनिवार्य होगा.


अरबी दैनिक अल वतन में प्रकाशित इस रिपोर्ट में कहा गया है कि प्रस्ताव का प्रमुख उद्देश्य विवाह बंधन में बंधने जा रहे लोगों को प्रशिक्षण और सुझाव देना है ताकि वे अपने पारिवारिक विवादों को खुद ही सुलझा सकें.


दुबई में इस समय लंबित सभी मामलों में लगभग 60 प्रतिशत मामले पारिवारिक विवादों से संबंधित हैं. इस समय विवाह के लिए जोड़ों को शादी से पूर्व केवल मेडिकल जांच से गुजरना होता है. लेकिन यदि यह प्रस्ताव पारित हो जाता है, तो सरकारी रजिस्ट्रार भी उन जोड़ों को विवाहित दर्जा नहीं दे पाएंगे जिनके पास लाइसेंस नहीं है.


सऊदी अरब एक मुस्लिम देश है, जिन्हें बेहद परंपरागत और प्रतिक्रियावादी समझा जाता है. उसके द्वारा उठाया जाने वाला यह कदम परिवर्तन को प्रदर्शित करता प्रतीत हो रहा है. यह निश्चित ही एक सराहनीय कदम है. विवाह से पहले आपको यह प्रमाणित करना होगा कि आप वास्तव में विवाह करने योग्य हैं, आपके भीतर संबंध का निर्वाह करने की समझ है, जिसके परिणामस्वरूप ऐसे विवाहित संबंधों में कमी आएगी जो समय के साथ-साथ बोझ बन जाते हैं.


Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (2 votes, average: 4.50 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग