blogid : 14564 postid : 748911

बेहद ताकतवर होकर उभरे हैं प्रहलाद पटेल

Posted On: 2 Jun, 2014 Others में

समाचार एजेंसी ऑफ इंडियाJust another weblog

limtykhare

611 Posts

21 Comments

पुराने कार्यक्षेत्रों में पटेल बढ़ा रहे अपना वर्चस्व

(मोदस्सिर कादरी)

नई दिल्ली (साई)। पूर्व केंद्रीय मंत्री प्रहलाद सिंह पटेल एक बार फिर बेहद ताकतवर होकर उभर रहे हैं। मध्य प्रदेश सहित अनेक क्षेत्रों के दर्जन से ज्यादा सांसद प्रहलाद पटेल के संपर्क में हैं। दमोह के सांसद प्रहलाद पटेल अब जबलपुर,सिवनी, मण्डला, बालाघाट और छिंदवाड़ा जिलों में अपना वर्चस्व बनाने की कवायद में दिख रहे हैं।

सिवनी और बालाघाट के सांसद रहे प्रहलाद सिंह पटेल ने पार्टी के आदेश पर छिंदवाड़ा से चुनाव लड़ा था पर वहां से वे सफल नहीं हो पाए थे। इस बार पार्टी ने उन्हें दमोह संसदीय क्षेत्र में जाकर चुनाव लड़ने के लिए आदेशित किया और प्रहलाद पटेल ने वहां परचम लहरा कर साबित कर दिया है कि वे मजबूत जनाधार वाले ऐसे नेता हैं जिन्हें चुनाव जीतने की कला बहुत ही अच्छी तरह से आती है।

प्रहलाद सिंह पटेल इन दिनों महाकौशल अंचल के प्रवास पर हैं। महाकौशल अंचल में वे सिवनी और बालाघाट पर अपना ध्यान केंद्रित किए हुए हैं। बालाघाट और सिवनी में प्रहलाद सिंह पटेल द्वारा अपने पूर्व और नए समर्थकों के बीच जाकर पुराने संबंधों को हरा किया जा रहा है। प्रहलाद सिंह पटेल के खेमे में बालाघाट के सांसद बोध सिंह भगत भी जुड़ गए बताए जाते हैं।

वहीं, बालाघाट से प्रदेश शासन में मंत्री गौरी शंकर बिसेन और प्रहलाद सिंह पटेल के बीच अनबन किसी से छिपी नहीं है। दोनों के बीच कटुता इस कदर बताई जाती है कि दोनों जब-तब आमने सामने की स्थिति में ही दिखाई देते हैं। प्रहलाद सिंह पटेल की महाकौशल में बढ़ी सक्रियता को नरेंद्र मोदी के अगले मंत्री मण्डल सिस्तार से जोड़कर भी देखा जा रहा है। माना जा रहा है कि अनेक सांसद जो प्रहलाद सिंह पटेल के गुट में हैं के दबाव के चलते अगले विस्तार में उन्हें मंत्री मण्डल में शामिल कर लिया जाएगा।

कट गए थे नेता

जब प्रहलाद सिंह पटेल ने पूर्व मुख्यमंत्री सुश्री उमा भारती के साथ भारतीय जनशक्ति पार्टी का गठन किया था, उस वक्त भाजपा के अनेक नेता अनुशासनात्मक कार्यवाही के डर से उनसे अलग हो गए थे। अनेक नेताओं ने पार्श्व में रहकर श्री पटेल से संपर्क बनाए रखा था, तो कुछ अनुयायी भाजश के सदस्य भी बन गए थे।

उठाया था डंपर घोटाला

प्रहलाद सिंह पटेल साफगोई पसंद नेता माने जाते हैं। जब वे भाजश के झंडे तले गए तो उन्होंने ही मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का डंपर मामला उठाया था,जिसे बाद में कांग्रेस द्वारा खूब उछाला गया। वर्ष 2008 के विधानसभा चुनावों में कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी महासचिव नारायण सामी ने तो शिवराज सिंह चौहान को डंपर सिंह चौहान तक का संबोधन दे डाला था।

जुड़ रहे हैं प्रहलाद खेमे से कार्यकर्ता

प्रहलाद सिंह पटेल के बढ़ते वर्चस्व को देखकर अब महाकौशल में उपेक्षित पड़े नेताओं का रूझान प्रहलाद सिंह पटेल खेमे की ओर बढ़ता दिख रहा है। अनेक सांसद-विधायक भी अब पाला बदलकर प्रहलाद सिंह पटेल के खेमे में जाते दिख रहे हैं। प्रदेश में नए समीकरणों के कारण, आने वाले दिनों में प्रदेश की राजनीति भी करवट ले ले तो किसी को आश्चर्य नहीं होना चाहिए।

शोभा की सुपारी बने रहे सांसद बोध सिंह

सिवनी के पूर्व और दमोह के वर्तमान सांसद प्रहलाद सिंह पटेल ने सिवनी जिले की फोरलेन और ब्रॉडगेज के प्रति अपनी प्रतिबद्धता जाहिर की है। आज पत्रकारों से रूबरू हुए श्री पटेल ने उक्ताशय की बात कही। वहंीं, बालाघाट के सांसद पूरी पत्रकार वार्ता में मौन धारण किए ही बैठे रहे।

दमोह के भाजपा सांसद प्रहलाद पटेल ने अनुच्छेद 370 हटाने की वकालत की है। पत्रकारों से बात करते हुए श्री पटेल ने कहा कि सुब्रमण्यम स्वामी के लेख और उनके अनुसार एक अध्यादेश लाकर यह अनुच्छेद हटाया जा सकता है। पहले यह कहा जा रहा था कि इसे हटाने के लिए संसद के दोनों सदनों की बैठक बुलाकर अध्यादेश पास कराना पड़ेगा।

सांसद श्री पटेल ने कहा कि इस धारा के चलते मजदूरों के हितों के कई महत्वपूर्ण बिल कश्मीर में लागू नहीं हो पाए हैं। यदि ऐसा संभव हो तो सरकार को अध्यादेश लाना चाहिए। कश्मीर को विशेष दर्जा दिए जाने वाली धारा 370 को लेकर भाजपा के सांसदों की प्रतिक्रिया सामने आ रही हैं।

वहीं, सांसद प्रहलाद पटेल ने अपने सौ दिन के एजेंडे में फोरलेन को शामिल करने की बात कही। उन्होंने यह भी कहा कि जिले की अन्य समस्याओं पर भी वे मंडला और बालाघाट सांसदों के साथ जिले का प्रतिनिधित्व करेंगे। प्रेस कान्फ्रेंस में उनके साथ बालाघाट सांसद बोधसिंह भगत पूरे समय मौन ही बैठे रहे।

समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया द्वारा जब फोरलेन और ब्रॉडगेज के संबंध में बालाघाट के सांसद बोध सिंह भगत से प्रश्न करना चाहा तो प्रहलाद सिंह पटेल ने मुस्कुराते हुए कहा कि अब बालाघाट के सांसद बोध सिंह भगत उनके साथ मिलकर क्षेत्र के विकास को नया आयाम देंगे। उन्होंने कहा कि वे आसानी से किसी की जिम्मेवारी नहीं लेते हैं पर बोध सिंह भगत की उन्होंने जिम्मेदारी लेने की बात कही।

मीडिया में चल रही चर्चाओं के अनुसार सिवनी के पूर्व सांसद प्रहलाद सिंह पटेल द्वारा ही बालाघाट के सांसद बोध सिंह भगत को चार्ज किया जा रहा है। चर्चाओं में यह भी कहा जा रहा है कि बोध सिंह भगत ने लोकसभा चुनाव जीतने के बाद मीडिया से मिलने का समय अब तक नहीं निकाला है, वहीं दमोह के सांसद प्रहलाद सिंह पटेल की पत्रकार वार्ता में वे अवश्य ही उपस्थित हुए, पर इस पत्रकार वार्ता में भी उन्होंने सिवनी जिले के प्रति अपनी प्रतिबद्धताओं को जाहिर करना मुनासिब नहीं समझा।

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग